UP: कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए इस शख्स ने स्कूटी में किया बदलाव, जानिए खासियत

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए इस शख्स ने स्कूटी में किया बड़ा बदलाव

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए इस शख्स ने स्कूटी में किया बड़ा बदलाव

स्कूटर में सैनेटाइजर स्पे का किया खास इंतजाम, वाहन के करीब कोई आए या भीड़ भरा इलाका हो चलने लगता है सैनेटाइजर (Sanitizer) का स्प्रे और खुद के साथ ही आसपास के लोगों का भी होता है बचाव. कम हो जाता है काफी हद तक संक्रमण फैलने का खतरा.

  • Share this:

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना वायरस संक्रमण (Corona Infection) का कहर जारी है. कोरोना के इस संकट भरे दौर में अगर आप इमरजेंसी सेवाओं से जुड़े हैं या भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाना आपकी मजबूरी है, तो यह खबर आपके लिए बेहद काम की है। क्योंकि ऐसे में आप अपनी बाइक या स्कूटी में एक फव्वारा सैनिटाइजर सिस्टम लगाकर खुद के साथ-साथ भीड़ को भी सैनिटाइज कर सकते हैं. सेंसर सिस्टम होने के कारण वाहन के करीब किसी व्यक्ति के आने पर इस सिस्टम से फव्वारा निकलेगा, जिससे वह सैनिटाइज हो जाएगा. साथ ही आस-पास के लोग भी अपने आपको सैनिटाइज कर सकेंगे. जिससे काफी हद तक संक्रमण का खतरा भी कम हो जाएगा. वहीं इस सिस्टम को देखकर लोग काफी प्रभावित हुए और इसे एक अच्छी पहल बता रहे हैं.

सैनिटाइजर फव्वारा सिस्टम बनाने वाले कमेलश कुमार बाराबंकी नगर पंचायत के उत्तरटोला के निवासी हैं. वह बीए पास और इलेक्ट्रानिक्स डिप्लोमा धारक हैं. उन्होंने करीब एक हजार रुपये की लागत से यह सिस्टम अपने सहयोगी मनोज सक्सेना के साथ मिलकर तैयार किया और इसका नाम कोरोना फाइटर रखा है. उन्होंने बताया कि इसे आईआर कैमरा, प्रेशर पंप, सेंसर और सैनिटाइजर की बोतल रखकर बनाया है. हैंडिल के पास फव्वारा के दो सिस्टम लगाए गए हैं. जैसे ही कोई स्कूटी के सामने आता है, सिस्टम ऑटोमेटिक सैनिटाइजर हो जाएगा. इसके अलावा गाड़ी के भीड़ या गली में जाते ही सिस्टम सैनिटाइजेशन करना शुरू कर देगा.

Youtube Video

UP: 10 पॉइंट्स में जानिए 'चित्रकूट जेल शूटआउट' की वारदात, ताबड़तोड़ फायरिंग से मचा हड़कंप
कमलेश के सहयोगी मनोज सक्सेना ने बताया कि स्कूटी में यह सिस्टम उन्होंने कोरोना से बचाव के लिए लगाया है. यह तकनीक पुलिस, चिकित्सक और डिलीवरी मैन को संक्रमण से बचाने में काफी मददगार साबित होगी. कमलेश ने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण और लोगों की हो रही मौतों ने उन्हें ऐसा सिस्टम तैयार करने के लिए प्रेरित किया है. वहीं स्कूटी में लगे इस फव्वारा सिस्टम को देखकर लोग भी काफी खुश दिखे. उनका कहना है कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण में यह सिस्टम काफी कारगर साबित हो सकता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज