बलिया पत्रकार मर्डर केस VIDEO: पीड़ित पिता ने आंसुओं के साथ बताई पूरी कहानी, बोले- SHO मौके पर गए फिर...
Ballia News in Hindi

बलिया पत्रकार मर्डर केस VIDEO: पीड़ित पिता ने आंसुओं के साथ बताई पूरी कहानी, बोले- SHO मौके पर गए फिर...
बलिया में पत्रकार रतन सिंह की हत्या के बाद पिता विनोद सिंह ने एसएचओ पर गंभीर आरोप लगाए हैं

बलिया (Ballia) में पत्रकार रतन सिंह हत्याकांड (Journalist Ratan SIngh Murder Case) में पिता विनोद सिंह ने थाना प्रभारी शशि मौली पांडेय पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उनका कहना है कि रतन ने फोन कर थाना प्रभारी को बुलाया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2020, 11:49 AM IST
  • Share this:
बलिया. उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के फेफना थाना क्षेत्र में सोमवार शाम एक न्यूज चैनल के पत्रकार रतन सिंह की हत्या (Ratan Singh Murder Case) के मामले में पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को 10 लाख की आर्थिक सहायता का ऐलान किया है. वहीं, मामले में बलिया एसपी ने फेफना एसएचओ शशि मौली पांडेय (SHO Shashi Mauli Pandey) को निलम्बित कर दिया है.

दरअसल, फेफना के एसएचओ पर रतन सिंह के पिता विनोद सिंह ने गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने घटना की पूरी कहानी बयां करते हुए कहा कि उनका बेटा रतन सिंह बचाया जा सकता था. अगर थाना प्रभारी शशि मौली पांडेय ने कोई कार्रवाई की होती तो.

पत्रकार रतन को ले गया था प्रधान का भाई
पीड़ित पिता ने बताया कि घटना शाम के करीब 7 बजे की है. उन्‍होंने बताया कि शाम 6 बजे के आसपास प्रधान का भाई सोनू आया था. उस वक्‍त उनका बेटा रतन सिंह मोटरसाइकिल से कहीं जा रहा था. दोनों में कुछ बात हुई. इस दौरान रतन के मोबाइल पर फोन कर उन्‍हें एक और आदमी ने बुलाया. इसके बाद ये लोग रतन को लेकर चले गए.




रतन ने थाना इंचार्ज को फोन कर बुलाय, SHO आए भी मगर...
रतन सिंह के पिता ने बताया कि प्रधान के हाते में पहले से 10 आदमी थे. उन्होंने पहले लाठी-डंडे से रतन को मारना शुरू किया. इस दौरान रतन सिंह ने थाना इंचार्ज फेफना शशि मौली को फोन किया. थाना इंचार्ज वहां पहुंचे और देखकर वापस थाने चले गए. पीड़ि‍त पिता का कहना है कि अगर शशि मौली वापस नहीं लौटते तो उनके बेटे की जान बच जाती. उन्होंने आरोप लगाया कि शशि मौली की ही सारी साजिश है. उन्‍होंने बताया कि हमलावरों में कुछ दलके पट्टीदार हैं और ग्राम प्रधान व उसका भाई है. उन्होंने कहा कि हमारे दो लड़के थे, दोनों गुजर गए. अब हमारी जिंदगी कितने दिन की है?

मुख्य आरोपी सहित 6 गिरफ्तार
अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने जानकारी देते हुए बताया कि इस मामले में मुख्य आरोपी अरविंद सिंह, दिनेश सिंह और सुनील सिंह समेत 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस का कहना है कि हत्या जमीन विवाद में की गई. बता दें कि सोमवार रात रतन सिंह को अपराधियों ने उनके घर के पास गोली मार दी थी. अस्पताल में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. पुलिस अधीक्षक (एसपी) देवेंद्र नाथ ने बताया कि झगड़े के दौरान पट्टीदारों ने पत्रकार रतन सिंह को गोली मारी.

इनपुट: मनीष मिश्र
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज