होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Barabanki: यहां की 13 हजार महिलाएं बनी स्वावलंबी, आत्मनिर्भर भारत की ओर बढ़ा रही कदम

Barabanki: यहां की 13 हजार महिलाएं बनी स्वावलंबी, आत्मनिर्भर भारत की ओर बढ़ा रही कदम

90 महिलाएं स्वास्थ्य सखी के रूप में कार्य करती

90 महिलाएं स्वास्थ्य सखी के रूप में कार्य करती

UP News: बाराबंकी के सूरतगंज ब्लॉक की दो हजार महिलाएं जैविक खेती व पशु पालन का कार्य कर रही हैं. 350 महिलाएं मुर्गी पाल ...अधिक पढ़ें

  • Local18
  • Last Updated :

    बाराबंकी: सरकार द्वारा शुरू की गई आत्मनिर्भर योजना का पहल का असरबाराबंकी की आधी आबादी पर साफ नजर आ रहा है. यहां महिलाएं अब चौका-चूल्हा संभालने के साथ स्वरोजगार की ओर भी आगे आ रही हैं. राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत गठित स्वयं सहायता समूहों की तमाम महिलाएं आत्मनिर्भर बन रही हैं.

    10 महिलाएं वित्तीय साक्षरता के कार्य जैसे बीमा व बचत का लाभ दिलाने में सहयोग देती हैं. 90 महिलाएं स्वास्थ्य सखी के रूप में कार्य करती हैं. 350 महिलाएं विभिन्न जिले में जाकर समूह संग ग्राम संगठन का कार्य करती हैं. चार महिलाएं इंटरनल रिसोर्स पर्सन (आइपीआरपी) का कार्य करती हैं.

    350 महिलाएं कर रही मुर्गी पालन

    बाराबंकी के सूरतगंज ब्लॉक की दो हजार महिलाएं जैविक खेती व पशु पालन का कार्य कर रही हैं. 350 महिलाएं मुर्गी पालन का कार्य कर रही हैं. दो समूह की महिलाएं प्रेरणा कैंटीन का संचालन कर रही हैं. दस महिलाएं आनलाइन बिक्री के लिए चयनित की गई हैं, जो समूह में तैयार उत्पाद को बेचने का कार्य कर रही हैं. जैसे राखी, जैविक खाद, मोमबत्ती, कैंडल दीये आदि.

    सहायता समूह के प्रति लगाव

    सूरतगंज में वर्ष 2014-15 से महिला स्वयं सहायता समूह का गठन किया गया. शुरुआत में कुछ महिलाएं ही उससे जुड़ीं लेकिन धीरे-धीरे महिलाओं का स्वयं सहायता समूह के प्रति लगाव बढ़ता गया.

    महिलाओं को मिल रही अलग पहचान

    स्वयं सहायता समूह से जुड़कर यह महिलाएं खुद आत्मनिर्भर बन रहीं हैं और दूसरों को भी आत्मनिर्भर बना रही हैं. महिलाओं ने बताया कि सरकार की मदद से वह आत्मनिर्भर बन चुकी हैं और अब काफी खुश हैं. इन महिलाओं ने बताया कि अभी तक वह अपने-अपने घरों में बंद थीं. लेकिन अब उन्हें अपनी अलग पहचान मिल रही है.

    Tags: Barabanki News, UP news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें