Assembly Banner 2021

शादी के बाद युवती और उसके पति को ब्लैकमेल करता था Ex Boyfriend, भेजता था अश्लील Video

उत्तर प्रदेश में एक 20 वर्षीय युवती ने अपने पूर्व प्रेमी पर बलात्कार और ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया है.

उत्तर प्रदेश में एक 20 वर्षीय युवती ने अपने पूर्व प्रेमी पर बलात्कार और ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया है.

उत्तर प्रदेश में एक 20 वर्षीय युवती ने अपने पूर्व प्रेमी पर बलात्कार और ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया है. पूर्व प्रेमी उसकी दूसरी जगह शादी होने के बाद उसे और उसके पति को ब्लैकमेल कर रहा था. इसके बाद विवाहिता को उसके पति ने उसके घर भेज दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 12:08 AM IST
  • Share this:
बरेली. उत्तर प्रदेश में एक 20 वर्षीय युवती ने अपने पूर्व प्रेमी पर बलात्कार और ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया है. पूर्व प्रेमी उसकी दूसरी जगह शादी होने के बाद उसे और उसके पति को ब्लैकमेल कर रहा था. इसके बाद विवाहिता को उसके पति ने उसके घर भेज दिया. इस पर युवती ने पुलिस से संपर्क किया और अपने पूर्व प्रेमी को "बलात्कार" के आरोप में जेल भिजवा दिया. उसने अपनी शादी के एक हफ्ते बाद कथित तौर पर अपने पति के लिए "समझौता करने वाले वीडियो" भेजे थे. शख्स को शुक्रवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.

पुलिस के अनुसार, उसके पति ने कथित वीडियो क्लिप देखने के बाद उसे घर वापस भेज दिया था. पीडि़त महिला जिसने 8 फरवरी को शादी की थी. अपने साथ हुई इस घटना के बाद स्थानीय बनियाठेर पुलिस थाने में चली गई और उसके "दोस्त" के खिलाफ आईपीसी की धारा के तहत बलात्कार और आईटी अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई.

आरोपी 22 वर्षीय युवक नखासा का रहने वाला है और एक कपड़ा फैक्ट्री में काम करता था. इस युवक का संपर्क युवती के परिवार से था और वह उसके घर आता जाता था. उसने किसी तरह महिला से दोस्ती की और "उनके अफेयर के वीडियो" बनाए. पुलिस ने कहा कि उस आदमी ने वीडियो का इस्तेमाल ब्लैकमेल करने और बलात्कार करने के लिए करना शुरू कर दिया.



पुलिस ने बताया कि "हमने शिकायतकर्ता महिला के पति को भेजे गए वीडियो बरामद किए हैं. शिकायतकार्ता महिला ने कहा कि उसने आरोपी के साथ सभी संपर्क बंद कर दिए थे, लेकिन, वह उसे ब्लैकमेल कर शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर करता था. उसने अपना मोबाइल नंबर बदल लिया और 8 फरवरी को शादी कर ली, लेकिन आरोपी ने अपने वैवाहिक जीवन में समस्याएं पैदा करने की कोशिश की.
पुलिस की ओर से बताया गया है कि महिला के बयान को धारा 161 सीआरपीसी के तहत दर्ज किया गया है और उसे मेडिकोलीगल पूरा करने के बाद अदालत में पेश किया जाएगा. आईपीसी की धारा 376 और आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत एक एफआईआर दर्ज की गई है. शुक्रवार को आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज