बाराबंकी: पैसों के लिए नाबालिग पोती की जबरदस्ती करा दी अधेड़ से शादी

शादी के बाद से ही नाबालिग लड़की के ऊपर जुल्म ढाहे जा रहे हैं. कुछ दिन तो उसने अपने ऊपर हो रहे जुल्मों को बर्दाश्त किया, लेकिन जब हद हो गई तो उसने लोगों से अपना दर्द बताना शुरू किया. जिसके बाद मामला थाने तक पहुंचा और पति को पुलिस ने हिरासत में लिया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 11, 2018, 12:10 PM IST
बाराबंकी: पैसों के लिए नाबालिग पोती की जबरदस्ती करा दी अधेड़ से शादी
नाबालिग लड़की से पूछताछ करती पुलिस
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 11, 2018, 12:10 PM IST
राजधानी लखनऊ से सटे बाराबंकी जिले में एक नाबालिग लड़की की जबरन शादी कराने का मामला सामने आया है. आरोप है कि लड़की के दादा ने पैसों के लालच में उसकी शादी एक अधेड़ से करवा दी. मामला जिले के अंसद्रा थाने के कादिरपुर गांव का है.

शादी के बाद से ही नाबालिग लड़की के ऊपर जुल्म ढाहे जा रहे हैं. कुछ दिन तो उसने अपने ऊपर हो रहे जुल्मों को बर्दाश्त किया, लेकिन जब हद हो गई तो उसने लोगों से अपना दर्द बताना शुरू किया. जिसके बाद मामला थाने तक पहुंचा और पति को पुलिस ने हिरासत में लिया. लेकिन नाबालिग को न्याय फिर भी नहीं मिला और उसके अधेड़ पति को पुलिस ने छोड़ दिया. जबकि नाबालिग से शादी करना और कराना कानून जुर्म है फिर भी पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं.

डरी सहमी पीड़ित लड़की ने बताया कि उसे बिना बताए उसकी शादी करा दी गई. उसका आरोप है कि पति ने उसके साथ एक दिन मारपीट भी की. लड़की से जब यह पूछा गया कि क्या उसके दादा ने पैसों के लिए अधेड़ उम्र के शख्स के साथ उसकी शादी कराई तो उसने इस बात से इनकार नहीं किया.
उधर लड़की के पति रामराज ने बताया कि उसने 15 दिन पहले लड़की से शादी की थी और हमको कोई परेशानी नहीं है. लड़की को परेशान करने और पैसे देकर शादी करने की बात पर रामराज ने बताया कि उसने ऐसा कुछ नहीं किया. लड़की की उम्र पूछने पर रामराज ने हड़बड़ाते हुए कहा कि जो लड़की ने बताया वही सही है. रामराज ने कहा कि वह लड़की को किसी तरह से परेशान नहीं करता. उसने बताया कि असंद्रा थाने की पुलिस उसे पकड़ कर भी ले गई थी और बाद में थोड़ दिया.

वहीं इस मामले में बाराबंकी कि पुलिस अधीक्षक वीपी श्रीवास्तव ने बताया कि प्रकरण मेरे संज्ञान में आया है. अगर वह लड़की नाबालिग है तो पुलिस इसमें सख्त कार्रवाई करेगी. एसपी ने बताया कि सीओ राम रामसनेहीघाट को इस पूरे मामले की जांच करने के निर्देश देने जा रहा हूं. अगर लड़की नाबालिग है और परिजनों के साथ नहीं रहना चाहती तो हम उसे कोर्ट में पेश करेंगे. वहीं इस मामले में नाबालिग की शादी कराने के मामले की भी जांच होगी. लड़की के पति को थाने लाने और फिर छोड़ देने के सवाल पर भी एसपी ने कहा कि मैं सीओ रामसनेहीघाट से इस बात की भी जांच करवाऊंगा.

(रिपोर्ट: अनिरुद्ध शुक्ला)

यह भी पढ़ें:
Loading...
जिस मंच से विवेकानंद ने दिया था भाषण, 125 साल बाद वाराणसी के शख्स को मिला मौका

यूपी पुलिस के शस्त्रागार में अब नहीं रहेगी दूसरे विश्व युद्ध की एनफील्ड राइफल
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर