लाइव टीवी

बरेली: रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किए गए लेखपाल
Bareilly News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 21, 2020, 4:05 PM IST
बरेली: रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किए गए लेखपाल
बरेली जिले में तैनात एक लेखपाल को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया है. (लेखपाल की प्रोफाइल फोटो)

बरेली (Bareilly) की नवाबगंज तहसील में तैनात लेखपाल रामचन्द्र पर आरोप है कि वे पिछले काफी समय से जमीन की नाप के नाम पर जनता से अवैध वसूली कर रहे हैं. एंटी करप्शन टीम (Anti Corruption Team) ने जाल बिछाकर रिश्वत (Bribe) लेते उन्हें रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया.

  • Share this:
बरेली. बरेली (Bareilly) की एंटी करप्शन टीम (Anti Corruption Team) ने 4 हजार रुपए की रिश्वत लेते लेखपाल को तहसील परिसर से रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. लेखपाल रामचन्द्र बरेली की नवाबगंज तहसील में तैनात हैं और पिछले काफी समय से जमीन की नाप के नाम पर जनता से अवैध वसूली कर रहे थे.

खेत में चकरोड न निकालने के बदले मांगी थी 10 हजार रुपए की रिश्वत
एंटी करप्शन टीम के प्रभारी सुरेंद्र सिंह का कहना है कि नवाबगंज तहसील के गांव नकटपुर निवासी रामपाल सिंह ने लखनऊ जाकर एंटी करप्शन के एसपी से लिखित शिकायत की थी. शिकायत में उन्होंने लिखा था कि नवाबगंज तहसील के लेखपाल रामचंद्र ने उनकी पत्नी सर्वेश कुमारी के नाम दर्ज खेत में चकरोड न निकालने के बदले 10 हजार रुपए की रिश्वत मांगी है. वादी ने लेखपाल से मोल-भाव कर 4 हजार रुपए में काम कराने का वादा कर लिया. इसके बाद उन्होंने एंटी करप्शन टीम से मदद ली.

भ्रष्टाचार के आरोप में दर्ज की गई एफआईआर



अब रामपाल की शिकायत के बाद एंटी करप्शन की बरेली यूनिट ने सबसे पहले डीएम ऑफिस जाकर दो स्वतंत्र गवाह तैयार किए. इसके बाद टीम ने नवाबगंज तहसील परिसर में लेखपाल रामचन्द्र को चार हजार रुपए रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया. इसके बाद टीम प्रभारी की तरफ से उसे तत्काल गिरफ्तार कर थाना नवाबगंज में भ्रष्टाचार के आरोप में एफआईआर दर्ज करा दी गई. इसके बाद आरोपी लेखपाल को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया.



घूस लेने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं कर्मचारी
आपको बता दें कि पिछले 2 महीने में एंटी करप्शन की टीम बरेली में ही है. लोगों को रिश्वत लेते हुए ट्रैप कर जेल भेजा है, जबकि उत्तर प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर बेहद सख्त है. सरकार का साफ निर्देश है कि यूपी में भ्रष्टाचार फैलाने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को कतई माफ नहीं किया जाएगा. बावजूद इसके सरकारी कर्मचारी घूस लेने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं. सीएम के सख्त निर्देश के बाद एंटी करप्शन की टीम लगातार सख्त कार्रवाई कर रही है.

रिपोर्ट - हरीश शर्मा

ये भी पढे़ं - 

JNU में फिर हिंसा: एक छात्र ने ABVP पर मारपीट करने का लगाया आरोप

निर्भया गैंगरेप: दोषी पवन की याचिका खारिज, पीड़िता के पिता हुए खुश, कही ये बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बरेली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 21, 2020, 4:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading