Mukhtar Ansari News: मुख्‍तार अंसारी पर कसता कानून का श‍िकंजा, जानें क‍िस मामले में 19 अप्रैल को तय होंगे आरोप

जेलर और डिप्टी जेलर पर हमले के मामले में मुख्तार अंसारी पर आरोप तय होंगे.

जेलर और डिप्टी जेलर पर हमले के मामले में मुख्तार अंसारी पर आरोप तय होंगे.

Uttar Pradesh News: 3 अप्रैल 2000 को लखनऊ के जेलर एसएन द्विवेदी ने आलमबाग थाने में मुख्‍तार अंसारी और उसके साथ‍ियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में बंद बाहुबली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है. जेलर और डिप्टी जेलर पर हमले के मामले में मुख्तार अंसारी पर आरोप तय होंगे. एमपी एमएलए कोर्ट में 19 अप्रैल को अंसारी के ख‍िलाफ आरोप तय करेगी.

आपको बता दें क‍ि 3 अप्रैल 2000 को लखनऊ जेल के जेलर और डिप्टी जेलर पर हमला हुआ था. जेल में पथराव और जानमाल की धमकी के इस मामले में मुख्तार अंसारी आरोपी है. मुख्तार के अलावा यूसुफ चिश्ती, आलम ,कल्लू पंडित और लालजी यादव पर आरोप तय होने है. युसूफ चिश्ती और आलम जेल में है. कल्लू पंडित और लालजी यादव जमानत पर है.

3 अप्रैल 2000 को लखनऊ के जेलर एसएन द्विवेदी ने आलमबाग थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी. मंगलवार को मऊ की कोर्ट में मुख़्तार की पेशी होगी. फ़र्ज़ी दस्तावेजों पर शस्त्र लाइसेंस लेने के मामले में होगी पेशी. यह पेशी बांदा जेल से वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी.

आजमगढ़ कोर्ट में पेश किया जाएगा माफिया डॉन मुख्तार अंसारी
वहीं 22 अप्रैल को मुख्‍तार अंसारी को आजमगढ़ गैंगस्टर कोर्ट में पेश किया जाएगा. मुख्तार के बांदा जेल में शिफ्ट होने के बाद आजमगढ़ पुलिस ने वारंट बी का तामिला करा दिया है. 22 अप्रैल को कड़ी सुरक्षा के बीच मुख्तार को आजमगढ़ जेल लाया जाएगा. मुख़्तार को एक पुराने मामले में गैंगस्टर एक्ट में दर्ज एक मामले में कोर्ट में पेश होना है.

तरवां थाना क्षेत्र के ऐराखुर्द में सड़क निर्माण के दौरान वर्चश्व की लड़ाई में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के लोगों द्वारा अंधाधुंध फायरिंग की गयी थी. जिसमें एक मजदूर की मौत हो गयी थी, जबकि एक मजदूर घायल हो गया था. इस मामले में तरवां थाने में मुख्तार और उसके साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था. जिसकी विवेचना मेंहनगर थानाध्यक्ष प्रशांत कुमार को सौंपी गयी थी. योगी सरकार ने अपराधियों के खिलाफ काार्रवाई शुरू किया तो मुख्तार को टाप टेन अपराधियों की सूची में शामिल किया गया. इसके बाद से ही मुख्तार और उसके करीबियों के खिलाफ कार्रवाई जारी है.

वारंट बी का पुलिस ने कराया तामिला



तरवां कांड में पुलिस ने पिछले दिनों मुख्तार और उसके 10 सहयोगियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई थी. उसी दौरान मुख्तार को पंजाब के रोपण जेल भेज दिया गया था. पुलिस ने मुख्तार को कई बार गैंगेस्टर कोर्ट में पेश करने का प्रयास किया लेकिन पंजाब सरकार और प्रशासन से मदद नहीं मिली. मुकदमे की विवेचक कर रहे तत्कालीन एसओ मेंहनगर व वर्तमान में स्वाट टीम प्रभारी प्रशांत श्रीवास्तव कई बार पंजाब के रोपण जेल वारंट बी ले कर गए थे, लेकिन हर बार मुख्तार मेडिकल लगा कर पेशी से बच गया. अब सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद मुख्तार को यूपी के बादा जेल में शिफ्ट किया गया है. मुख्तार के बांदा जेल में आते ही आजमगढ़ पुलिस ने बांदा जेल अधीक्षक को वारंट बी का तामिला करा दिया है. अब 22 अप्रैल को कड़ी सुरक्षा के बीच मुख्तार को आजमगढ़ गैंगस्टर कोर्ट में पेश किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज