बरेली: प्रेम विवाह के बाद युवती ने Video जारी कर लगाई सुरक्षा की गुहार, पढ़ें पूरी कहानी

प्रेम विवाह के बाद युवती ने Video जारी कर लगाई सुरक्षा की गुहार (file photo)
प्रेम विवाह के बाद युवती ने Video जारी कर लगाई सुरक्षा की गुहार (file photo)

एसएसपी (SSP) रोहित सिंह सजवान का कहना है कि वायरल वीडियो (Viral Video) के माध्यम से प्रकरण संज्ञान में आया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2020, 6:12 PM IST
  • Share this:
बरेली. अंतरजातीय प्रेम विवाह (Inter Caste Marriage) के बाद चर्चा में आईं बरेली (Bareilly) की साक्षी मिश्रा (Sakshi Mishra) के बाद रविवार को एक युवती ने वीडियो जारी करके अपनी सुरक्षा की गुहार पुलिस से लगाई है. युवती ने सोशल मीडिया में वीडियो वायरल करके परिजनों से जान का खतरा बताया है. परिजनों की नाराजगी के बाद युवती ने हाईकोर्ट में भी सुरक्षा की गुहार लगाई है, जहां से पुलिस को सुरक्षा देने के दिशा निर्देश दिए गए हैं. वीडियो वायरल होने के बाद एसएसपी ने भोजीपुरा थाना प्रभारी को आवश्यक कार्रवाई करने के साथ-साथ सुरक्षा मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं.

दरअसल, बरेली के भोजीपुरा थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली राधा (काल्पनिक नाम) ने अपने ही गांव के रहने वाले संजू प्रजापति से आर्य समाज मंदिर में प्रेम विवाह किया था. दोनों की जाति अलग-अलग होने के कारण लड़की के परिवार ने इस कदम को लेकर नाराजगी जताई. जिसके बाद राधा अपने पति संजू को गांव से लेकर कही दूर सुरक्षित स्थान पर निकल गई. सामाजिक बदनामी का जिक्र करते हुए राधा के परिजनों ने उसे काफी डराया धमकाया था. जिस कारण वह अब अपने मायके वालों के साथ नहीं रहना चाहती. लड़की ने एक गाड़ी के अंदर बैठकर दो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किए हैं जिसमें वह अपने मायके वालों से जान का खतरा बता रही है.

प्रेम विवाह से नाराज परिजन



वीडियो में युवती का कहना है कि उसने अपने प्रेमी के साथ फरवरी में विवाह किया था जो उसके परिजनों को नागवार गुजरा. प्रेम विवाह होने की जानकारी रखने के बावजूद उसके परिजनों ने उसका दो जगह रिश्ता पक्का किया था. यही वजह से अब वह घर छोड़कर चली आई है और अपनी मर्जी से अपने पति के साथ रह रही है. लेकिन परिजन इसे नाराज हैं और अब उसके ससुराल पक्ष और पति को हत्या करने की धमकी दे रहे हैं.
उच्च न्यायालय के आदेश की अवमानना

युवती ने वीडियो में यह भी बताया कि वह कोर्ट का आदेश लेकर पुलिस अफसरों के चक्कर काट रही है, लेकिन पुलिस के अफसरों का भी उसकी सुरक्षा को लेकर कोई सकारात्मक रुख नहीं है. इतना ही नहीं एसएसपी को भेजे एक पत्र में युवती का कहना है कि भोजीपुरा पुलिस मेरे मायके वालों से सांठगांठ करके मेरे ससुर व देवर को परेशान कर रही है, जो माननीय उच्च न्यायालय के आदेश की अवमानना भी है.

एसएसपी बोले- लड़की नाबालिग

बरेली के एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि इस प्रकरण में एक नाबालिग युवती को भगा ले जाने का मुकदमा दर्ज है. प्रेम विवाह के बाद दोनों लोग हाईकोर्ट गए थे. हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि अगर इनके दस्तावेज फर्जी पाए जाएं तो कार्रवाई की जाए. युवती की जन्मतिथि फर्जी पाई गई है. एसएसपी के मुताबिक कुछ लोग पुलिस की गिरफ्तारी से बचने के लिए वीडियो बनाकर वायरल कर रहे हैं. लड़के की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज