Home /News /uttar-pradesh /

अमन त्रिपाठी हत्याकांड: बांदा की क्राइम का हमीरपुर पुलिस ने किया खुलासा, 8 नाबालिग थे वारदात में शामिल

अमन त्रिपाठी हत्याकांड: बांदा की क्राइम का हमीरपुर पुलिस ने किया खुलासा, 8 नाबालिग थे वारदात में शामिल

अमन त्रिपाठी हत्याकांड: हमीरपुर पुलिस ने खुलासा कर 8 नाबालिग लड़कों को गिरफ्तार किया.

अमन त्रिपाठी हत्याकांड: हमीरपुर पुलिस ने खुलासा कर 8 नाबालिग लड़कों को गिरफ्तार किया.

Banda 14 year old aman murder case disclosed: अमन त्रिपाठी हत्याकांड का हमीरपुर पुलिस ने बांदा में खुलासा किया है. बीते डेढ़ महीने पहले अमन त्रिपाठी की अपहरण के बाद हत्या की गई थी. बांदा पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए अमन के माता-पिता ने आरोप लगाया था कि पुलिस अपराधियों को बचा रही है. अमन के पिता अनशन पर बैठ गए. इस पर आईजी ने एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश देकर जांच हमीरपुर पुलिस को सौंप दी. अब मामले का खुलासा कर दिया गया, जिसके बाद हत्यारोपी 8 नाबालिग लड़कों को पकड़ लिया गया.

अधिक पढ़ें ...

बांदा. 14 वर्षीय अमन त्रिपाठी हत्याकांड (Aman tripathi murder case) का हमीरपुर पुलिस ने बांदा में खुलासा किया है. बीते डेढ़ महीने पहले अमन त्रिपाठी की अपहरण के बाद हत्या की गई थी. बांदा पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्नचिह्न लगाते हुए अमन के माता-पिता ने आरोप लगाया था कि बांदा पुलिस भ्रष्टाचार के चलते अपराधियों को बचाने का काम कर रही है. इस हत्याकांड के खिलाफ शहर में जमकर प्रदर्शन शुरू हो गया. अमन के पिता अनशन पर बैठ गए. इस पर आईजी ने FIR दर्ज कराने के निर्देश देकर जांच हमीरपुर पुलिस को सौंप दी. इसके बाद अब मामले का खुलासा कर दिया गया, जिसके बाद हत्यारोपी 8 नाबालिग लड़कों को पकड़ लिया गया.

बांदा पुलिस पर सवाल खड़े करते हुए गुरुवार को हमीरपुर पुलिस ने एक चर्चित अमन त्रिपाठी हत्याकांड का खुलासा किया है. हमीरपुर डिप्टी एसपी विवेक यादव ने बांदा पहुंचकर नामजद आठ आरोपियों को पुलिस टीम लगाकर हिरासत में ले लिया है. पूछताछ में जो बात निकल कर सामने आई है उससे स्पष्ट हो गया है कि अमन त्रिपाठी का अपहरण किया गया था और उसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी. सभी आरोपी नाबालिग बताए जा रहे हैं.

है क्या पूरा मामला

14 वर्षीय अमन त्रिपाठी बीते 11 अक्टूबर को अपने घर से अपने दोस्तों के यहां जन्मदिन पार्टी पर गया था, लेकिन जन्मदिन पार्टी के बाद अमन त्रिपाठी घर नहीं पहुंचा. जिसके बाद परिजन परेशान हुए. अमन के पिता ने अपहरण के बाद कोई अनहोनी की आशंका जताते हुए पुलिस को पूरे मामले की सूचना दी थी, लेकिन 3 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस पूरे मामले में कुछ भी नहीं कर पाई. चौथे दिन अमन त्रिपाठी का शव बांदा के शहर कोतवाली स्थित केन नदी के कवनारा में तैरता हुआ मिला. स्थानीय लोगों ने पूरी घटना की सूचना पुलिस को दी. मौके पर पहुंची फारेंसिक और पुलिस टीम ने इसकी जांच शुरू कर दी.

अमन के माता पिता ने हत्या की आशंका जताते हुए उसके कुछ साथियों के नाम पुलिस को दिए और मुकदमा दर्ज करने की गुहार लगाई, लेकिन पुलिस ने शुरुआती जांच के आधार पर हत्या का मामला दर्ज नहीं दर्ज किया. पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन हुआ इसके बाद भी एफआईआर दर्ज नहीं हुई. चित्रकूट धाम मंडल के आईजी के सत्यनारायण ने मामला बिगड़ता देख FIR दर्ज करने के निर्देश बांदा शहर कोतवाली को दिए. शहर कोतवाली पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया, लेकिन पूरे मामले में हीला हवाली करते रहे.

आईजी ने शहर में प्रदर्शन को देखते हुए पूरे मामले की विवेचना हमीरपुर पुलिस को सौंपी. हमीरपुर पुलिस ने बांदा आकर पूरे मामले की तफ्तीश शुरू कर दी. अमन के माता पिता इसी सप्ताह अमन की अस्थि लेकर के शहर के अशोक लाट चौराहे पर बैठ गए और मांग की कि मामले का जल्द से जल्द खुलासा हो. तमाम राजनीतिक पार्टियां इस प्रदर्शन में शामिल हो गईं. इसके बाद पुलिस ने कुछ सबूतों के आधार पर 8 नाबालिग युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की. इसके बाद यह सिद्ध हो गया कि अमन की हत्या की गई थी.

हमीरपुर से बांदा पहुंचे डिप्टी एसपी ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए मामले का खुलासा किया है. इसमें मुख्य आरोपी नाबालिग सम्राट सहित सभी आठों बाल नाबालिग लड़कों को न्यायालय की अभिरक्षा में भेजा है. सवाल उठता है कि जिस पुलिस को आम जनता को न्याय दिलाना चाहिए वही पुलिस इतने दिनों तक क्यों नही साक्ष्य इक्कठे कर पाई.

Tags: Banda 14 year old aman murder case disclosed, Banda News, Banda police, Hamirpur police, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर