लाइव टीवी

बंद मकान से मिला एक ही परिवार के पांच सदस्यों का शव, आत्महत्या की आशंका
Banda News in Hindi

भाषा
Updated: February 1, 2020, 5:55 PM IST
बंद मकान से मिला एक ही परिवार के पांच सदस्यों का शव, आत्महत्या की आशंका
उन्होंने पड़ोसियों के हवाले से बताया कि रामभरोसा नामक व्यक्ति एक ढाबे में काम करता था. (प्रतीकात्मक फोटो)

अधिकारी ने बताया कि मकान के कई दिन से बंद पड़े होने और उसमें से बदबू (Smell) आने की शिकायत मिली थी.

  • Share this:
बांदा. उत्तर प्रदेश के फतेहपुर (Fatehpur) शहर के शांतिनगर मुहल्ले (Shantinagar locality) में बंद पड़े एक मकान से पुलिस ने शनिवार को एक ही परिवार के पांच सदस्यों का शव (Five Bodies) बरामद किया. आशांका है कि सभी ने जहरीले पदार्थ का सेवन कर आत्महत्या (Suicide) की है. नगर पुलिस उपाधीक्षक (सीओ) कपिल देव मिश्रा ने बताया कि शांतिनगर मुहल्ला के लोगों ने मकान के कई दिन से बंद पड़े होने और उसमें से बदबू आने की शिकायत की थी. पुलिस ने सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए मकान का दरवाजा तोड़ा. अंदर से परिवार की पांच सदस्यों श्यामा (40), उसकी बेटियों पिंकी (21), प्रियंका (14), वर्षा (13) और ननकी (10) के शव मिले. वहां से जहरीले पदार्थ की खाली पुड़िया भी मिली हैं, इससे लगता है कि सभी की मौत जहर खाने से हुई है.

उन्होंने पड़ोसियों के हवाले से बताया कि रामभरोसा नामक व्यक्ति एक ढाबे में काम करता था और वह नशे का आदी था. चार दिन पूर्व रामभरोसा ने अपनी पत्नी श्यामा और बच्चियों को बुरी तरह पीटा था, जिन्हें पड़ोसियों ने बचाया था. इसके बाद से रामभरोसा घर से लापता हो गया.

बदबू आने पर पड़ोसियों ने पुलिस को सूचित किया
मिश्रा ने बताया कि चार दिन से मकान का दरवाजा नहीं खुलने और बदबू आने पर पड़ोसियों ने पुलिस को सूचित किया. पुलिस ने वहां से शवों को बरामद कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. सभी की मौतों का कारण पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा. पुलिस फिलहाल, लापता रामभरोसा की तलाश में जुटी है.


ये भी पढ़ें- 

कांग्रेस कैंडिडेट ने शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को माना 'दोस्त', कही ये बात

शाहीन बाग: सरकार के बातचीत के प्रस्ताव पर प्रदर्शनकारियों ने रखी ये शर्त

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बांदा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2020, 5:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर