Home /News /uttar-pradesh /

योगी आदित्यनाथ के मंत्री ने दिया गिरिराज सिंह जैसा बयान, UP चुनाव से पहले फिर आया ‘पाकिस्तान’

योगी आदित्यनाथ के मंत्री ने दिया गिरिराज सिंह जैसा बयान, UP चुनाव से पहले फिर आया ‘पाकिस्तान’

आनंद स्वरूप शुक्ला ने कहा कि, 'भारत में जिन्ना जिंदाबाद करने वालों, जिन्ना का विचार रखने वालों के लिए कोई स्थान नहीं है, उन्हें स्वयं पाकिस्तान चले जाना चाहिए'.

आनंद स्वरूप शुक्ला ने कहा कि, 'भारत में जिन्ना जिंदाबाद करने वालों, जिन्ना का विचार रखने वालों के लिए कोई स्थान नहीं है, उन्हें स्वयं पाकिस्तान चले जाना चाहिए'.

UP Assembly Election 2022: योगी सरकार के मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला (Anand Swaroop Shukla) ने कहा कि, 'मैं चाहूंगा कि अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) स्वयं आगे आकर अपना नार्को टेस्ट कराएं.' इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'जिन्ना का गुणगान करने वाले पाकिस्तान (Pakistan) चले जाएं. भारत में जिन्ना जिंदाबाद करने वालों, जिन्ना का विचार रखने वालों और जिन्ना के प्रति मन में भाव रखने वाले लोगों के लिए कोई स्थान नहीं है, उन्हें स्वयं पाकिस्तान चले जाना चाहिए.' सपा प्रमुख ने रविवार को हरदोई में एक भाषण में कहा था कि सरदार वल्लभ भाई पटेल, महात्मा गांधी, नेहरू और जिन्ना को लेकर बड़ा बयान दिया था.'

अधिक पढ़ें ...

    Yबलिया. उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला (Anand Swaroop Shukla) ने पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना (Mohammad Ali Jinnah) पर टिप्पणी करने के लिए समाजवादी पार्टी (SP) प्रमुख अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए शनिवार को कहा कि यादव को अपना नार्को टेस्ट करवाना चाहिए. शुक्ला ने जिला मुख्यालय पर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) का जिन्ना को लेकर दिया गया बयान एक सामान्य घटना नहीं है, अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं, वहीं जिन्ना देश के विभाजन के दोषी हैं. उन्होंने कहा, ‘जिन्ना एक ऐसे खलनायक हैं, जिन्हें कोई भारतीय देखना और सुनना पसंद नहीं करता है. अखिलेश यादव किस भाव से प्रेरित होकर, किस दबाव और किस लालच में जिन्ना की जयकार व गुणगान कर रहे हैं, उन्हें स्पष्टीकरण देना चाहिए.’

    मंत्री आनंद ने कहा कि ‘मैं चाहूंगा कि अखिलेश यादव स्वयं आगे आकर अपना नार्को टेस्ट कराएं.’ इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘जिन्ना का गुणगान करने वाले पाकिस्तान (Pakistan) चले जाएं. भारत में जिन्ना जिंदाबाद करने वालों, जिन्ना का विचार रखने वालों और जिन्ना के प्रति मन में भाव रखने वाले लोगों के लिए कोई स्थान नहीं है, उन्हें स्वयं पाकिस्तान चले जाना चाहिए.’ गौरतलब हैं कि सपा प्रमुख ने रविवार को हरदोई में एक भाषण में कहा था कि सरदार वल्लभ भाई पटेल, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और (मोहम्मद अली) जिन्ना ने उसी संस्थान से पढ़ाई की, और बैरिस्टर बने और भारत की आजादी के लिए किसी भी संघर्ष से पीछे नहीं हटे.’

    शुक्ला ने राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ का नाम लिए बिना कहा था कि ‘अगर कोई विचारधारा (आरएसएस की) है जिस पर प्रतिबंध लगाया गया था तो वह लौह पुरुष सरदार पटेल थे जिन्होंने प्रतिबंध लगाने का काम किया था.’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा- ‘आज, जो लोग देश को एकजुट करने की बात कर रहे हैं, वे आपको और मुझे जाति और धर्म के आधार पर विभाजित कर रहे हैं.’

    शुक्ला ने कुछ दिन पहले भी सपा नेता की जिन्ना पर टिप्पणी के संबंध में पूछे जाने पर कहा था कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस्लामी जगत के लिए चुनौती बने हुए हैं जबकि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को इस्लामिक जगत से पूरा सहयोग मिल रहा है. उन्होंने यह भी दावा किया था कि यादव को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से संरक्षण और सुझाव मिल रहे हैं. यादव पर दिये गए बयानों को लेकर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने राज्य मंत्री शुक्ला की बर्खास्तगी करने और उनके विरुद्ध मामला दर्ज करने की मांग की है.

    सपा कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को जिला मुख्यालय में कलेक्ट्रेट परिसर पर प्रदर्शन किया. उन्होंने राज्य मंत्री के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा. वहीं सपा के जिला अध्यक्ष राज मंगल यादव ने चेतावनी दी है कि प्रशासन यदि शुक्ला के खिलाफ मामला दर्ज नहीं करता है तो सपा कार्यकर्ता राज्य मंत्री का जबरदस्त विरोध करेंगे और उन्हें बलिया जिले में प्रवेश नहीं करने देंगे .

    Tags: Akhilesh yadav, BJP, Jinnah, Samajwadi party, UP Assembly Election 2022

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर