• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • मुख्तार अंसारी की नई चिंता, कहा- डर है सरकार खाने में जहर न दे दे

मुख्तार अंसारी की नई चिंता, कहा- डर है सरकार खाने में जहर न दे दे

मुख्तार अंसारी ने अपनी हत्या की सुपारी दिए जाने की बात के बाद अब कहा कि उसके खाने में जहर मिलाया जा सकता है.

मुख्तार अंसारी ने अपनी हत्या की सुपारी दिए जाने की बात के बाद अब कहा कि उसके खाने में जहर मिलाया जा सकता है.

मुख्तार अंसारी ने एमपी-एमएलए कोर्ट में सुनवाई के दौरान कहा कि राज्य सरकार ने राजनीतिक विरोध के चलते छीनी मेरी उच्च श्रेणी की सुरक्षाएं, जेल में मेरी जान को है खतरा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    बाराबंकी. बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी ने गुरुवार को एमपी-एमएलए कोर्ट में एंबुलेंस मामले की सुनवाई के दौरान कहा कि उसे उच्च श्रेणी की सुविधाएं प्रदान की जाएं. इसके साथ ही उसने शंका जताई कि उसे डर है कि कहीं राज्य सरकार उसके खाने में जहर न मिलवा दे. उसने कहा कि यदि उसे जेल में उच्च श्रेणी की सुविधाएं मुहैया करवाई जाती हैं तो उसके मन से ये डर खत्म हो जाएगा.

    अंसारी ने अदालत से कहा कि विधायक होने के नाते मुझे उच्च श्रेणी की सुविधाएं मुहैया करा दीजिए, वैसे भी मुझसे राज्य सरकार नाराज है और डर है कि वह कहीं खाने में जहर न मिलवा दे. उच्च श्रेणी की सुविधा मिलने पर खाना अलग बनाया जाएगा ऐसे में जहर मिलाने की शंका खत्म हो जाएगी. उसने कहा कि पहले की सरकारों में उसे जेल में उच्च श्रेणी की सुविधा मिलती थी लेकिन वर्तमान सरकार ने राजनीतिक विरोध के चलते मेरी ये सुविधाएं छीन ली हैं. वकील ने बताया कि अंसारी को उच्च श्रेणी की सुविधाएं देने के मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख 7 अक्टूबर तय की गई है. उन्होंने बताया कि न्यायाधीश कमलकांत श्रीवास्तव ने कहा कि इस मामले में जल्द ही फैसला दिया जाएगा.

    पहले कहा था, हत्या की सुपारी दी
    इससे पहले, अगस्त में सुनवाई के दौरान अंसारी ने आरोप लगाया था कि जेल के अंदर उसकी हत्या के लिए पांच लाख रुपये की सुपारी दी गई है. अंसारी को पंजाब में अदालत और जेल के बीच लाने-ले जाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली बुलेटप्रूफ एम्बुलेंस के पंजीकरण में कथित जालसाजी और धोखाधड़ी के मामले में अदालत में पेश किया गया था.
    गौरतलब है कि पंजाब की रोपड़ जेल से लाए जाने के बाद अंसारी कई आपराधिक मामलों में विचाराधीन कैदी के रूप में बांदा जेल में बंद है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज