लाइव टीवी

बाराबंकी में खुदाई के दौरान मिली 'मुगलकालीन' सिक्कों से भरी सुराही

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 15, 2020, 6:04 PM IST
बाराबंकी में खुदाई के दौरान मिली 'मुगलकालीन' सिक्कों से भरी सुराही
बाराबंकी में तालाब की खुदाई में सिक्के बरामद हुए हैं

दरअसल तालाब की खुदाई गांव के मनोज यादव घर की पटाई के लिए कर रहे थे. इसी दौरान ये सुराही और सिक्के मिले. मनोज ने इन सिक्कों को रगड़ कर साफ किया तो वह तांबे के सिक्के निकले और उन पर उर्दू में लिखा हुआ था. मिले सिक्कों के बारे में अनुमान है कि वह मुगल कालीन हैं.

  • Share this:
बाराबंकी. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बाराबंकी (Barabanki) जिले के एक गांव में तालाब की खुदाई करते समय सिक्कों से भरी सुराही मिली है. इन सिक्कों को ग्रामीणों ने पुलिस के पास जमा कर दिया है. मिली जानकारी के अनुसार थाना दरियाबाद अन्तर्गत ग्राम कांटी मजरे रोहिल्ला नगर में तालाब की खुदाई के दौरान एक सुराही में रखे प्राचीन काल के बने तांबे के 125 सिक्के मिले हैं. खुदाई के समय यह सुराही मिट्टी के नीचे दबी थी और जब खुदाई के समय वह दिखाई पड़ी तो लोग भौंचक्के रह गए. जब गांववालों ने सुराही खोदकर बाहर निकाला तो उसमें मिट्टी से सने सिक्के निकले. जब इन सिक्कों की सफाई की गई तो वह तांबे के बने मिले.

ग्रामीणों ने इन सिक्कों को तत्काल थाने लाकर पुलिस को सौंप दिया. दरअसल तालाब की खुदाई गांव के मनोज यादव घर की पटाई के लिए कर रहे थे. इसी दौरान ये सुराही और सिक्के मिले. मनोज ने इन सिक्कों को रगड़ कर साफ किया तो वह तांबे के सिक्के निकले और उन पर उर्दू में लिखा हुआ था. मिले सिक्कों के बारे में अनुमान है कि वह मुगल कालीन हैं.

कुल 125 सिक्के मिले

पुलिस ने थाने में प्राचीन काल के इन सिक्कों की गिनती कराने के बाद जमा कर लिया है. कुल 125 सिक्के थे. इस संबंध में प्रभारी निरीक्षक शिवाजी सिंह ने बताया कि प्राचीन सिक्कों को थाने में दाखिल कर दिया गया है. मामले की रिपोर्ट पुरातत्व विभाग को भेजी जा रही है.

ये भी पढ़ें:

निर्भया के दोषियों को सुनाया जाए 'गरुण पुराण', इस जेल सुधारक ने भेजा पत्र

CAA को लेकर यूपी में 6 रैलियां करेगी बीजेपी, अमित शाह लखनऊ से करेंगे आगाज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बाराबंकी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 6:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर