Home /News /uttar-pradesh /

खनन घोटाला: याचिकाकर्ता विजय द्विवेदी ने बताया जान को खतरा, मांगी 'Y' श्रेणी सुरक्षा

खनन घोटाला: याचिकाकर्ता विजय द्विवेदी ने बताया जान को खतरा, मांगी 'Y' श्रेणी सुरक्षा

याचिकाकर्ता विजय द्विवेदी

याचिकाकर्ता विजय द्विवेदी

बता दें कि यूपी के हमीरपुर में हुए अवैध खनन के मामले में सीबीआई ने शनिवार को तत्कालीन डीएम बी.चन्द्रकला के लखनऊ आवास पर छापा मारा था. टीम ने घर से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए थे.

    यूपी के हमीरपुर में हुए अवैध खनन मामले में हाईकोर्ट के आदेश पर कार्रवाई कर रही सीबीआई की छापेमारी से जहां मौरंग व्यवसायियों में हड़कंप मचा है. वहीं हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर करने वाले विजय द्विवेदी ने अपनी जान को खतरा बताते हुए निजी सचिव को पत्र लिखकर 'Y' श्रेणी की सुरक्षा मांगी है. याचिकाकर्ता विजय द्विवेदी के मुताबिक, मौरंग खदानों पर पूरी तरह से रोक लगाने के बाद भी जिले में अवैध खनन खुलेआम किया गया. 28 जुलाई 2016 को तमाम शिकायतें व याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने अवैध खनन की जांच सीबीआई को सौंप दी थी.

    IAS बी चंद्रकला के घर CBI का छापा, दिल्ली-यूपी में 12 जगहों पर दबिश

    बता दें कि यूपी के हमीरपुर में हुए अवैध खनन के मामले में सीबीआई ने शनिवार को तत्कालीन डीएम बी. चन्द्रकला के लखनऊ आवास पर छापा मारा था. टीम ने घर से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए थे. इस मामले में सीबीआई ने सीबीआई ने चंद्रकला समेत हमीरपुर के तत्कालीन खनन अधिकारी मोइनुद्दीन, खनन क्लर्क रामआसरे प्रजापति, हमीरपुर से सपा एमएलसी रमेश मिश्रा, रमेश के भाई दिनेश मिश्रा के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की है. वहीं एफआईआर में हमीरपुर के अंबिका तिवारी, संजय दीक्षित, सत्यदेव दीक्षित का भी नाम है.

    कौन हैं IAS बी चंद्रकला, जिनके घर CBI ने मारा छापा

    वहीं सीबीआई के सूत्रों का कहना है कि यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के खिलाफ भी जांच की जाएगी. बता दें कि साल 2012 से 2017 के बीच खनन मंत्रालय अखिलेश यादव के ही पास था, जो उस समय प्रदेश के मुख्यमंत्री भी थे. अखिलेश के साथ-साथ उस अवधि में जितने भी मंत्री थे, सभी जांच के दायरे में आएंगे.

    अवैध रेत खनन मामले में अखिलेश यादव समेत सभी मंत्रियों के खिलाफ जांच करेगी सीबीआई

    गौरतलब है कि अखिलेश यादव की सरकार में आईएएस बी. चंद्रकला की पोस्टिंग पहली बार हमीरपुर जिले में जिलाधिकारी के पद पर की गई थी. आरोप है कि इस आईएएस ने जुलाई 2012 के बाद हमीरपुर जिले में 50 मौरंग के खनन के पट्टे किए थे, जबकि ई-टेंडर के जरिये मौरंग के पट्टों पर स्वीकृति देने का प्रावधान था, लेकिन चंद्रकला ने सारे प्रावधानों की अनदेखी की थी.

    (रिपोर्ट: उमाशंकर मिश्रा)

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

    ये भी पढ़ें:

    भू-माफिया, सियासत और अफसरशाही की तिकड़ी से शुरू होता है अवैध खनन का खेल!

    शामली: भाकियू के जिलाध्यक्ष और गर्लफ्रेंड के बीच अश्लील बातचीत का ऑडियो वायरल

    BJP सांसद का विवादित बयान, 'वेतन से नहीं चलता खर्च, चोरी तो करनी ही पड़ेगी'

    राजभर और अनुप्रिया ने लखनऊ में बुलाई बैठक, 2019 चुनाव को लेकर होगा मंथन

    लोकसभा चुनाव 2019: 'सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस के शामिल न होने से BJP को फायदा'

    Tags: Akhilesh yadav, Allahabad high court, CBI, Hamirpur news, Illegal Mining Racket, Samajwadi party, Uttar pradesh news, Yogi adityanath

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर