स्मार्ट सिटी में आया बरेली का नाम, अतिक्रमण को लेकर सख्त हुआ प्रशासन

दरअसल बरेली में इन दिनों अतिक्रमण अभियान जोरो पर है. शहर भर में भाजपा के मेयर उमेश गौतम की जेसीबी दौड़ रही है. शहर में ऐसे इलाको में जेसीबी दौड़ी जहां पूर्व की सरकार कभी हिम्मत नहीं जुटा पाई.

HARISH SHARMA | ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 21, 2018, 12:08 PM IST
HARISH SHARMA | ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 21, 2018, 12:08 PM IST
बरेली का नाम स्मार्ट सिटी में आने के बाद यहां का निगम प्रशासन अतिक्रमण को लेकर सख्त होता नजर आ रहा है. दिन निकलते ही निगम की टीम शहर के अतिक्रमण वाले इलाकों में अभियान चला रही है. ऐसे में अतिक्रमण हटाओ टीम को विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है.

टीम पर आरोप है कि टीम राजनीतिक द्वेष भावना से काम कर रही है. सपा नेता और पूर्व मेयर डॉ आईएस तोमर ने प्रदेश की योगी सरकार और नगर निगम की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा की प्रदेश में केवल दो काम हो रहे हैं जिनमें बजट की आवश्यकता नहीं. जिनमें कोई पैसा खर्च नहीं हो रहा वो है अतिक्रमण और एनकाउंटर.

दरअसल बरेली में इन दिनों अतिक्रमण अभियान जोरो पर है. शहर भर में भाजपा के मेयर उमेश गौतम की जेसीबी दौड़ रही है. शहर में ऐसे इलाको में जेसीबी दौड़ी जहां पूर्व की सरकार कभी हिम्मत नहीं जुटा पाई.

पुराने शहर से लेकर शहर की पॉस कालोनियों से भी अतिक्रमण हटाया जा रहा है. चाहे वो आमिर हो या गरीब , नेता हो या व्यापारी भाजपा मेयर की जेसीबी बड़े से बड़ा अतिक्रमण ढहा दे रही है. कई अवैध दुकानों , स्कूल ,घरों पर भी जेसीबी चल चुकी है और मंगलवार को शहर के पॉस इलाके रामपुर गार्डन में भी जेसीबी चली.

इतना ही नहीं पूर्व मेयर डॉ आईएस तोमर के घर और अस्पताल की भी नपाई हुई. वहां भी जेसीबी चल सकती है. बड़ों-बड़ो का अतिक्रमण हटवाया जा रहा है. अच्छी बात है. लोग खुश भी है की सड़के चौड़ी होगी. जाम से निजात भी मिलेगी.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...