होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /बाराबंकी के इस अनोखे मंदिर में भक्तों की हर मुराद होती है पुरी, जानिए देवी मां कैसे देती हैं संकेत

बाराबंकी के इस अनोखे मंदिर में भक्तों की हर मुराद होती है पुरी, जानिए देवी मां कैसे देती हैं संकेत

भक्तों के मुताबिक इस चमत्कारी मंदिर में माता अपने भक्तों को उनकी मुराद पूरी होने का संकेत भी देती हैं. उनके मुताबिक जिस ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट-संजय यादव
बाराबंकी जिले में एक चमत्कारी मंदिर ऐसा भी है, जहां बाकी जगह की तरह भोग के लिये मिठाई या लड्डू-पेड़ा नहीं चढ़ाया जाता. बल्कि यहां भक्त माता को सिर्फ नारियल का भोग चढ़ाते हैं. इसके अलावा इस मंदिर का एक रहस्य यह भी है कि यहां देवी मां अपने भक्तों को उन्हीं के चढ़ाये हुए नारियल को चटकाकर उनकी मुराद पूरी होने का संकेत भी दे देती हैं.

मनोकामना सिद्ध मंदिर के नाम से जाना जाने वाला यह स्थान बाराबंकी जिले के सोमैया नगर के पास ढकौली में स्थित है. इस मंदिर के पीछे का रहस्य और यहां की कहानी बेहद ही रोचक व अकल्पनीय है. यहां मंदिर में दूर-दूर से भक्त अपनी-अपनी मनोकामना पूर्ति के लिये पहुंचते हैं. इस मंदिर की खासियत यह है कि यहां माता जी को भोग के रूप में अपना नाम लिखकर या निशान लगाकर नारियल चढ़ाया जाता है.

मुराद पूरी होने का संकेत
भक्तों के मुताबिक इस चमत्कारी मंदिर में माता अपने भक्तों को उनकी मुराद पूरी होने का संकेत भी देती हैं.उनके मुताबिक जिस भक्त की मनोकामना पूरी होनी होती है, उसका नाम लिखा या निशान लगाया नारियल माता के चरणों में चढ़ाने के बाद चटक जाता है.

यकीन करना थोड़ा मुश्किल
कई भक्तों ने बताया कि मंदिर आने से पहले तो इस बात पर यकीन करना थोड़ा मुश्किल होता है कि नारियल अपने आप कैसे चटकता है. लेकिन जब हमने आंखों के सामने नारियल अपने आप चिटकते देखा तो हमें यहां की दैवीय शक्ति का एहसास हो गया. भक्तों के मुताबिक लोगों को भले ही हैरानी होती हो, लेकिन य सच है कि इस मंदिर में देवी मां के चरणों में चढ़ाया गया नारियल अगर चटक जाता है, तो मन की मुराद जरूर पूरी हो जाती है. चाहे वह नौकरी-व्यापार से जुड़ी समस्या हो या फिर किसी की संतान या परिवार से जुड़ी हुई मुराद.

नारियल का प्रसाद के रूप में होता है वितरण
मंदिर की पुजारिन लज्जावती के मुताबिक यहां रोजाना सैकड़ों भक्त देवी मां के चरणों में नारियल चढ़ाकर अपनी-अपनी अर्जी लगाते हैं.जिन भक्तों की मनोकामना पूरी होनी होती है, तीन दिनों के अंदर माता के चमत्कार से उनका नारियल चटक जाता है.फिर वही नारियल भक्तों में प्रसाद के रूप में बांटा जाता है.लेकिन जिनकी मनोकामना पूरी नहीं होनी होती, उनका नारियल महीनों और सालों तक ऐसा ही रखा रहता और वह नहीं फूटता.

Tags: Hindu Temple

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें