Home /News /uttar-pradesh /

बांदा: 15 अगस्त पर राष्ट्रगान के अपमान का वीडियो वायरल, महिला समाजसेवी ने उठाई आवाज तो...

बांदा: 15 अगस्त पर राष्ट्रगान के अपमान का वीडियो वायरल, महिला समाजसेवी ने उठाई आवाज तो...

राष्टगान के अपमान को लेकर महिला समाजसेवी विरोध दर्ज कराते हुए धरने पर बैठ गई तो पुलिस द्वारा उसे गिरफ्तार कर लिया गया

राष्टगान के अपमान को लेकर महिला समाजसेवी विरोध दर्ज कराते हुए धरने पर बैठ गई तो पुलिस द्वारा उसे गिरफ्तार कर लिया गया

Uttar Pradesh News: 15 अगस्त को राष्ट्रगान के अपमान का विरोध करने पर महिला समाजसेवी शालिनी पटेल पर कार्रवाई करते हुए जेल में बंद कर दिया गया है. तीन दिन बाद अब उनकी रिहाई को लेकर समाजसेवी और पत्रकार अनशन पर बैठ गए हैं. उन्होंने राष्ट्रगान का अपमान करने वाले दोषियों पर कार्रवाई करने और शालिनी पटेल की अविलंब रिहाई की मांग की है

अधिक पढ़ें ...

बांदा. उत्तर प्रदेश के बांदा (Banda) में समाजसेवी पत्रकार महिला को राष्ट्रगान के हुए अपमान मामले में विरोध करना भारी पड़ गया. महिला इस पर ज्ञापन (Memorandum) देने के लिए तीन दिन पहले कलेक्ट्रेट पहुंची थी. वहां उसकी कुछ कहासुनी हो गई थी जिसके बाद महिला अशोक लाट अनशन स्थल पहुंच कर विरोध-प्रदर्शन करने लगी. इसकी सूचना मिलने पर वहां पहुंचे पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों ने महिला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. यह महिला पिछले तीन दिन से बांदा जेल (Banda Jail) में बंद है. महिला के साथ हुए अन्याय को देखते हुए कुछ समाजसेवी और पत्रकार एकजुट होकर शहर के अशोक लाट चौराहे में अनशन पर बैठ गए हैं. इनकी मांग है कि जब तक शालिनी पटेल को रिहा नहीं किया जाता और राष्ट्रगान (National Anthem) का अपमान करने वाले अधिकारी और नेताओं पर कार्रवाई नहीं होती तब तक उनका अनशन जारी रहेगी.

दरअसल यह पूरा मामला 15 अगस्त का है. बांदा के सरदार वल्लभ भाई पटेल ऑक्सीजन पार्क में गगनचुंबी ध्वज लगाया गया था. राष्ट्रीय ध्वज फहराते समय राष्ट्रगान बज रहा था. इस दौरान तमाम जनपद और मंडल के जिम्मेदार अधिकारियों के साथ कुछ नेता भी कार्यक्रम में मौजूद थे. राष्ट्रगान बजने के दौरान उसका सम्मान करने के बजाए अधिकारी और नेता यहां-वहां घूमते-फिरते नजर आए. इसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद बांदा सदर विधानसभा से विधायक प्रकाश द्विवेदी के कार्यालय से इस मामले में कोतवाली में मुकदमा दर्ज करवाया गया है कि वीडियो को एडिट कर के इसको सोशल मीडिया में वायरल किया गया है.

कोतवाली पुलिस पूरे मामले की तफ्तीश कर रही है. इस पूरे मामले को लेकर समाजसेवी पत्रकार शालिनी पटेल जिलाधिकारी कार्यालय (डीएम ऑफिस) पहुंची और ज्ञापन देने लगी. मगर इसको लेकर वहां नोक-झोंक हुई, उसके बाद शालिनी पटेल विरोध स्वरूप अशोक लाट चौराहे पर बने अनशन स्थल में आकर बैठ गईं. वो देश के राष्ट्रपति को ज्ञापन देना चाह रही थी. इसके बाद वहां पहुंचे शहर कोतवाल ने शालिनी को गिरफ्तार कर लिया और धारा 151, 107/16 में सिटी मजिस्ट्रेट के यहां समाजसेवी महिला को पेश किया. वहां पर जमानतदार मौजूद थे लेकिन पुलिस प्रशासन ने षड्यंत्र रचते हुए सिटी मजिस्ट्रेट को मना कर दिया कि किसी भी हाल में शालिनी पटेल की जमानत न हो पाए.

तीन दिन से बांदा जेल में बंद है महिला

इसके बाद सिटी मजिस्ट्रेट ने महिला समाजसेवी को जेल भेज दिया. वो बीते तीन दिन से बांदा जेल में बंद हैं. अब उनकी रिहाई को लेकर समाजसेवी और पत्रकार अनशन पर बैठ गए हैं. उन्होंने राष्ट्रगान का अपमान करने वाले दोषियों पर कार्रवाई करने और शालिनी पटेल की अविलंब रिहाई की मांग की है. उन्होंने कहा कि यदि ऐसा नहीं हुआ तो वो अनिश्चितकालीन समय तक धरने पर बैठे रहेंगे.

वहीं, सीओ सिटी राकेश सिंह ने बताया कि एक महिला कोरोना प्रोटोकॉल का उलंघन करते हुए सार्वजनिक स्थल पर धरना-प्रदर्शन कर रही थी. उन्हें समझाया गया लेकिन महिला नहीं मानी. जिसके बाद महिला को धारा 151 107/16 के तहत गिरफ्तार कर के न्यायालय के समक्ष पेश किया गया था. महिला फिलहाल जेल में बंद हैं.

Tags: 15 August, Banda News, Independence day, National anthem

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर