Home /News /uttar-pradesh /

Barabanki: व्यवसायी अपहरण केस में जगदीशपुर कोतवाली के 4 सिपाही निलंबित, चारों फरार

Barabanki: व्यवसायी अपहरण केस में जगदीशपुर कोतवाली के 4 सिपाही निलंबित, चारों फरार

एसपी ने इस मामले में विस्तृत जांच रिपोर्ट तलब की है.

एसपी ने इस मामले में विस्तृत जांच रिपोर्ट तलब की है.

Accused Absconding : अपहरण की यह वारदात 30 नवंबर को हुई थी. इस मामले की जांच के बाद अमेठी के विभिन्न क्षेत्रों में सुबेहा पुलिस ने की छापामारी की थी और राजू नाम के एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया था. राजू के बयान के बाद ही इन चारों सिपाहियों को एसपी के निर्देश पर निलंबित किया गया है. सुबेहा थाना प्रभारी अरुण कुमार ने बताया कि राजू के पकड़े जाने से पहले तक सभी सिपाही थाने में मौजूद थे. उन्होंने कहा कि उन्हें राजू के बयान की भनक लगी गई होगी. चारों सिपाही बिना बताए थाने से फरार हैं. इसकी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को लिखित रूप से दे दी गई है.

अधिक पढ़ें ...

गौरीगंज. बाराबंकी के सुबेहा कस्बे से ईंट भट्ठा के मालिक के अपहरण मामले में पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने जगदीशपुर कोतवाली में तैनात 4 सिपाहियों को निलंबित कर दिया है. निलबंन के बाद पूरे मामले की जांच एएसपी विनोद कुमार पांडेय को सौंपते हुए विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

अपहरण की यह वारदात 30 नवंबर को हुई थी. इस मामले की जांच के बाद अमेठी के विभिन्न क्षेत्रों में सुबेहा पुलिस ने की छापामारी की थी और राजू नाम के एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया था. राजू से पूछताछ के बाद शुक्रवार देर रात सुबेहा थाने के थाना प्रभारी शिव नारायण सिंह दोबारा जगदीशपुर कोतवाली पहुंचे. इनके साथ जगदीशपुर कोतवाल अरुण दुबे पुलिस फोर्स के साथ कटेहटी गांव के रहनेवाले शानू शुक्ल के घर छापेमारी की. पुलिस ने घटना में प्रयुक्त कार व शानू को दबोच लिया. सुबेहा कोतवाल कार स्वामी शानू और उनकी कार को साथ लेकर चले गए.

शुक्रवार से गायब हैं आरोपी सिपाही

सुबेहा थाना प्रभारी अरुण कुमार ने बताया कि राजू के पकड़े जाने से पहले तक सभी सिपाही थाने में मौजूद थे. उन्होंने कहा कि उन्हें राजू के बयान की भनक लगी गई होगी. चारों सिपाही बिना बताए थाने से फरार हैं. इसकी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को लिखित रूप से दे दी गई है.

ऐसे हुई थी वारदात

आपको बता दें कि बीते 30 नवंबर को जगदीशपुर कोतवाली क्षेत्र के मोहब्बतपुर गांव के रहनेवाले राजू के साथ सिपाही रतन राकेश, राकेश सिंह, शिवदयाल राठौर और अरुण वर्मा बाराबंकी के सुबेहा गए. राजू ने सुबेहा कस्बा के हवेली मोहल्ला के अपने पूर्व परिचित ईंट भट्ठा व्यवसाई आफाक को व्यवसाय के मामले में रहनपुर मोड़ पर बुलाया. परिचित होने के नाते आफाक दिन में 2 बजे वहां पहुंचा तो इन लोगों ने उसकी कनपटी पर तमंचा तानकर कार में बैठा लिया. ये लोग उसे वहां से लेकर अमेठी जिले के रानीगंज, वारिसगंज व मुसाफिरखाना क्षेत्र में कार पर घुमाते रहे और 5 लाख रुपये घरवालों को फोनकर मंगाने का दबाव बनाते रहे. आफाक घर पर पैसे नहीं होने की बात कहते हुए उन्हें पांच लाख रुपये बाद में देने की बात कहते हुए छोड़ने की मिन्नत करता रहा. हालांकि अभियुक्तों ने देर शाम उसे 5 लाख रुपये लाकर नहीं देने पर हत्या करने की धमकी देते हुए मुसाफिरखाना के कादूनाला के समीप छोड़ दिया.

आरोपियों से छूटकर थाने पहुंचे आफाक

आफाक किसी तरह सुबेहा थाने पहुंचा और सुबेहा थाना प्रभारी को पूरी बात बताते हुए राजू के साथ 4 अज्ञात के खिलाफ अपहरण की तहरीर दी. सूचना के बाद बाराबंकी पुलिस सक्रिय हो गई. बुधवार रात सुबेहा थाना प्रभारी शिव नारायण सिंह जगदीशपुर कोतवाल अरुण कुमार दुबे के साथ सर्विलांस लोकेशन की सहायता से राजू को गिरफ्तार कर लिया. सुबेहा कोतवाल उसे लेकर चले गए. पूछताछ के दौरान राजू ने अपने साथ शामिल 4 अज्ञात की पहचान जगदीशपुर थाने में तैनात सिपाही रतन राकेश, राकेश सिंह, शिवदयाल राठौर और अरुण वर्मा के रूप में बताई. पहचान होने के बाद एसपी बाराबंकी अनुराग वत्स ने एसपी अमेठी दिनेश सिंह को पूरे प्रकरण से अवगत कराया. जगदीशपुर एसएचओ अरुण कुमार दुबे की रिपोर्ट पर एसपी ने चारों सिपाहियों को निलंबित कर पूरे प्रकरण की जांच एएसपी विनोद कुमार पांडेय को सौंपते हुए विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

Tags: Barabanki Police, Crime in up, Kidnapping Case

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर