CBI ने यूपी सिंचाई विभाग के JE को किया गिरफ्तार, दस साल में 50 बच्चों के साथ अश्लील वीडियो बना पॉर्न साइट्स को बेचे

कनिष्ठ अभियंता पिछले 10 साल से बच्चों का कथित रूप से यौन उत्पीड़न कर रहा था.
कनिष्ठ अभियंता पिछले 10 साल से बच्चों का कथित रूप से यौन उत्पीड़न कर रहा था.

पांच से 16 साल के बच्‍चों के अश्लील वीडियो बनाने के मामले में सीबीआई (CBI) ने उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के एक कनिष्ठ अभियंता (Junior Engineer) को गिरफ्तार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 7:52 PM IST
  • Share this:
बांदा/ नई दिल्ली. सीबीआई (CBI) ने पिछले 10 साल से बच्चों का कथित रूप से यौन उत्पीड़न करने और उनके वीडियो तथा तस्वीरों को दुनिया में अन्य ऐसे कुत्सित सोच वाले लोगों को बेचने के मामले में उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के एक कनिष्ठ अभियंता राजभवन (Junior Engineer Rajbhavan) को गिरफ्तार कर लिया है. अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि आरोपी जूनियर इंजीनियर पर चित्रकूट, बांदा और हमीरपुर जिलों में 5 से 16 साल की आयु के करीब 50 बच्चों के साथ कुकृत्य करने का आरोप है.

अदालत में होगी पेशी
सीबीआई के अधिकारियों ने बताया कि उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग के कनिष्ठ अभियंता को पिछले 10 साल से बच्चों का कथित रूप से यौन उत्पीड़न करने के मामले में बांदा से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. यही नहीं, जूनियर इंजीनियर को जल्द एक सक्षम अदालत में पेश किया जा सकता है.

आठ लाख रुपये समेत काफी सामान बरामद
सीबीआई के अधिकारियों के अनुसार सीबीआई को तलाशी के दौरान आठ मोबाइल फोन, करीब आठ लाख रुपये नकदी, सेक्स टॉय, लैपटॉप और बड़ी मात्रा में बच्चों से संबंधित अश्लील सामग्री के अन्य डिजिटल साक्ष्य मिले हैं. साथ ही बताया कि कनिष्ठ अभियंता पिछले 10 साल से इस काम को अंजाम दे रहा था. साथ ही कहा कि आरोपी जेई घिनौने कृत्यों के न सिर्फ वीडियो बनाता बल्कि फोटो भी कैद करता और फिर पॉर्न साइट्स को बेचता था.



समझा जाता है कि उसने जांचकर्ताओं को बताया कि वह बच्चों को इस बारे में मुंह बंद रखने के लिए मोबाइल फोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण देता था. इस मामले पर बांदा के एसपी सिद्धार्थ शंकर मीणा ने कहा कि सिंचाई विभाग के कनिष्ठ अभियंता पर 377/ आइपीसी पॉस्को एक्ट की धारा में मुकदमा दर्ज हुआ है.

आपको बता दें कि इसी साल जनवरी में नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्‍यूरो (NCRB) के डाटा के अनुसार, भारत में हर रोज 100 से अधिक बच्‍चों का यौन शोषण होता है. यही नहीं, पिछले साल (2019)  के मुकाबले इस साल इसमें करीब 22 फीसदी का उछाल आया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज