बलिया: दुर्जनपुर हत्याकांड के दिन का नया Video वायरल, देखिए क्या हुआ घटना के फौरन बाद

बलिया के दुर्जनपुर हत्याकांड के दौरान धीरेंद्र सिंह को पीटती पुलिस (वीडियो ग्रैब)
बलिया के दुर्जनपुर हत्याकांड के दौरान धीरेंद्र सिंह को पीटती पुलिस (वीडियो ग्रैब)

बलिया (Ballia): 15 अक्टूबर को रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव का ये मामला है. खुली बैठक में जय प्रकाश नामक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. मुख्य आरोपी धीरेन्द्र सिंह घटना के बाद फरार हो गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 12:27 PM IST
  • Share this:
बलिया. उत्तर प्रदेश में बलिया (Ballia) के दुर्जनपुर हत्याकांड (Durjanpur Murder Case) के दिन का नया वीडियो वायरल (Viral Video) हो रहा है. बता दें सरकारी कोटे की दुकान के आवंटन को लेकर बुलाई की खुली बैठक में गोली चली थी, जिसमें एक शख्स की मौत हो गई थी. ये वीडियो घटना के फौरन बाद का बताया जा रहा है. वीडियो में हत्या के मुख्य आरोपी धीरेन्द्र सिंह को पुलिस वाले घेरकर पीटते नजर आ रहे हैं. इसके बाद पुलिस वाले आरोपी को पकड़ कर ले जाते नजर आ रहे हैं.

पुलिस गिरफ्त से फरार हो गया था धीरेंद्र सिंह

बता दें 15 अक्टूबर को रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव का ये मामला है. खुली बैठक में जय प्रकाश नामक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. मुख्य आरोपी धीरेन्द्र सिंह घटना के बाद फरार हो गया था. मामले पुलिस के उच्चाधिकारियों ने भी माना था कि पुलिस की लापरवाही के चलते धीरेंद्र सिंह फरार होने में कामयाब रहा था. इस संबंध में मौके पर मौजूद सभी पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी थी और उन्हें निलंबित कर दिया गया था.




एसटीएफ ने लखनऊ से किया गिरफ्तार

घटना के कुछ दिन बाद एसटीएफ ने फरार धीरेंद्र सिंह को लखनऊ से गिरफ्तार किया था. फिलहाल केस में नामजद 8 आरोपियों में से 7 अब तक गिरफ्तार हो चुके हैं. बाकी की तलाश पुलिस कर रही है.

बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह पर खड़े हुए थे सवाल

इस घटना को लेकर सियासत भी खूब हुई थी. मामले में धीरेंद्र सिंह का समर्थन करने बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह उतर आए थे. सुरेंद्र सिंह के इस रुख से बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा नाराज हुए थे, जिसके बाद बीजेपी संगठन की तरफ से प्रदेश अध्यक्ष ने सुरेंद्र सिंह को नोटिस जारी किया था. हालांकि सुरेंद्र सिंह के खिलाफ कोई कार्रवाई अब तक नहीं हुई है. वहीं कांग्रेस और सपा ने इस मामले सरकार पर जमकर हमला किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज