UP: बांदा में 8 साल के बच्चे की निर्मम हत्या, आंख और मुंह में डाला फेवीक्विक

ऐसे में परिवार वालों ने पुलिस को सूचना दी. (सांकेतिक फोटो)
ऐसे में परिवार वालों ने पुलिस को सूचना दी. (सांकेतिक फोटो)

मामला बांदा जिले के चौसड़ गांव (Chausad Village) का है. शिक्षक राजेश कुमार कुशवाहा का आठ वर्षीय बेटा प्रिंस सोमवार को चाचा राजेंद्र कुमार के घर जाने के लिए निकला था. लेकिन फिर वापस नहीं लौटा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2020, 1:17 PM IST
  • Share this:
बांदा. उत्तर प्रदेश के बांदा (Banda District) जिले में एक सनसनीखेज खबर सामने आई है. यहां पर एक 8 साल के बच्चे की निर्मम तरीके से हत्या (Murder) की गई है. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम (Post Mortem) के लिए भेज दिया है. साथ ही मामला दर्ज कर जांच भी शुरू कर दी गई है. कहा जा रहा है कि बच्चे के गुप्तांग व शरीर पर चोट के कई निशान भी मिले हैं. वहीं, पुलिस ने इस मामले में गांव के ही एक दंपति को हिरासत में लिया है. फिलहाल, उससे पूछताछ की जा रही है.

जानकारी के मुताबिक, मामला  बांदा जिले के चौसड़ गांव का है. शिक्षक राजेश कुमार कुशवाहा का आठ वर्षीय बेटा प्रिंस सोमवार को चाचा राजेंद्र कुमार के घर जाने के लिए निकला था. राजेंद्र कुमार का घर गांव से बाहर कुछ दूर पर स्थित है. लेकिन काफी देर बाद भी प्रिंस वापस घर नहीं पहुंचा. ऐसे में उसकी खोजबीन शुरू की गई. जब राजेश कुमार कुशवाहा कॉलेज में छुट्टी के बाद घर पहुंचे तो बेटा नहीं था. पत्नी पुष्पा ने बताया कि पेट में दर्द होने पर वह आंगनबाड़ी दवा लाने के लिए गया था, जहां से चाचा के घर चला गया. काफी देर तक वापस नहीं आने पर राजेश बेटे को लेने के लिए अपने भाई राजेंद्र के घर पहुंच गए. वहां राजेंद्र की पत्नी ने बताया कि सुबह 10:30 बजे तक प्रिंस घर के बाहर खेल रहा था. लेकिन मालूम नहीं अचानक वह कहां चला गया.

ऐसे में परिवार वालों ने पुलिस को सूचना दी
इसके बाद घर वालों ने पूरे गांव में काफी खोजबीन की, लेकिन प्रिंस का कुछ पता नहीं चला. ऐसे में परिवार वालों ने पुलिस को सूचना दी. लेकिन जब तक पुलिस गांव में पहुंचती उससे पहले ही राजेश के पास धमकी भरे कॉल आ गए. धमकी में कहा गया था कि प्रिंस उसके कब्जे में है. इसके बाद राजेश ने पुलिस को यह जानकारी दी. मंगलवार सुबह परिवार के लोग और ग्रामीण प्रिंस को फिर से खोजने के लिए निकले. तभी एक महिला को तालाब के किनारे बच्चे की चप्पल मिली. राजेश ने इसे प्रिंस की चप्पल बताई. फिर उपले व पुआल को हटाकर देखा तो प्रिंस का शव नीचे दबा था. शक के आधार पर राजेंद्र के घर के बगल में रहने वाले दंपत्ति को पुलिस हिरासत में ले लिया है. खास बात यह है कि प्रिंस की काफी निर्मम तरीके से हत्या की गई थी. उसके मुंह-आंख में फेवीक्विक डालाकर पुआल और उपलों के नीचे दबा दिया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज