मंदिर के सामने कब्र‍िस्‍तान में दफनाया जा रहा था शव, इसके बाद दो पक्षों में जमकर हुआ बवाल, जानें क्‍या है पूरा मामला?


उत्‍तर प्रदेश के बांदा में एक मुस्लिम समुदाय के अंतिम संस्कार में शव दफनाने को लेकर के जमकर बवाल हुआ.

उत्‍तर प्रदेश के बांदा में एक मुस्लिम समुदाय के अंतिम संस्कार में शव दफनाने को लेकर के जमकर बवाल हुआ.

Uttar Pradesh News: बांदा में जब मुस्लिम समुदाय के एक व्यक्ति को दफनाया जा रहा था तो उसी दौरान बजरंग दल के कार्यकर्ता ने मंदिर का हवाला देते हुए बताया कि यहां पर कभी कब्रिस्तान रहा ही नहीं है. यह जमीन सरकारी है और किसी नई जगह कब्रिस्तान कैसे बनाया जा सकता है.

  • Share this:
उत्‍तर प्रदेश के बांदा में एक मुस्लिम समुदाय के अंतिम संस्कार में शव दफनाने को लेकर के जमकर बवाल हुआ. मंदिर के सामने बने कब्रिस्तान में शव दफनाया जा रहे थे उसी दौरान बजरंग दल के कुछ कार्यकर्ता पहुंच गए और मंदिर के सामने धरना प्रदर्शन करने लगे. इसकी सूचना के बाद मौके पर पुलिस बल पहुंची जहां पर हिंदू मुस्लिम समुदाय के बीच लगभग कई सैकड़ों लोग इकट्ठा हो गए. भीड़ को बेकाबू होते देख पुलिस के होश उड़ गए. पुलिस ने उच्च अधिकारियों को पूरे मामले की सूचना दी, जिसके बाद अपर पुलिस अधीक्षक और एडीएम भारी पुलिस बल के साथ मौके पहुंचे. लगभग 4 घंटे चले जद्दोजहद के बाद बवाल के बाद पुलिस के समझाने बुझाने पर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मृतक के शव को दूसरे कब्रिस्तान में जाकर दफन कर दिया. एडीएम संतोष बहादुर ने पूरे मामले की जांच कराने की बात कही है.

आपको बता दें पूरा मामला शहर कोतवाली के मर्दन नाका से सामने आया है, जहां पर एक मुस्लिम समुदाय के एक व्यक्ति की मौत हो गई. मृतक के परिजनों का दावा है कि उस कब्रिस्तान में ही उनके वंशजों को दफनाया जाता है. कब्र खुद गई और कब्र खुदने के बाद अंतिम यात्रा की तैयारी हो रही थी क‍ि उसी दौरान बजरंग दल के कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंचे और कब्रिस्तान के सामने बने मंदिर का हवाला देते हुए बताया कि यहां पर कभी कब्रिस्तान रहा ही नहीं है. यह जमीन सरकारी है और किसी नई जगह कब्रिस्तान कैसे बनाया जा सकता है. इसके बाद मुस्लिम और हिंदू समुदाय के दोनों पक्ष के लोगों में काफी विवाद बढ़ गया.

Youtube Video


हालात बेकाबू की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस के अधिकारियों ने दोनों पक्षों को समझाने का काफी प्रयास किया. बजरंग दल के कार्यकर्ता कब्रिस्तान के सामने बने मंदिर पर जाकर अनशन पर बैठ गए और अंतिम संस्कार ना करने की हिदायत देते रहे. इसके बाद पुलिस ने माहौल बिगड़ते देख मौके पहुंचे एडीएम अपर पुलिस अधीक्षक ने स्थिति को संभाला दोनों पक्षों को समझाते बुझाते रहे और पूरे मामले की जांच का हवाला देते रहे. भारी पुलिस बल देख कर के दूसरे समुदाय के लोगों ने पुलिस के समझाने पर दूसरे कब्रिस्तान चले गए और वहां जाकर शव को कब्रिस्तान में दफन कर दिया.
इस मामले की जानकारी देते हुए डीएम संतोष बहादुर ने बताया कि बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने बताया है कि मंदिर के सामने वाली जगह सरकारी जमीन है, जिस पर कभी कोई कब्रिस्तान नहीं था. हालांकि पूरे मामले की जांच की जा रही है स्थिति सामान्य है. शव को दूसरे कब्रिस्तान के कब्रगाह में दूसरी जगह दफन कर दिया गया है और पूरे मामले की विधवत तरीके से जांच की जाएगी. अब जो भी मामला निकल कर सामने आएगा उसी आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज