लाइव टीवी

बांदा: अन्ना जानवरों से परेशान किसानों ने कलेक्ट्रेट में किया प्रदर्शन, कमिश्नर से की मुलाकात...

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 16, 2020, 5:36 PM IST
बांदा: अन्ना जानवरों से परेशान किसानों ने कलेक्ट्रेट में किया प्रदर्शन, कमिश्नर से की मुलाकात...
बांदा कलेक्ट्रेट में किसानों का प्रदर्शन

आक्रोशित सैकड़ों किसानों ने बांदा कलेक्ट्रेट परिसर (Banda Collectorate) में जमकर हंगामा किया फिर भी किसानों को कोई रास्ता जब नजर नहीं आया तो सैकड़ों की तादाद में किसान कमिश्नर बांदा गौरव दयाल (Commissioner Banda Gaurav Dayal) के पास पहुंचे और अपनी परेशानी बताई.

  • Share this:
बांदा. बुंदेलखंड (Bundelkhand) में लगातार कई वर्षों से कुदरत की मार झेल रहे किसानों (farmers) की स्थिति बद से बदतर होती चली जा रही है कभी सूखा (drought) कभी ओलावृष्टि (hail) तो कभी बेमौसम बरसात लेकिन इन दिनों बुंदेलखंड के किसानों को सबसे बड़ी चुनौती अन्ना जानवरों मिल रही है. किसानों का आरोप है कि वो जैसे-तैसे फसल बोते हैं लेकिन अन्ना जानवर उनकी पूरी फसल चौपट कर देते हैं. सरकार ने गोशालाओं (Goshala) का प्रबंध किया है लेकिन बांदा जनपद में हजारों की तादाद में छुट्टा जानवर सड़कों व खेतों में भटकते रहते हैं.

किसानों ने किया प्रदर्शन
बांदा जनपद में भी जिला प्रशासन की तरफ से तमाम गौशाला बनाई गई हैं और शासन के सख्त निर्देश हैं कि अन्ना जानवरों को गौशाला में रखकर चारा भूसा खिलाएं और किसी भी तरह से अन्ना जानवर किसानों की फसलों का नुकसान ना करें. लेकिन किसानों का आरोप है कि जिला प्रशासन की लापरवाही के चलते हजारों की तादाद में जनपद में अन्ना जानवर घूम रहे हैं और किसान की तमाम फसलों को चौपट कर रहे हैं. कई बार ग्रामीण किसानों ने जिला प्रशासन को ज्ञापन के माध्यम से अवगत करा कर समस्या से निजात पाने की गुहार लगाई है लेकिन लापरवाह प्रशासन कई बार किसानों की शिकायत के बाद भी लापरवाह बना हुआ है.

गुरुवार को आक्रोशित सैकड़ों किसानों ने बांदा कलेक्ट्रेट परिसर में जमकर हंगामा किया फिर भी किसानों को कोई रास्ता जब नजर नहीं आया तो सैकड़ों की तादाद में किसान कमिश्नर बांदा गौरव दयाल के पास पहुंचे और अपनी परेशानी बताई. किसानों का कहना है कि अन्ना जानवरों की वजह से खेतों में खड़ी फसल चौपट हो जाती है. दिन-रात किसान अपने खेतों की रखवाली करते हैं क्योंकि यदि किसान अपने खेतों की रखवाली नहीं करेंगे तो ये अन्ना जानवर इन किसानों की सारी फसल को चट कर जाते हैं. इसी समस्या को लेकर आज सैकड़ो किसान जिला अधिकारी कार्यालय अपनी समस्या को लेकर आए हैं और ज्ञापन भी सौंपा है.

किसानों की चेतावनी!
पूरा मामला बांदा जनपद के तिंदवारा गांव का है जहां आज सैकड़ो ग्रामीणों ने जिला अधिकारी को ज्ञापन सौंपा है. उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि गांव में घूम रहे अन्ना जानवरों की वजह से हमारी सारी फसलें चौपट हो रही हैं जिससे हम लोगों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है यदि जल्द ही इन जानवरों की समस्या का समाधान नहीं किया गया तो हम सभी ग्रामवासी इन अन्ना जानवरों को गांव के ही स्कूलों के अंदर बंद कर देंगे फिर इसके बाद इसका जिम्मेदार जिला प्रशासन होगा.

किसानों से बात करने के बाद मीडिया से मुखातिब कमिश्नर गौरव दयाल ने बताया कि कुछ किसान तिंदवारा गांव से आए हुए थे जिनके यहां अन्ना जानवरों की समस्या बनी हुई है साथ ही अन्य जानवर किसानों की फसलों को बर्बाद कर रहे हैं. किसानों ने बताया कि आज से लगभग 15 दिन पहले बांदा डीएम हीरालाल को तीनों ने ज्ञापन दिया था लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई. उन्होंने कहा कि 'मैंने किसानों को आश्वस्त किया है कि जल्द ही गांव में गौशाला बनाकर सभी अन्ना जानवरों को उसी गौशाला में रखा जाएगा. जिससे किसानों को किसी भी तरह के खेती-बाड़ी करने में कोई परेशानी नहीं होगी जल्द ही यह अस्थाई गौशाला बनकर तैयार हो जाएगी.ये भी पढ़ें- क्राइम पेट्रोल देख छोटी बच्चियों ने रची अपहरण की झूठी कहानी, अयोध्या पुलिस के भी छूटे पसीने!


बांदा: करंट की चपेट में आने से 21 गायों की दर्दनाक मौत...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बांदा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 5:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर