लाइव टीवी

जब PM बिन बुलाए नवाज शरीफ से मिलने गए थे तभी युद्ध हो जाना चाहिए था: आजम खान

HARISH SHARMA | News18 Uttar Pradesh
Updated: March 1, 2019, 8:56 PM IST

आजम खान ने कहा कि युद्ध तो उसी वक्त हो जाना चाहिए था जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिन बुलाए नवाज शरीफ के पास पहुंच गए थे.

  • Share this:
अभिनंदन की वतन वापसी पर जहां पूरा देश खुशियां मना रहा है वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने चिरपरिचित अंदाज में विवादित बयान दे रहे हैं. ऐसे लोगों की फेहरिस्त में एक नाम सपा नेता आजम खान का भी है. आजम खान ने अभिनंदन की वापसी पर कहा कि यह सच्चाई की जीत है. वहीं उन्होंने लगे हाथ पीएम मोदी पर तंज कस दिया. आजम ने कहा कि युद्ध तो उसी वक्त हो जाना चाहिए था जब प्रधानमंत्री बिन बुलाए नवाज शरीफ के पास पहुंच गए थे.

आजम खान इतने पर ही नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि मोदी इस पूरे मामले पर राजनीति कर रहे हैं. भारतीय मुसलमानों पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि हम तो हिंदुस्तान में किराएदार हैं. हम तो इस देश में तीसरे नम्बर के नागरिक हैं. हमारी मिल्कियत तो 1947 में ही खत्म हो गई थी. हम तो 2 साल से कह रहे हैं कि सरकार को मुसलमानों का वोटिंग का अधिकार खत्म कर देना चाहिए. आजकल मुसलमानों के बारे में जो कहा जा रहा है वह कितना निंदनीय है.

अभिनंदन की वतन वापसी पर BJP नेता बोले- मोदी है तो सब मुमकिन है

हालांकि पकिस्तान के अभिनंदन के वापस भेजने के फैसले पर आजम खान बोले ये सच्चाई की जीत है. इससे ज्यादा खुशी की बात नहीं हो सकती. ये मान, सम्मान, इज़्ज़त, प्यार की भी जीत है. वैसे ये पहली बार नहीं है जब आजम खान मुसलमानों और पीएम मोदी को लेकर कुछ कहते हैं तो वह हमेशा सुर्खियों में आ जाता है.

विश्व रिकॉर्ड: UP के युवा कलाकार ने छोटे से बादाम पर बनाई है अभिनंदन की अनोखी तस्वीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बरेली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 1, 2019, 7:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...