• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • BANDA A JAIL INMATE ABSCONDING FROM HIGH SECURITY BANDA JAIL WHERE MAFIA MUKHTAR ANSARI IS LODGED UPAT

जिस हाई सिक्योरिटी बांदा जेल में बंद है माफिया मुख्‍तार अंसार वहां से भागा कैदी, सुरक्षा पर सवाल

बांदा जेल से फरार हुआ कैदी, मुख़्तार अंसारी की सुरक्षा पर उठे सवाल

Banda Jail: रविवार शाम 6 बजे के करीब बांदा जेल के अंदर इमरजेंसी अलार्म बजने से हड़कंप मच गया. सूत्रों की मानें तो जेल के अंदर गोली चलने के बाद या बड़ी परेशानी होने पर अलार्म बजता है.

  • Share this:
बांदा. उत्तर प्रदेश के बांदा मंडलीय कारागार (Banda Jail) के हाई सिक्योरिटी के बावजूद रविवार शाम को एक कैदी फरार (Jail Inmate Absocnding) हो गया. जिसके बाद जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर गंभीर सवाल खड़े हुए हैं. बता दें कि बांदा जेल में ही माफिया डॉन मुख़्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) भी बंद है. कैदी के फरार होने के बाद मुख्तार अंसारी की सुरक्षा भी संदेह के घेरे में है. गौरतलब है कि मुख्तार के पंजाब की रोपड़ जेल से शिफ्ट होने के बाद बांदा जेल की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता की गई थी. डेढ़ प्लाटून पीएसी और पुलिस के जवानों की तैनाती के साथ चारों तफर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं. बावजूद इसके कैदी का फरार होना मुख़्तार की सुरक्षा को लेकर भी सवाल खड़े कर रहा है.

जानकारी के अनुसार रविवार शाम 6 बजे के करीब बांदा जेल के अंदर इमरजेंसी अलार्म बजने से हड़कंप मच गया. जेल के बाहर तैनात पुलिस कर्मी अलार्म बजने के बाद सकते में आ गए. सूत्रों की माने तो जेल के अंदर गोली चलने के बाद या बड़ी परेशानी होने पर अलार्म बजता है. फिर बाद में पता चला कि लूट और डकैती का आरोपी जेल से फरार हुआ है. सूचना के बाद मौके पर सीओ और सिटी मजिस्ट्रेट भी पहुंचे. एक घंटे की तलाशी के बाद भी फरार बंदी का कोई सुराग नहीं लगा.

सीओ सिटी राकेश सिंह ने कही ये बात
सीओ सिटी राकेश सिंह ने बताया कि जेल में एक कैदी है विजयआरख 16 फ़रवरी को जेल में दाखिल हुआ था. कैदियों की गणना के समय वह गायब मिला। पूछताछ में पता चला कि उसने बैरक नंबर 4 बी में खाना खाया और फिर पानी पीने के लिए गया. उसके बाद से वह गायब है. उन्होंने बताया कि अधिकारियों के मुताबिक वह जेल में ही कहीं छिपा हो सकता है. फ़िलहाल तीन घंटे से ज्यादा का वक्त हो चुका है, लेकिन उसका पता नहीं चला है. जेल प्रशासन की तरफ से जो भी जाएगी, उस आधार पर विधिक करवाए की जाएगी.
Published by:Amit Tiwari
First published: