सामने आया यूपी की मित्र पुलिस का अमानवीय चेहरा, घायल युवक के साथ जानवरों जैसा सलूक

दरअसल, बाराबंकी रेलवे स्टेशन से थोड़ा पहले रेट नदी के पुल पर एक शख्स चलती ट्रेन से गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 14, 2018, 3:25 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 14, 2018, 3:25 PM IST
यूपी की पुलिस का अमानवीय चेहरा एक बार फिर सामने आया है. बाराबंकी में ट्रेन से गिरकर गंभीर रूप से घायल शख्स के साथ जानवरों जैसा बर्ताव किया गया. स्ट्रेचर पर ले जाने की जगह युवक को सिपाहियों ने हाथ-पैर पकड़कर टांग कर ले गए. इसका वीडियो अब वायरल हो रहा है.

दरअसल, बाराबंकी रेलवे स्टेशन से थोड़ा पहले रेट नदी के पुल पर एक शख्स चलती ट्रेन से गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया. जिसके बाद ट्रैक से गुजर रही मालगाड़ी के गार्ड की नजर घायल शख्स पर पड़ी और उसने बाराबंकी रेलवे स्टेशन के एएसएम को वायरलेस मैसेज से जानकारी दी. सूचना पर पहुंची जीआरपी पुलिस ने घायल को अस्पताल ले जाने के लिए एम्बुलेंस बुलवाई. लेकिन एम्बुलेंस न पहुंचने के चलते मौके पर आई डायल 100 पुलिसकर्मियों ने घायल शख्स के साथ जानवरों जैसा बर्ताव किया. मौके पर मौजूद किसी चश्मदीद ने इस पूरी घटना को अपने मोबाइल में कैद कर लिया, जो अब वायरल हो रहा है.

इन पुलिसकर्मियों ने दर्द से कराह रहे घायल शख्स को गाड़ी में ऐसे भरा जैसे वह कोई इंसान नहीं जानवर हो. घायल को हाथ-पैर से उठाकर उसे गाड़ी की पिछले हिस्से में पटक दिया और लेकर चले गए.
वर्दीधारियों की इस हरकत के बाद पुलिस की एक बार फिर किरकिरी हो रही है. वहीं जानकारी के मुताबिक घायल शख्स का नाम जगन पुत्र अमरनाथ है और वह महाराजगंज जिले में कोठीभार थाने के ग्राम बन्नीलाल बिलासपुर का रहने वाला है. वह गोरखपुर से यशवंत नगर जा रहा था. घायल शख्स को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

वहीं पुलिसकर्मियों के ऐसे रवैये पर बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक वीपी श्रीवास्तव ने कहा कि इस तरह की लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं होगी. डायल 100 की गाड़ी में स्ट्रेचर की व्यवस्था है उसके बावजूद पुलिसकर्मी इस तरह से घायल शख्स को लेकर गए. मैंने इस पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

(रिपोर्ट: अनिरुद्ध शुक्ला)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर