बांदा: एसपी का स्टीकर लगाकर उगाही करने वाला फर्जी IPS गिरफ्तार

पुलिस ने इनके पास से एक 0.32 बोर पिस्टल और मैग्जीन व कारतूस बरामद किए हैं. यह लोग बाकायदा नीली बत्ती लगाकर ट्रक निकलवाने और रंगदारी वसूली के काम को अंजाम दे रहे थे.

Anand Tiwari
Updated: July 14, 2018, 11:08 AM IST
बांदा: एसपी का स्टीकर लगाकर उगाही करने वाला फर्जी IPS गिरफ्तार
गिरफ्तार आरोपियों की फोटो
Anand Tiwari
Updated: July 14, 2018, 11:08 AM IST
यूपी के बांदा पुलिस ने गुरुवार देर रात लाल-नीली बत्ती और ‘एसपी’ का स्टीकर लगाकर घूम रहे फर्जी आईपीएस अधिकारी और उसके दो गुर्गो को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इनके पास से एक 0.32 बोर पिस्टल और मैग्जीन व कारतूस बरामद किए हैं. यह लोग बाकायदा नीली बत्ती लगाकर ट्रक निकलवाने और रंगदारी वसूली के काम को अंजाम दे रहे थे. कार को पुलिस ने पकड़कर उसे चला रहे वर्दीधारी कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया.

बता दें कि मटौंध पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रहे थे. इसी दौरान लखनऊ के नंबर वाली नीली बत्ती लगी गाड़ी आकर रुकी. इसमें सवार तीन लोग उतरे और रुतबे के साथ बोले कि पीछे आ रहे दो ट्रकों को बिना जांच के जाने दें. एसओ को शक हुआ तो उन्होंने नीली बत्ती वाली गाड़ी रोक ली. जांच की तो पता चला कि गाड़ी चला रहा प्रदीप सिंह सिपाही है जो अमेठी में तैनात है. पुलिस ने गाड़ी से 0.32 बोर की पिस्टल व दो मैगजीन भी बरामद की है.

गाड़ी सिपाही की पत्नी के नाम है. इसके बाद पीछे से आ रहे दोनों ट्रक भी पकड़ लिए. दोनों ट्रक दूसरों के नाम पर हैं. इससे अवैध खनन का कारोबार होता था. बांदा के एएसपी एलवीके पाल ने बताया कि सिपाही के साथ पलहरिया, सोनभद्र के अजीत कुमार और पारा कानपुर के अवधेश सिंह को पकड़ा गया है. तीनों पर जालसाजी, उगाही व गैंग चलाने की एफआईआर दर्ज किया गया है.

यह भी पढ़ें:

जानिए, क्यों PM मोदी आजमगढ़ से करेंगे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास

बरेली: जंजीरों में कैद होकर थाने पहुंची प्रेमिका, देखकर दंग रह गई पुलिस

मुन्ना बजरंगी मर्डर केस: बागपत से 'फतेहगढ़' सेंट्रल जेल शिफ्ट किया जाएगा सुनील राठी

 

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर