लाइव टीवी

बांदा: करंट की चपेट में आने से 21 गायों की दर्दनाक मौत...
Banda News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 3, 2020, 10:39 PM IST
बांदा: करंट की चपेट में आने से 21 गायों की दर्दनाक मौत...
बांदा की गोशाला में 21 गायों की मौत (file photo)

बांदा डीएम हीरालाल (Banda DM Hiralal) ने बताया कि जैसे ही गायों (cows) को करंट लगने की जानकारी मिली तमाम विभागों के संबंधित अधिकारियों के साथ मौके का निरीक्षण किया गया है. उन्होंने कहा कि विद्युत तार जर्जर होने व देर रात तेज बारिश के दौरान यह दुखद घटना हुई है. मामले की जांच की जा रही है...

  • Share this:
बांदा. यूपी के बांदा (Banda) जनपद में पैलानी थाना क्षेत्र के अंतर्गत खपटिहा गांव में गोशाला के अंदर 21 गायों की करंट की चपेट में आ जाने से दर्दनाक मौत हो गई. रिपोर्ट के मुताबिक बिजली का तार गिरने के चलते करंट लग जाने के बाद 21 गायों ने दम तोड़ दिया. इतने बड़े पैमाने पर गायों की मौत के बाद प्रशासन हरकत में आया और मौके पर डीएम एसपी समेत जनपद के आला अधिकारी पहुंच गए.

एक माह में 250 गो वंशों की मौत!
एक तरफ प्रदेश की योगी सरकार गोशाला व गोवंश के उचित रख-रखाव के लिए लगातार योजनाएं बना रही है और जनपदों को करोड़ो रुपए भेज रही लेकिन फिर भी लापरवाही की शिकायतें आती रहती हैं. मौके पर जुटे ग्रामीणों का आरोप है कि बांदा जनपद की खपटीहा कला गोशाला में एक महीने में लगभग 250 गायों की मौत हो चुकी है. ग्रामीणों ने यहां तक कहा कि अभी भी यहां सैकड़ो मृत गोवंश के अवशेष पड़े हैं.

पैलानी थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली कान्हा गोशाला खपटिहा में लगातार हो रही गायों की मौत मामले पर news 18 संवाददाता ने ग्रामीणों से बातचीत की तो उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि इस गौशाला में अधिकारियों की लापरवाही के चलते लगातार गोवंश की मौत हो रही है. आज बिजली का करंट लगने से 21 गायों की मौत के बाद जिला प्रशासन यहां पर पहुंचा है लेकिन इस गोशाला में भूख-प्यास से तमाम जानवर मर रहे हैं और अभी भी गौशाला में मृत गोवंश पड़े हुए हैं. ग्रामीणों के मुताबिक अधिकारी यहां आते हैं और निरीक्षण करके चले जाते हैं. इस गौशाला में लगातार भूख-प्यास और ठंड से अब तक लगभग 250 गोवंश की मौत हो चुकी है. प्रांत गौ रक्षा समिति के कार्यकर्ता भी गायों की मौत की जानकारी मिलने के बाद गोशाला पहुंचे. ग्रामीण और गो रक्षा समिति के कार्यकर्ता गायों की मौत से काफी आक्रोशित थे उन्होंने प्रशासन को व्यवस्था ठीक नहीं करने पर उग्र आंदोलन करने की चेतावनी भी दी.

आरोपों से इंकार
मौके पर पहुंचे बांदा के पशु चिकित्सा अधिकारी ने भूख-प्यास से गायों की मौत के आरोपों से साफ़ इंकार करते हुए बताया कि बांदा जनपद के लिए प्रदेश सरकार ने गोवंश के खान-पान व रख-रखाव के लिए 7 करोड़ 80 लाख रुपए भेजा है जिसे इनके रख-रखाव पर ही खर्च किया जा रहा है. भूख और प्यास से मौतें होने का कोई सवाल ही नहीं उठता. वहीं मामले की जानकारी देते हुए बांदा डीएम हीरालाल ने बताया कि जैसे ही गायों को करंट लगने की जानकारी मिली तमाम विभागों के संबंधित अधिकारियों के साथ मौके का निरीक्षण किया गया है. उन्होंने कहा कि विद्युत तार जर्जर होने व देर रात तेज बारिश के दौरान यह दुखद घटना हुई है. मामले की जांच की जा रही है इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई जाएगी.

ये भी पढ़ें- बीमार पति को ठेले पर लेकर भटकती रही पत्नी, अस्पताल स्टाफ ने भर्ती कराने के नाम पर मांगे पैसे!

अखिलेश यादव का बड़ा आरोप- CAA Protest के दौरान पुलिस की गोली से गई सभी की जान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बांदा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 3, 2020, 10:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर