उत्तरप्रदेश में टीचर ने पीट-पीटकर ली 8 साल के स्टूडेंट की जान

एक निजी स्कूल के टीचर की पिटाई से बुरी तरह जख्मी एक मासूम की शुक्रवार को मौत हो गई. परिजनों का आरोप है कि टीचर की पिटाई से बच्चे को अंदरूनी चोटें पहुंची और इसी वजह से छात्र की मौत हुई.

  • Share this:
एक निजी स्कूल के टीचर की पिटाई से बुरी तरह जख्मी एक मासूम की शुक्रवार को मौत हो गई. परिजनों का आरोप है कि टीचर की पिटाई से बच्चे को अंदरूनी चोटें पहुंची और इसी वजह से छात्र की मौत हुई. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है.



घटना बांदा जिले के चिल्ला थाना क्षेत्र के शादी मदनपुर गांव की है. यहां के रहवासी बशीम अहमद का बेटा अरबाज गांव के ही एक निजी स्कूल सहयोग आश्रम में कक्षा 3 में पढ़ता था. विगत 16 अक्टूबर को जब अरबाज स्कूल पहुंचा तो किसी बात को लेकर उसका एक सहपाठी से विवाद हो गया. बच्चों के बीच झगड़े की जानकारी प्रधानाचार्य जय राज सविता को दी गई. बच्चों की मामूली कहासुनी से प्रधानाचार्य को इतना गुस्सा आ गया कि उसने अरबाज की जमकर पिटाई कर दी.



पिटाई से मासूम का बायां पैर फ्रैक्चर हो गया. पिटाई के दौरान गिरने से उसकी पसलियों में भी चोट आई. किसी तरह स्कूल से घर लौटे बच्चे को परिजन तुरंत निजी नर्सिंग होम लेकर गए, जहां उपचार के बाद उसे घर भेज दिया गया. घर पहुंचने के साथ ही बच्चे की पसलियों में तेज दर्द उठा और तुरंत ही उसकी मौत हो गई.





घटना से घर में मातम छाया हुआ है. इधर परिजनों ने टीचर के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है. पुलिस ने छात्र के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जांच में जुट गई है. (रिपोर्ट- उमाशंकर मिश्रा)
ये भी पढ़ें-



जयंती विशेष: इन कारणों से 'बिहार केसरी' कहे जाते हैं बिहार के पहले सीएम श्रीकृष्ण सिंह



अगर आप भी करते हैं PayTM का इस्तेमाल तो जान लें ये 4 बातें 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज