मीडिया की मुहिम लाई रंग, कैंसर पीड़िता को मिली सात लाख रुपए की मदद

देश के चौथे स्तंभ की ताकत ने एक बार फिर से पल-पल मौत की तरफ बढ़ रही एक जिंदगी को नई रोशनी दी है। मीडिया की मानवीय पहल ने एक ऐसी ही कैंसर पीड़िता का मंहगा इलाज कराने का सपना साकार कर दिखाया है, जिसकी आर्थिक तंगी ने उसे मौत के आगे घुटने टेकने के लिए मजबूर कर दिया था। एक बार मीडिया ने कैंसर पीड़िता की मदद की मुहिम क्या चलाई, लोगों का कारवां पीड़िता की मदद के लिए जुटने लग गया।

Ashwani Mishra | ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 14, 2015, 11:56 AM IST
मीडिया की मुहिम लाई रंग, कैंसर पीड़िता को मिली सात लाख रुपए की मदद
देश के चौथे स्तंभ की ताकत ने एक बार फिर से पल-पल मौत की तरफ बढ़ रही एक जिंदगी को नई रोशनी दी है। मीडिया की मानवीय पहल ने एक ऐसी ही कैंसर पीड़िता का मंहगा इलाज कराने का सपना साकार कर दिखाया है, जिसकी आर्थिक तंगी ने उसे मौत के आगे घुटने टेकने के लिए मजबूर कर दिया था। एक बार मीडिया ने कैंसर पीड़िता की मदद की मुहिम क्या चलाई, लोगों का कारवां पीड़िता की मदद के लिए जुटने लग गया।
Ashwani Mishra | ETV UP/Uttarakhand
Updated: March 14, 2015, 11:56 AM IST
देश के चौथे स्तंभ की ताकत ने एक बार फिर से पल-पल मौत की तरफ बढ़ रही एक जिंदगी को नई रोशनी दी है। मीडिया की मानवीय पहल ने एक ऐसी ही कैंसर पीड़िता का मंहगा इलाज कराने का सपना साकार कर दिखाया है, जिसकी आर्थिक तंगी ने उसे मौत के आगे घुटने टेकने के लिए मजबूर कर दिया था। एक बार मीडिया ने कैंसर पीड़िता की मदद की मुहिम क्या चलाई, लोगों का कारवां पीड़िता की मदद के लिए जुटने लग गया।

बांदा में मीडिया की मुहिम ने एक कैंसर पीड़िता और उसके परिवार को बड़ी राहत देने का काम किया है। मामला सदर तहसील के बड़ोखर खुर्द गांव का है, जहां फूला नाम की एक कैंसर पीड़ित महिला पैसे के अभाव में इलाज न करा पाने के बाद आर्थिक मदद को लेकर बीते तीन साल से शासन और प्रशासन के कार्यालयों के चक्कर लगा रही थी। मदद न मिलने से आहत कैंसर पीड़िता ने 9 मार्च से आमरण अनशन शुरू कर दिया। कैंसर पीड़ित की आर्थिक मदद को लेकर आमरण अनशन करने की खबर को मीडिया ने प्रमुखता से दिखाया था। इसके बाद जल्द ही मीडिया की मानवीय मुहिम का असर भी देखने को मिला।

मीडिया की मुहिम से प्रभावित होकर नेता प्रतिपक्ष नसीमुद्दीन सिद्दकी कैंसर पीड़िता से मिलने के लिए बड़ोखर खुर्द गांव गए, जहां पीड़िता के परिजनों के जख्मों पर मरहम लगाते हुए यूपी विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष ने पीड़िता फूला को इलाज के लिए एक लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि दी। इसके कुछ ही देर के बाद बसपा से एमएलसी हुसना सिद्दकी भी कैंसर पीड़िता के हालचाल लेने गांव पहुच गईं, जहां उन्होंने अपनी निधि से पीड़िता फूला को इलाज के लिए पांच लाख रुपए देने की घोषणा की।

इस दौरान मौके पर मौजूद बसपा के एक और नेता ने पीड़िता के परिवार को इलाज के लिए पचास हजार रुपए की आर्थिक मदद की। कैंसर पीड़िता की मदद में कांग्रेस के तिंदवारी विधान सभा से विधायक दलजीत सिंह ने पीड़िता के घर जाकर इलाज के लिए पचास हजार रुपए की आर्थिक सहायता देने के साथ-साथ पीड़िता और उसके परिवार को हर संभव मदद देने का भरोसा दिया। एक लाख रुपए की आर्थिक मदद देने वाले यूपी विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष नसीमुद्दीन सिद्दकी ने प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि जिस सरकार के पास पैसे का कोई कमी नहीं है। उस सरकार से पीड़िता को मदद न मिलना वाकई में हैरान कर देने वाली बात है।

राजनीतिक दलों के साथ साथ सामाजिक संस्थाओं ने भी पीड़िता की मदद के आगे आना शुरू कर दिया। इसी क्रम योग गुरू बाबा रामदेव की योगपीठ संस्था ने कैंसर पीड़िता फूला और गांव में दूसरे कैंसर पीड़ितों का मुफ्त में योग और चिक्तिसीय पद्दति से इलाज करने का आश्‍वासन पीड़िता के परिजनों को दिया। फिलहाल सात लाख रुपए की आर्थिक मदद मिलने के बाद कैंसर पीड़िता फूला का कहना है कि आर्थिक सहायता मिलने के बाद कैंसर का इलाज कराने अब मुंबई आसानी से जा सकेंगी।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
First published: March 14, 2015, 11:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...