Home /News /uttar-pradesh /

जल तांडव से जूझ रहा बाराबंकी, प्रशासनिक अधिकारी और नेता नहीं ले रहे बाढ़ पीड़ितों की सुध

जल तांडव से जूझ रहा बाराबंकी, प्रशासनिक अधिकारी और नेता नहीं ले रहे बाढ़ पीड़ितों की सुध

बाढ़ से जूझ रहे बाराबंकी के कई गांव

बाढ़ से जूझ रहे बाराबंकी के कई गांव

Barabanki News: बाराबंकी की तहसील रामनगर इलाके के गांव सुन्दर नगर में हमारी टीम बाढ़ पीड़ितों का हाल जानने पहुंची. जब हम यहां पहुंचे तो देखा कि जिधर नजर डालो पानी ही पानी नजर आता है. लोग घुटने बराबर पानी में आते जाते दिखायी दिए.

बाराबंकी. जब-जब जिले में तेज मूसलाधार बारिश (Rainfall) हुई है और नेपाल (Nepal) ने अपना पानी सरयू नदी (Saryu River) में छोड़ा है, तब-तब नदी के किनारे बसे गांवों पर बाढ़ (Flood) की आफत ही आयी है. गांव में प्रशानिक इंतजाम क्या-क्या है इसकी पड़ताल करने के लिए न्यूज़ 18 की टीम ग्राउंड जीरो पर पहुंची और लोगों से उनका हाल जाना. यहां बाढ़ पीड़ित ग्रामीण प्रशानिक अधिकारियों और क्षेत्रीय विधायक से काफी नाराज दिखे और बताया कि विधायक सिर्फ वोट मांगने आएंगे. उनकी परेशानी से उनको कोई वास्ता नहीं है.

बाराबंकी की तहसील रामनगर इलाके के गांव सुन्दर नगर में हमारी टीम बाढ़ पीड़ितों का हाल जानने पहुंची. जब हम यहां पहुंचे तो देखा कि जिधर नजर डालो पानी ही पानी नजर आता है. लोग घुटने बराबर पानी में आते जाते दिखायी दिए. रास्ते में पानी, घरों में पानी, घर के बाहर पानी तो है मगर यह पानी भोजन बनाने के लिए बेकार है. पानी की वजह से लकड़ियां भी गीली हो गयी है, जिसे जलाकर वह परिवार के लिए भोजन तैयार नहीं कर सकते.

प्रशासन और स्थानीय विधायक से नाराज दिखे ग्रामीण
ग्रामीणों की परेशानी सिर्फ यहीं खत्म नही होती ,बल्कि सुबह की दैनिक क्रिया में भी यह पानी बाधक बना हुआ है. यहां के ग्रामीणों से जब हमने बात की तो उनकी नाराजगी साफ दिखाई दी. उनका कहना था कि अब तक यहां प्रशासन का कोई अधिकारी मदद के लिए नहीं आया है. यहां  तक कि राशन भी अब तक उन्हें नही मिला है. क्षेत्रीय विधायक से वह ज्यादा नाराज दिखे. उनका कहना है कि विधायक जी सिर्फ वोट मांगने आयेंगे. उनकी इस परेशानी से उनका कोई वास्ता नहीं है.

Tags: Barabanki News, Flood, UP news, Up news in hindi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर