Mukhtar Ansari News: मुख्‍तार अंसारी की पत्‍नी पहुंची सुप्रीम कोर्ट, कहा-मेरे पत‍ि का हो सकता है एनकाउंटर

मुख्‍तार की पत्‍नी ने सुप्रीम कोर्ट में एक याच‍िका दाख‍िल की है.

मुख्‍तार की पत्‍नी ने सुप्रीम कोर्ट में एक याच‍िका दाख‍िल की है.

Uttar Pradesh News: यूपी पु‍ल‍िस मुख्‍तार अंसारी को पंजाब से लेने के ल‍िए मंगलवार सुबह करीब साढ़े चार बजे सात वाहनों के साथ रूपनगर पुलिस लाइन पहुंची. पुलिस लाइन रूपनगर जेल से करीब चार किलोमीटर दूर है. रंगदारी के एक मामले में अंसारी जनवरी 2019 से इसी जेल में बंद है.

  • Share this:

Mukhtar Ansari News: पंजाब के रूपनगर जिले की जेल में बंद गैंगस्टर मुख्तार अंसारी को वापस लाने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस की टीम मंगलवार को रूपनगर पहुंची. गैंगस्टर से नेता बना अंसारी उत्तर प्रदेश में कई मामलों में वांछित है. वहीं मुख्‍तार की पत्‍नी ने सुप्रीम कोर्ट में एक याच‍िका दाख‍िल की है. इसमें उन्‍होंने पत‍ि मुख्‍तार की सुरक्षा के ल‍िए गुहार लगाई है. अपनी याचिका में कहा क‍ि मुख्तार अंसारी को एनकाउंटर में मार दिए जाने का खतरा है और साथ ही माफिया डॉन ब्रजेश सिंह भी राज्य सरकार की मदद से उनको जान से मारने की कोशिश कर सकते है.

याचिका में कहा गया है क‍ि मुख्तार अंसारी को बांदा जेल ले जाने के दौरान या जेल में रहते हुए जान से मारा जा सकता है. मुख्तार अंसारी ने बीजेपी के खिलाफ चुनाव लड़ा है और वो कुछ ऐसे मामले में गवाह है, जिसमें बीजेपी के नेता आरोपी है. इसलिए उनको मारने की कोशिश की जा सकती है. याचिका में मांग की गई है की मुख्तार अंसारी को सुरक्षा दी जाए. बाहुबली मुख़्तार अंसारी को पंजाब से उत्तर प्रदेश लाया जाएगा. इसको लेकर उनके भाई अफजल अंसारी ने कहा कि मुझे उसकी सुरक्षा को लेकर कल भी संदेह था और उनकी सुरक्षा को लेकर मुझे आज भी संदेह है. मैं माननीय कोर्ट से गुज़ारिश करूंगा की मुख्‍तार अंसारी पर अभी आरोप सिद्ध नहीं हुए हैं वो न्यायिक हिरासत में हैं तो उनकी सुरक्षा की ज़िम्मेदारी भी उनकी होती है. उस को कुशलतापूर्वक उत्तर प्रदेश लाया जाए और उसके बाद उन पर जो भी आरोप है उन मामलों पर जल्‍द सुनवाई हो.

क्‍या कहा मुख्‍तार के भाई अफजल अंसारी ने

अफजल अंसारी ने कहा क‍ि मुख्‍तार की सुरक्षा को लेकर उनकी पत्नी ने सर्वोच्च न्यायालय में एक याचिका भी दी है कि उनको जेल में सुरक्षित रखने के ल‍िए याचिका दी है, जिसकी सुनवाई 12 तारीख़ को सुप्रीम कोर्ट करेगा. अफजल अंसारी ने साफ़ किया कि हम लोग और हमारा पूरा परिवार डरा हुआ नहीं है. हम लोग डरते नहीं है हमें ऊपर वाले पर पूरा विश्‍वास है. ऊपरवाले ने सबकी मौत सुन‍िश्‍च‍ित कर रखी है. मुख्‍तार पर पहले भी पांच बार हमला किया गया, लेकिन हर बार मुख्‍तार बच गए क्योंकि उनको ऊपरवाला ज़िंदा रखे हुए हैं, सब कुछ ऊपर वाले के हाथ में है.
राष्‍ट्रपत‍ि को ल‍िखे पत्र में क्‍या कहा था मुख्‍तार की पत्‍नी ने 

आपको बता दें क‍ि इससे पहले मुख्‍तार की पत्‍नी ने राष्‍ट्रपत‍ि को पत्र लिखकर अपने पति को पंजाब से उत्तर प्रदेश लाने के दौरान उनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने का आदेश देने की गुहार लगाई थी. मुख्तार की पत्नी अफशां अंसारी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को लिखे पत्र में कहा था कि उनके पति मुख्तार अंसारी इस समय पंजाब की रोपड़ जेल में बंद हैं. सुप्रीम कोर्ट ने 26 मार्च को अपने आदेश में उन्हें रोपड़ जेल से 2 सप्ताह के अंदर बांदा जेल भेजने का आदेश दिया है.

यूपी पु‍ल‍िस मुख्‍तार अंसारी को पंजाब से लेने के ल‍िए मंगलवार सुबह करीब साढ़े चार बजे सात वाहनों के साथ रूपनगर पुलिस लाइन पहुंची. पुलिस लाइन रूपनगर जेल से करीब चार किलोमीटर दूर है. रंगदारी के एक मामले में अंसारी जनवरी 2019 से इसी जेल में बंद है. पंजाब के गृह विभाग ने उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर आठ अप्रैल या उससे पहले अंसारी को रूपनगर जेल से हिरासत में लेने के लिए कहा था. विभाग ने 26 मार्च के उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) को पत्र लिखा था. उच्चतम न्यायालय ने अपने आदेश में पंजाब सरकार को अंसारी को दो सप्ताह के भीतर रूपनगर जेल से उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में भेजने का निर्देश दिया था.



क‍ितनी तैयारी के साथ गई है यूपी पुल‍िस मुख्‍तार अंसारी को लाने

मऊ से बसपा विधायक अंसारी को पंजाब से लाने के लिए आधुनिक हथियारों से लैस पीएसी की एक कंपनी समेत उत्तर प्रदेश पुलिस की 150 सदस्यीय टीम सोमवार सुबह बांदा से चली थी. शीर्ष अदालत ने 26 मार्च को अपने आदेश में इस बात पर गौर किया था कि अंसारी हत्या के प्रयास, हत्या, धोखाधड़ी और साजिश रचने के मामलों समेत गैंगस्टर कानून के तहत उत्तर प्रदेश में दर्ज अपराध के कई मामलों में कथित रूप से शामिल रहा है और इनमें से 10 मामलों में सुनवाई अलग-अलग चरणों में पहुंच गयी है.

पत्र में पंजाब के गृह विभाग ने उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) को अंसारी को भेजने के लिए उचित इंतजाम करने के लिए कहा है. पत्र में कहा गया है, ‘‘आठ अप्रैल या उससे पहले अंसारी को रूपनगर जिला जेल से सौंप दिया जायेगा.’’ इसमें यह भी कहा गया है कि अंसारी कुछ बीमारियों से ग्रसित है और जेल से ले जाने की व्यवस्था करने के वक्त इस बात को ध्यान में रखा जाये.

उत्तर प्रदेश पुलिस ने कहा है कि अंसारी पर प्रदेश और उससे बाहर 52 मामले चल रहे हैं और इनमें से 15 में सुनवाई चल रही है. बांदा जिला जेल के कार्यवाहक अधीक्षक प्रमोद तिवारी ने कहा कि अंसारी के लिए बैरक नंबर - 15 में सारे इंतजाम किये गये हें और कोई भी कैदी वहां पहुंच नहीं सकता. उन्होंने बताया, ‘‘बैरक में जेल के तीन सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे.’’

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज