पर्यावरण सुरक्षा की बानगी बनी इस बेटी की शादी, बैलगाड़ी से आई बारात, पत्तों के मंडप में लिए सात फेरे

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 18, 2019, 1:32 PM IST
पर्यावरण सुरक्षा की बानगी बनी इस बेटी की शादी, बैलगाड़ी से आई बारात, पत्तों के मंडप में लिए सात फेरे
बांदा में हुई अनोखी शादी, पर्यावरण सुरक्षा का रखा गया ध्यान

बारात और शादी के आयोजन में इस बात का पूरा ख्याल रखा गया कि पर्यावरण को किसी भी तरह का नुकसान न हो.

  • Share this:
जहां एक ओर उत्तराखंड में 200 करोड़ की शादी चर्चा का विषय बनी है और पर्यवरण सुरक्षा की वजह से मामला हाईकोर्ट तक जा पहुंचा, वहीं बांदा की एक अनुसूचित जाति की बेटी की शादी सादगी का मिसाल बन गई. पर्यावरण सुरक्षा की मिसाल पेश करती यह शादी दिखावे और फिजूलखर्ची को आईना दिखाता है.

बांदा जनपद के कालिंजर गांव निवासी रेखा समुद्रे की शादी गंगा पुरवा के किशन से 15 जून को हुई. यह शादी अपने आप में अनोखी थी. बारात और शादी के आयोजन में इस बात का पूरा ख्याल रखा गया कि पर्यावरण को किसी भी तरह का नुकसान न हो.

पर्यवरण को दूषित करने वाली सभी चीजों का बहिष्कार

शादी के बंधन मे बंधे नव दंपति ने पर्यवरण को दूषित करने वाली सभी चीजों का बहिष्कार किया. देशी अंदाज मे बैलगाड़ी से बारात लेकर दूल्हा पहुंचा. पेड़ों के पत्तों से सजे मंडप में दोनों ने सात फेरे लिए और जिंदगी की नई पारी की शुरुआत की. दूल्हा-दुल्हन ने एक-एक पेड़ लगाया और साथ ही बरातियों को भेंट मे एक-एक पेड़ गिफ्ट किया गया. लगाए गए पेड़ की देख-रेख की जिम्मेदारी दुल्हन के मां-बाप को सौंपी गई है. उनसे यह वचन भी लिया गया कि एक बेटी विदा कर रहे हैं तो इस पेड़ की देखरेख भी बच्चे की तरह ही करेंगे.

दुल्हन रेखा


पत्तल में खाना और कुल्हड़ में पानी

बारातियों को दोने और पत्तल में खाना परोसा गया. साथ ही मिट्टी के कुल्हड़ में पानी दिया गया. शादी में न शामियाना था और न ही शहनाई. किसी भी तरह का ध्वनि प्रदूषण नहीं था.
Loading...

बैलगाड़ी पर ही विदा हुई दुल्हन


ऐसी 11 शादी करवा चुका है दंपत्ति

इस अनोखी शादी को करवाने वाले नरैनी तहसील खलारी गांव की प्रधान सुमनलता पटेल और उनके शिक्षक पति यशवंत पटेल ने करवाया. दोनों ने अब तक ऐसी 11 शादियां करवाई है. यह सिलसिला 2012 में शुरू हुआ. यशवंत पटेल ने बताया कि इस तरह की शादी की प्रेरणा उन्हें एक शादी समारोह से मिली. जिसमे पर्यावरण का पूरा ख्याल रखा गया था.

(रिपोर्ट: अंकित त्रिपाठी)

ये भी पढें: यूपी में बिजली की कीमतें बढ़ाने की तैयारी, गरीबों पर सबसे ज्यादा 53 फीसदी की गाज!

AES से बच्चों की मौत पर चल रही थी बैठक, स्वास्थ्य मंत्री ने पूछा मैच का स्कोर, VIDEO वायरल

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बांदा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 18, 2019, 1:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...