होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /बाराबंकी : गड्ढों में तब्दील सड़क पर हिचकोले खाते निकला डिप्टी सीएम केशव मौर्य का काफिला

बाराबंकी : गड्ढों में तब्दील सड़क पर हिचकोले खाते निकला डिप्टी सीएम केशव मौर्य का काफिला

वर्ष 2017 में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य बाराबंकी पहुंचे थे तो गड्ढे में तब्दील सड़कों पर उनका काफिला इसी तरह हिचकोले खाते हुए गुजरा था.

वर्ष 2017 में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य बाराबंकी पहुंचे थे तो गड्ढे में तब्दील सड़कों पर उनका काफिला इसी तरह हिचकोले खाते हुए गुजरा था.

वर्ष 2017 में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य बाराबंकी पहुंचे थे तो गड्ढे में तब्दील सड़कों पर उनका काफिला इसी तरह हिचक ...अधिक पढ़ें

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार 2.0 लगातार दावे कर रही है कि प्रदेश की सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त कर दिया गया है, लेकिन जमीनी हकीकत बिल्कुल अलग है. यहां गड्ढों में तब्दील बाराबंकी की सड़कों से डिप्टी सीएम का काफिला हिचकोले खाते हुए निकला, जिससे डिप्टी सीएम को खुद गड्ढा मुक्त सड़क की हकीकत से सामना हो गया.

आपको बता दें कि डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य एक दिन के दौरे पर जनपद बाराबंकी पहुंचे थे, जहां पर शहर के आवास विकास भवन के पास स्थित सुरजा गेस्ट हाउस उज्ज्वल नगर पहुंचना था. डिप्टी सीएम का काफिला लाव-लश्कर के साथ में सुरजा गेस्ट हाउस के लिए निकल पड़ा. डिप्टी सीएम के काफिले के साथ बाराबंकी पुलिस की भारी भरकम फोर्स चल रही थी. पीछे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की गाड़ियों का काफिला चल रहा था.

ये भी पढ़ें- सीएम योगी आदित्यनाथ के एक महीने के कार्यकाल पर क्या कहता है जनता का ‘रिपोर्ट कार्ड’

शहर में सुरजा गेस्ट हाउस के लिए मुख्य मार्ग से विकास भवन की रोड पर जैसे ही डिप्टी सीएम का काफिला उतरा, तो यहां सड़कों के खस्ता हाल से उन्हें दो-चार होना पड़ा. डिप्टी सीएम की गाड़ियों का काफिला गड्ढे में तब्दील सड़कों में किसी झूले की तरह हिचकोले खाते हुए निकल रहा था. उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य अपनी गाड़ी के अंदर बैठे मुस्कुराने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन उन्हें पता चल गया होगा कि आखिर गड्ढा मुक्त सड़कों की जुमलेबाजी का असली मजा क्या होता है.

ये भी पढ़ें- बालाजी शोभायात्रा पर मुस्लिमों ने बरसाए फूल, हिंदुओं ने मस्जिदों के सामने कम कर दी आवाज़

आपको याद दिला दें कि वर्ष 2017 में जब योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बीजेपी सरकार बनी थी तो राज्य की सभी सड़कों को 6 महीने में गड्ढा मुक्त करने का दावा किया गया था. कुछ दिनों बाद वर्ष 2017 में ही उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य बाराबंकी पहुंचे थे तो गड्ढे में तब्दील सड़कों पर उनका काफिला इसी तरह हिचकोले खाते हुए गुजरा था. इस पर मीडिया के सवालों के जवाब में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा था कि थोड़ा समय दीजिए सब सड़कें सही हो जाएंगी. हालांकि इतने साल बीत जाने के बाद भी सवाल अब भी वैसा ही बरकरार है कि बाराबंकी में ये सड़कें आखिर कब गड्ढा मुक्त हो पाएंगी.

Tags: Keshav prasad maurya, Muddy Road, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें