...जब बेटी की डोली के साथ उठी मां की अर्थी तो सबकी आंखें हो गईं नम

मामला कमासिन थाना क्षेत्र के ग्राम मुसीवा का है, जहां रामकली (45) की बेटी देवमती की बारात चित्रकूट जनपद के एक गांव से आई थी.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 9, 2019, 9:15 PM IST
...जब बेटी की डोली के साथ उठी मां की अर्थी तो सबकी आंखें हो गईं नम
बेटी की शादी
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 9, 2019, 9:15 PM IST
उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में एक बड़ी खबर सामने आई है. यहां डोली उठने से पहले ही दुल्हन की मां की मौत हो गई. दुल्हन की मां की मौत दीवार के नीचे दबने से हुई है. वहीं, घर में मंगल गीत की जगह चीख- पुकार मच गई. इस घटना से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. साथ ही मामले की जांच भी शुरू कर दी है.

मामला कमासिन थाना क्षेत्र के ग्राम मुसीवा का

जानकारी के मुताबिक, मामला कमासिन थाना क्षेत्र के ग्राम मुसीवा का है, जहां रामकली (45) की बेटी देवमती की बरात चित्रकूट जनपद के एक गांव से आई थी. रात को बड़े धूमधाम से बरात की सारी रस्में अदा की गईं. दूसरे दिन बेटी की विदाई करने के बाद लगभग 3 से 4 घंटे के बाद मंडप को उखाड़कर तालाब में विसर्जन करने की रस्में अदा करने के लिए महिलाएं तैयार हो रही थीं.

कच्ची दीवार के नीचे दबने से हुई मां की मौत

इसी दौरान, अचानक तेज बारिश आने से एक कच्ची दीवार गिर गई, जिससे नवविवाहिता देवमती की मां रामकली उसके नीचे दब गई. तुरंत स्थानीय और परिजनों ने उसे मलबे से बाहर निकाला और आनन-फानन स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया. हालत खराब होने पर डाक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया, लेकिन रास्ते में रामकली की मौत हो गई. वहीं, सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. जिस घर में बेटी की शादी की खुशी की गूंज उठ रही थी, अब उस घर में मातम छा गया है.

ये भी पढ़ें- 

एक्‍सप्रेसवे हादसा: झपकी नहीं यह है एक्सीडेंट की बड़ी वजह
Loading...

हरदोई पुलिस का कारनामा: हिन्दू युवक को कब्रिस्तान में दफनाया
First published: July 9, 2019, 8:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...