लाइव टीवी

यूपी के बुंदेलखंड में किसानों ने कई जिलों में किया चक्का जाम

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 23, 2019, 6:25 PM IST
यूपी के बुंदेलखंड में किसानों ने कई जिलों में किया चक्का जाम
बांदा में प्रदर्शन के दौरन किसान यूनियन के कार्यकर्ता व किसान.

किसानों ने झांसी-मिर्जापुर राष्ट्रीय राजमार्ग, झांसी से लेकर महोबा, हमीरपुर, बांदा, हमीरपुर, चित्रकूट के एनएच 76 के सभी मुख्य मार्गों पर प्रदर्शन किया.

  • Share this:
बांदा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बुंदेलखंड में 5 जिलों जिलों चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर और झांसी जनपद में किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं और किसानों ने चक्का जाम किया.  इसी क्रम में बांदा (Banda) में भी चक्का जाम हुआ. नेशनल हाईवे एनएच-76 पर चक्का जाम में किसान यूनियन के हजारों कार्यकर्ता और किसान शामिल थे. इस दौरान खबर आई कि लगभग 200 किसान और किसान यूनियन कार्यकर्ताओं को झांसी के मऊरानीपुर में पुलिस ने गिरफ्तार कर एक गेस्ट हाउस में बंद कर दिया है. जिसके बाद किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं में भारी आक्रोश देखने को मिला. किसानों ने झांसी-मिर्जापुर राष्ट्रीय राजमार्ग, झांसी से लेकर महोबा, हमीरपुर, बांदा, हमीरपुर, चित्रकूट के एनएच 76 के सभी मुख्य मार्गों पर प्रदर्शन शुरू कर दिया. करीब एक घंटे तक ये प्रदर्शन चला.

किसानों ने रखीं की 5 प्रमुख मांग

बता दें किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं की प्रमुख पांच सूत्री मांगे थीं, जिन्हें लेकर बुधवार दोपहर 1 बजे से झांसी मिर्जापुर राष्ट्रीय राजमार्ग के कई जनपदों में चक्का जाम किया गया. इसमें पहली मांग ये थी कि झांसी में किसान के बेटे पुष्पेंद्र यादव फर्जी एनकाउंटर की जांच सीबीआई से कराई जाए और आरोपी दरोगा के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए.  वहीं दूसरी मांग अन्ना प्रथा (आवारा पशुओं को छोड़ना) पर तत्काल रोक लगाकर प्रभावी व्यवस्था की जाए. गौशाला का निर्माण किया जाए. तीसरी मांग में किसानों को कर्ज अदा करने की नोटिस तत्काल प्रभाव से वापस ली जाए और किसानों का कर्ज माफ किया जाए.

चौथी मांग ये है कि अतिवृष्टि से तिलहनी, दलहनी, ज्वार, बाजरा, अरहर की बर्बाद फसल का मुआयना कराकर जल्द मुआवजा दिया जाए. वहीं किसानों की पांचवी मांग ये है कि बुंदेलखंड मे प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट शौचालय और प्रधानमंत्री आवास मे अधिकारी ने जमकर धांधली की है. पात्र और अपात्र का नयन कर दोषी भ्रष्ट अधिकारियों की जांच कराकर कड़ी कार्रवाई की जाए.

जाम के एक घंटे बाद पहुंचे अफसर

बता दें आज 5 जनपदों में किसानों और किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन था. बांदा मुख्यालय में किसान यूनियन के विमल शर्मा, अतर्रा तहसील में एनएच 76 राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम किए थे. जाम की जानकारी के 1 घंटे बाद जनपद के एडिशनल एसपी, एडीएम संतोष बहादुर मौके पर पहुंचे. उन्होंने किसान यूनियन की पांच सूत्री मांगों का ज्ञापन लेकर शासन को भेजने की बात कही है.

सिर्फ झांसी में हुई कुछ किसानों की गिरफ्तारी: अपर पुलिस अधीक्षक
Loading...

मामले की जानकारी देते हुए अपर पुलिस अधीक्षक लाल भरत कुमार पाल ने बताया कि किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने बुंदेलखंड के कई जनपदों में चक्का जाम किया है. उनकी पांच सूत्री उनकी मांगे थीं. 1 घंटे चले प्रदर्शन के बाद हम लोगों को ज्ञापन दिया गया है. इस ज्ञापन को शासन को भेजकर इनकी मांगे अवगत कराई जाएंगीं. वहीं झांसी मे कुछ किसानों ने गिरफ्तारी दी है, बांदा में भी किसान यूनियन के कार्यकर्ता गिरफ्तारी दे रहे थे लेकिन ज्ञापन देने के बाद जाम खत्म हो गया है. बांदा में गिरफ्तारी नही की गई है. वहीं बुंदेलखंड किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा ने कहा जल्द मांगें नहीं मांगी गईं तो हम लोग उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होंगे.

ये भी पढ़ें:

यूपी के डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने प्रियंका गांधी को कहा- Twitter वाली नेता

CM योगी बोले- सोशल मीडिया पर भ्रामक सूचनाएं युवाओं को बना रही भस्मासुर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बांदा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 6:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...