बाराबंकी: उफनाई घाघरा ने मचाई तबाही, नाव पर गुजर रही जिंदगी

हालांकि, घाघरा के बढ़ रहे जलस्तर के चलते प्रशासनिक अमला फिर से सक्रिय हो गया है. जो लोग तटबंधों से गांवों को लौटने लगे थे उन्हें फिर से तटबंध पर आने के लिए कहा जा रहा है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 30, 2018, 3:40 PM IST
बाराबंकी: उफनाई घाघरा ने मचाई तबाही, नाव पर गुजर रही जिंदगी
बाढ़ की वजह से नाव पर खाना बनाने को मजबूर एक परिवार
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 30, 2018, 3:40 PM IST
नेपाल की नदियों से छोड़े गए पानी और लगातार बारिश के चलते बाराबंकी में घाघरा का जलस्तर एक बार फिर बढ़ने लगा है. नदी का पानी खतरे के निशान से करीब 81 सेंटीमीटर ऊपर बह रहा है. आलम यह है कि तराई के क्षेत्र में घरबार सब डूब गया है. लोग नाव पर शरण लिए हुए हैं. रहना और खाना सब कुछ बाढ़ के पानी के बीच नाव पर ही गुजर रही है.

हालांकि, घाघरा के बढ़ रहे जलस्तर के चलते प्रशासनिक अमला फिर से सक्रिय हो गया है. जो लोग तटबंधों से गांवों को लौटने लगे थे उन्हें फिर से तटबंध पर आने के लिए कहा जा रहा है. लेकिन घाघरा के बढ़ते-घटते जलस्तर से तराई इलाके में मची तबाही रुकने का नाम नहीं ले रही. नदी का जलस्तर फिर बढ़ने से बाढ़ग्रस्त इलाकों के हालात अचानक बिगड़ने लगे हैं.

बाढ़ पीड़ितों के सामने पहले से ही दो वक्त की रोटी जुटाने का संकट था. अब तो आलम यह है कि लोग नाव पर ही किसी तरह वक्त गुजार रहे हैं. कई जगह लोगों का कहना है कि राहत के नाम पर जो सामग्री बांटी गई थी वह खत्म हो चुकी है. घरों में रखा अनाज भी घाघरा बहा ले गई. बाढ़ पीड़ित तमाम परिवार तो दाने-दाने को मोहताज हैं. इसके अलावा खाना पकाने के लिए लकड़ियां तक नहीं मिल पा रही हैं, क्योंकि चारों तरफ पानी भरा है. इंसानों के साथ ही जानवरों के लिए चारे का भी संकट खड़ा हो रहा है.

उधर, बाढ़ की मौजूदा स्थिति पर बाराबंकी के एडीएम संदीप कुमार गुप्ता का कहना है कि नदी का पानी एक बार फिर बढ़ रहा है. जलस्तर अभी भी खतरे के निशान से करीब 81 सेंटीमीटर ऊपर है. एडीएम ने बताया कि बाढ़ पीड़ितों में समय-समय पर राहत सामग्री का वितरण कराया जाता है. मवेशियों के लिए चारे की भी व्यवस्था कराई गई है. बाढ़ पीड़ितों को हर संभव मदद की जा रही है.

(रिपोर्ट: अनिरुद्ध शुक्ला)

ये भी पढ़ें: 

ओमप्रकाश राजभर ने दी शिवपाल को ये नसीहत, बोले- 2024 तक बीजेपी के साथ

सीएम योगी के 'सांप' बयान पर विधानसभा में जमकर हंगामा, काली पट्टी बांधकर सदन पहुंचा विपक्ष

गोंडा: ट्विटर पर शेयर की धार्मिक उन्माद फैलाने के लिए फर्जी तस्वीर, केस दर्ज
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर