बरेलीः कर्जदारों के तकादे से परेशान युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

मृतक ने पत्नी के इलाज के लिए एक स्थानीय सूदखोर से 50 हजार रुपया उधार लिया था, लेकिन समय पर कर्ज नहीं चुकाने से कर्ज की रकम दो वर्ष में बढ़कर ढाई लाख रुपए हो गई, जिसे चुकाने में मृतक असमर्थ था

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 8, 2018, 9:08 PM IST
बरेलीः कर्जदारों के तकादे से परेशान युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान
प्रतिकात्मक फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 8, 2018, 9:08 PM IST
बरेली जिले में बुधवार को एक युवक ने कर्जदारों के तकादे से तंग आकर ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी. सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मामले की छानबीन शुरु की है. मृतक की पहचान नीरज के रूप में हुई है.

यह भी पढ़ें-बरेली: गरीबी से तंग आकर मां-बेटी ने की खुदकुशी, DM बोले- मिला रहा था राशन

दरअसल, मृतक ने पत्नी के इलाज के लिए एक स्थानीय सूदखोर से 50 हजार रुपया उधार लिया था, लेकिन समय पर कर्ज नहीं चुकाने से कर्ज की रकम दो वर्ष में बढ़कर ढाई लाख रुपए हो गई, जिसे चुकाने में मृतक असमर्थ था. बताया जाता है सूदखोर कर्ज के पैसों के लिए मृतक को लगातार प्रताड़ित कर रहा था.

यह भी पढ़ें-पति गैरमर्दों से हमबिस्तर होने का बनाता था दबाव, इनकार करने पर दिया तलाक!

रिपोर्ट के मुताबिक थाना फरीदपुर क्षेत्र निवासी मृतक नीरज ने स्थानीय सूदखोर अशोक से 1 वर्ष पूर्व ब्याज पर 50 हजार रुपए लिए थे, लेकिन कर्ज लेने के दो वर्ष बाद भी मृतक उधार के पैसे मय सूद चुकाने में असमर्थ हो गया, जिससे कर्ज की रकम दो वर्ष में ढाई लाख रुपए हो गई और कर्जदार पैसे की वसूली के लिए उसे लगातार धमकी देने लगा, जिससे परेशान होकर नीरज ट्रेन के आगे कूदकर अपनी इहलीला समाप्त कर ली.

यह भी पढें-जिस्म का धंधा करवाकर अपनी ही बीवी का दलाल बनना चाहता था शौहर

मृतक की मां कुसुम देवी का आरोप है कि सूदखोर अशोक अपने साथियों के साथ आकर उसके मकान पर कब्जा करने की धमकी देता था, जिससे नीरज टूट गया. पीड़ित मां के मुताबिक पिता की मौत के बाद घर की सारी जिम्मेदारी नीरज के कंधों पर थी. आरोपी सूदखोर के खिलाफ परिवार की ओर से दी गई तहरीर के बाद पुलिस ने तफ्तीश शुरू कर दी है.

(रिपोर्ट-हरीश शर्मा, बरेली)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर