बांदा: जायदाद के लिए बड़े भाई ने बहन को उतारा मौत के घाट, गिरफ्तार

मामला बांदा शहर से सटे किलेदार का पुर्वा गांव की है. शुक्रवार को हत्यारों ने घर में अकेली युवती मीना की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी थी. मृतिका के माता-पीटा का पूर्व में ही देहांत हो चुका है. मां-बाप ने मरने से पहले अपनी सारी जायजाद लड़की मीना के नाम कर दी थी, मीना के दो भाई और हैं. जिन्हें

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 2, 2018, 3:27 PM IST
बांदा: जायदाद के लिए बड़े भाई ने बहन को उतारा मौत के घाट, गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 2, 2018, 3:27 PM IST
बांदा शहर में हुई 30 वर्षीय युवती मीना की हत्या के मामले में पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही वारदात का खुलासा करते हुए आरोपी को अपराध में युक्त कुल्हाड़ी के साथ गिरफ्तार कर लिया. हत्यारा कोई और नहीं बल्कि मृतिका का सागा बड़ा भाई था. पुलिस के मुताबिक जायजाद में हिस्से के लिए अपने साथी के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था.

मामला बांदा शहर से सटे किलेदार का पुर्वा गांव की है. शुक्रवार को हत्यारों ने घर में अकेली युवती मीना की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी थी. मृतिका के माता-पीटा का पूर्व में ही देहांत हो चुका है. मां-बाप ने मरने से पहले अपनी सारी जायजाद लड़की मीना  के नाम कर दी थी, मीना के दो भाई और हैं. जिन्हें वसीयत में कुछ भी नहीं मिला था.

मीना के घर में दीवार में प्लास्टर  का काम चल रहा था. शुक्रवार सुबह 10 बजे जब मजबूर काम करने घर पहुंचे थे तो दरवाजा न खुलने पर पड़ोसियों की मदद ली. जिसके बाद भी दरवाजा नहीं खुला. फिर पड़ोसियों ने स्थानीय पुलिस को इसकी सूचना दी. मौके पर पहुंचकर पुलिस ने जब दरवाजा तोड़ा तो युवती मीना की लाश खून से लथपथ मिली थी. मीना की हत्या कुल्हाड़ी से काटकर की गई थी. घटना की सूचना पर बांदा एसपी शालिनी भी घटना स्थल पहुंची थी. फोरेंसिक टीम ने भी मौके पर जाकर फिंगर प्रिंट लिए थे.

जांच के बाद जायदाद में दोनों भाइयों को हिस्सा ना मिलने पर युवती की हत्या करने का शक पुलिस को हुआ. शक के आधार पर तफ्तीश शुरू कर दी गई. जिसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की और 24 घंटे के अंदर ही इस घटना का खुलासा करते हुए हत्यारे भाई कल्लू उर्फ़ ललित व उसके साथी कमलेश को हत्या में प्रयोग की गई कुल्हाड़ी के साथ गिरफ्तार कर लिया.

दरअसल, मीना की मां के द्वारा  सारी जायदाद अपनी बेटी ने नाम कर देना ही हत्या की वजह बना. हत्यारा भाई कल्लू इस बात से गुस्से में था कि जायदाद में उसे हिस्सा नहीं मिला. वह अक्सर अपनी बहन मीना की हत्या की योजना बना रहा था. मीना ने मां के जीवित रहते ही जमीन, पेंशन व सम्पूर्ण पैसा अपने नाम करा लिया था.

मां की मौत के बाद कल्लू ने पर्टी में हिस्सा मांगा था. लेकिन 6 महीने पहले मीना ने उसे घर से भगा दिया था. कल्लू ने बताया कि बहन से हिस्सा न मिलने पर वह बहन से नाराज था. इसी के चलते उसने 30 मई की रात 1 बजे अपने दोस्त कमलेश के साथ बहन के  घर गया. छत से कूदकर अंदर घुसा और कुल्हाड़ी से वार कर बहन की हत्या कर दी. कुल्हाड़ी मौके पर ही छोड़कर वह छत से कूदकर भाग खड़ा हुआ.

(रिपोर्ट: उमाशंकर मिश्रा)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर