अस्थि कलश यात्रा पर कांग्रेस का तंज, कहा- जीते जी की उपेक्षा, अब कर रहे हैं राजनीति

पीएल पुनिया ने कहा कि अटल बिहारी वायपेयी देश के बहुत सम्मानित राजनेता रहे. अटल जी कभी दलगत राजनीति में विश्वास नहीं रखते थे, जिसके चलते लोगों ने हमेशा उनको पसंद किया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 23, 2018, 10:18 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 23, 2018, 10:18 PM IST
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अस्थि कलश लखनऊ पहुंच चुका है. ये कलश शुक्रवार को बाराबंकी जिले से होते हुए बलरामपुर और अयोध्या की तरफ जाएगा. अटल जी की कलश यात्रा के लिए बीजेपी ने जिले में सारे इंतजाम भी कर लिए हैं. एक तरफ तो बीजेपी अटल जी की अस्थियों को पूरे हिंदुस्तान की तमाम नदियों में पहुंचाना चाहती है तो वहीं दूसरी तरफ उसके विरोधी इसे राजनीतिक स्टंट करार दे रहे हैं.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया ने भी इसको लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है.
पीएल पुनिया ने कहा कि अटल बिहारी वायपेयी देश के बहुत सम्मानित राजनेता रहे. अटल जी कभी दलगत राजनीति में विश्वास नहीं रखते थे, जिसके चलते लोगों ने हमेशा उनको पसंद किया. अटल जी की मृत्यु के बाद परिवार के लोग उनकी अस्थियां हरिद्वार में विसर्जित भी कर आए. अब बीजेपी के लोग जिस तरह उनके अस्थि कलशों को लेकर पूरे हिंदुस्तान में जा रहे हैं, वह केवल और केवल राजनीतिक लाभ उठाने के लिए कर रहे हैं.

यूपी विधानसभा में अटल बिहारी वाजपेयी को दी गई श्रद्धांजलि, सदन सोमवार तक स्थगित

पुनिया ने कहा कि अटल जी जब जिंदा थे तब बीजेपी में उनकी घोर उपेक्षा हुई. चुनाव के दौरान बीजेपी के किसी पोस्टर-होर्डिंग में अटल जी की फोटो और नाम नहीं था. केवल नरेंद्र मोदी और अमित शाह ही बीजेपी के हर पोस्टर-होर्डिंग में छाए हुए थे. इसके अलावा अटल जी के करीबी रहे आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का आज पार्टी में क्या हाल है, ये सभी जानते हैं. इसलिए बीजेपी को अटल जी के नाम पर ज्यादा राजनीति नहीं करनी चाहिए.

अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थि कलश को हर चौराहे पर रिसीव करेंगे योगी के मंत्री

पुनिया ने कहा कि बीजेपी ने सरकार बनाने से पहले 2014 में जनता से जो वादे किए थे, उसका उन्हें हिसाब देना चाहिए. इसके अलावा बीजेपी को अच्छे दिन के जुमले पर भी जवाब देना चाहिए. पुनिया ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी सरकार हर मोर्चे पर फेल हो चुकी है और 2019 में जनता इनको पूरी तरह से नकारने का मन बना चुकी है.
Loading...
मानसून सत्र से पहले सपा विधायकों का विधानसभा के बाहर प्रदर्शन

वहीं सपा-बसपा के साथ गठबंधन में कांग्रेस के शामिल होने के सवाल पर पुनिया ने कहा कि हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने पहले ही आह्वाहन किया है कि सभी विपक्षी दल मिलकर बीजेपी-आरएसएस के प्रत्याशियों को हराएंगे. राहुल गांधी कह चुके हैं कि हम हर जगह गठबंधन का प्रयास करेंगे और जहां-जहां संभव होगा हम मिलकर चुनाव लड़ेंगे. गंठबंधन को लेकर हमारी पार्टी आलाकमान के नेता रणनीति बना रहे हैं और समय आने पर उसका ऐलान भी किया जाएगा. हम लोग मिलकर बीजेपी की सरकार को हटाएंगे और देशहित में जनका की अपनी सरकार बनाएंगे.
(अनिरुद्ध शुक्ला की रिपोर्ट)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर