बांदा में भीषण सड़क हादसा, एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत

सीओ नरैनी ओमप्रकाश ने बताया कि बांदा शहर के डीएम कॉलोनी निवासी पूर्व सैनिक दयाराम (50) अपनी पत्नी कमलेश (46) और बेटे आशुतोष (25) के साथ कार से नरैनी कोतवाली के कलेक्टर पुरवा गांव में भतीजे के तिलकोत्सव समारोह में शामिल होने गए थे.

News18Hindi
Updated: February 11, 2019, 5:41 PM IST
बांदा में भीषण सड़क हादसा, एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत
सांकेतिक तस्वीर.
News18Hindi
Updated: February 11, 2019, 5:41 PM IST
यूपी के बांदा जिले के देवरार गांव के पास रविवार देर रात ट्रैक्टर-ट्रॉली और कार की टक्कर हो गई. इस सड़क हादसे में कार सवार सवार दंपति और उनके बेटे की मौत हो गई. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. घटना के बाद मृतक के घर में कोहराम मचा हुआ है.

सीओ नरैनी ओमप्रकाश ने बताया कि बांदा शहर के डीएम कॉलोनी निवासी पूर्व सैनिक दयाराम (50) अपनी पत्नी कमलेश (46) और बेटे आशुतोष (25) के साथ कार से नरैनी कोतवाली के कलेक्टर पुरवा गांव में भतीजे के तिलकोत्सव समारोह में शामिल होने गए थे. इसी दौरान वापस घर लौटते वक्त नरैनी-बांदा मार्ग पर कच्ची सड़क के पास उनकी कार सड़क पर खड़ी एक ट्रैक्टर-ट्रॉली से जा टकराई. इस हादसे में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई.

ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची गिरवां पुलिस गंभीर रूप से घायल दंपति और उनके बेटे को बांदा के मेडिकल कॉलेज ले गई, जहां कुछ ही देर बाद तीनों की मौत हो गई है. उन्होंने बताया कि पुलिस ने दुर्घटनाग्रस्त कार और ट्रैक्टर-ट्रॉली को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है. फिलहाल पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी है.



एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

ये भी पढ़ें:

लखनऊ रोड शो में राहुल ने बताया क्या है यूपी में प्रियंका गांधी की जिम्मेदारी

PM मोदी के ट्वीट के बाद अखिलेश ने कसा तंज: लिखा, 'ये दूसरों की थाली पर हक जमाने वाले लोग'
Loading...

लखनऊ में दिखा 'प्रियंका का दुर्गा अवतार', लिखा- दहन करो झूठे मक्कारों की लंका

प्रियंका गांधी के रोड शो में कार्यकर्ताओं ने शरीर पर पेंट करवाया 'चौकीदार चोर है'

प्रियंका गांधी का बदला अंदाज, रोड शो के दौरान 'लीडर' की भूमिका में आई नजर

रायबरेली-अमेठी छोड़ प्रियंका गांधी ने लखनऊ को ही क्यों चुना? ये हैं सियासी मायने
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...