मुलायम सिंह यादव के बेहद करीबी थे बेनी प्रसाद वर्मा, समाजवादी पार्टी की रखी थी बुनियाद
Barabanki News in Hindi

मुलायम सिंह यादव के बेहद करीबी थे बेनी प्रसाद वर्मा, समाजवादी पार्टी की रखी थी बुनियाद
मुलायम सिंह यादव से बेनी प्रसाद वर्मा की अच्छी करीबी मानी जाती थी. (File Photo)

हालांकि बेनी प्रसाद वर्मा (Beni Prasad Verma) 2006-07 में सपा को छोड़कर चले गए थे. जिसके बाद उन्होंने पहले क्रांति दल बनाया. उसके बाद कांग्रेस में शामिल हो गए. 2009 में वह गोंडा से जीतकर मनमोहन सरकार में मंत्री बने. लेकिन इसके बाद उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी और 2016 में दोबारा सपा में शामिल हो गए.

  • Share this:
बाराबंकी. पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा (Beni Prasad Verma) समाजवादी पार्टी (Samawadi Party) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) के बेहद करीबी माने जाते थे. समाजवादी पार्टी में उनकी गिनती उन नेताओं में होती थी, जिन्होंने पार्टी की बुनियाद रखी थी. वह लंबे समय तक उत्तर प्रदेश की कुर्मी राजनीति की अहम धुरी माने जाते रहे. अपने बयानों से चर्चा में रहने वाले बेनी प्रसाद वर्मा पहली बार एचडी देवगौड़ा सरकार में 1996 में संचार राज्‍यमंत्री बने थे. फिर उन्हें संसदीय कार्य राज्‍यमंत्री पद की जिम्मेदारी दी गई. इसके बाद वह 1998, 1999 और 2004 के लोकसभा चुनाव में लगातार कैसरगंज से जीतकर संसद पहुंचे थे.

सपा छोड़ी, नया दल बनाया, कांग्रेस में गए, फिर की वापसी

हालांकि बेनी प्रसाद 2006-07 में सपा को छोड़कर चले गए थे. जिसके बाद उन्होंने पहले क्रांति दल बनाया. उसके बाद कांग्रेस में शामिल हो गए. 2009 में वह गोंडा से जीतकर मनमोहन सरकार में मंत्री बने. लेकिन इसके बाद उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी और 2016 में दोबारा सपा में शामिल हो गए.



लोकसभा सीट कैसरगंज से लगातार दर्ज की कई जीत
बता दें कि समाजवाद पार्टी के टिकट पर बेनी प्रसाद वर्मा ने 1996 में पहली बार कैसरगंज संसदीय सीट से जीत दर्ज की थी. इसके बाद इस सीट पर उनका करीब 13 साल तक कब्जा रहा. 1996 के बाद 1998, फिर 1999 और इसके बाद 2004 तक इस सीट पर बेनी ने जीत दर्ज की. 2009 में बेनी ने समाजवादी पार्टी से किनारा कर कांग्रेस का दामन थामा. इस बदलाव के बाद बेनी ने कैसरगंज छोड़कर गोंडा संसदीय सीट से चुनाव लड़ा. यहां भी उन्होंने जीत दर्ज की.

यूपीए-2 में बने केंद्रीय इस्पात मंत्री

इसके बाद यूपीए 2 में बेनी प्रसाद वर्मा को केंद्रीय इस्पात मंत्री भी बनाया गया. इसके अलावा वे अखिल भारतीय कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) के सदस्य भी थे. 2016 में उन्होंने कांग्रेस छोड़ समाजवादी पार्टी में वापसी की. समाजवादी पार्टी ने वापसी के बाद उन्हें राज्यसभा भेजा.

लंबे समय तक रहे यूपी के पीडब्ल्यूडी मंत्री

बेनी प्रसाद वर्मा का जन्म 11 फरवरी 1941 को उत्‍तरप्रदेश के बाराबंकी जिले के सिरौली में हुआ था. पिता का नाम मोहनलाल वर्मा और माता रामकली वर्मा था. बेनी का विवाह 1956 में मालती देवी से हुआ. उनके 3 बेटे और 2 बेटियां हैं. शुरुआती पढ़ाई बेनी की बाराबंकी से ही हुई इसके बाद उन्होंने लखनऊ विश्‍वविद्यालय से बीए और एलएलबी की पढ़ाई पूरी की. पढ़ाई के बाद वह सीधे राजनीति में आ गए. लंबे समय तक उत्‍तर प्रदेश में पीडब्ल्यूडी मंत्री के रूप में कार्य करते रहे.

ये भी पढ़ें:

पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा का लखनऊ में निधन

COVID-19: कनिका कपूर की तीसरी रिपोर्ट भी आई पॉजिटिव, PGI में हैं भर्ती
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading