होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /बरेली में बसने लगा तंबुओं का शहर, रामगंगा तट पर लगेगा चौबारी मेला, इन 2 चीजों पर लगा बैन

बरेली में बसने लगा तंबुओं का शहर, रामगंगा तट पर लगेगा चौबारी मेला, इन 2 चीजों पर लगा बैन

चौबारी मेला में लगने लगीं दुकानें और बसने लगा तंबुओं का शहर

चौबारी मेला में लगने लगीं दुकानें और बसने लगा तंबुओं का शहर

Bareilly News: बरेली में राम गंगा तट पर चौबारी मेला परिसर की तैयारियों ने जोर पकड़ लिया है. जबकि 3 दिन तक चलने वाले मेल ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट – अंश कुमार माथुर

    बरेली. बरेली में रामगंगा तट सजना संवरना शुरू हो गया है. कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर लगने वाले चौबारी मेले की तैयारियां भी जोर शोर से चल रही हैं. मेले में साफ सफाई के लिए रामगंगा मेला परिसर में इस बार दो सौ से अधिक सफाई कर्मचारी लगाए गए हैं. वहीं, मेले के लिए सर्कस, झूला और दुकानें लगने का काम भी शुरू हो चुका है. खास तौर पर सिलबट्टे का बाजार भी सज रहा है. बता दें कि बाहर के पत्थर व्यापारी मेले में दुकानें लगाते हैं. इसके अलावा मेले तक जाने वाले रास्तों में जो गड्ढे हैं, उनको पत्थर डालकर भरा जा रहा है, ताकि रास्ता सुगम बनाया जा सके.

    इस कार्तिक पूर्णिमा का मुख्य स्नान 8 नवंबर को होगा. मेले में स्नान के लिए घाटों को जेसीबी के द्वारा समतल किया जा रहा है, तो वहीं चौबारी मेले में भी टेंट और दुकानें लगनी शुरू हो गयी है. श्रद्धालुओं को रामगंगा में इस बार नौका विहार करने के लिए इस बार बड़ी संख्या में नाविक घाट पर नाव लेकर पहुंच चुके हैं. चौबारी मेले में इस बार गंगा स्नान के लिए बेहतर जलस्तर की भी जिला प्रशासन ने व्यवस्था की है.

    तंबुओं के शहर में रहेंगे सुरक्षा के इंतजाम
    कार्तिक पूर्णिमा पर लगने वाला चौबारी मेले में रामगंगा तट पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु जुटते हैं. इसके मद्देनजर मेला परिसर में भारी पुलिस बल तैनात किया जाएगा. साथ ही पुलिस प्रशासन की ओर से गोताखोर और पीएसी बल भी तैनात रहेगा. रामगंगा घाट पर सुरक्षा की दृष्टि से एक अस्थाई चौकी का निर्माण किया जा रहा है. इसके साथ एक अस्थाई अस्पताल भी बनाया जा रहा है. वही अग्निशमन विभाग की टीमें और उनके वाहन भी मेला परिसर में मौजूद रहेंगे.

    रामगंगा चौबारी मेला रहेगा प्लास्टिक मुक्त
    रामगंगा चौबारी मेला इस बार भी पूरी तरह से प्लास्टिक मुक्त रखा गया है. मेले में प्लास्टिक का उपयोग पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा. बरेली के चौबारी मेले में शाहजहांपुर, पीलीभीत, बदायूं समेत आसपास के जिलों और गांव से लोग हिस्सा लेने पहुंचते हैं. कई लोग मेला परिसर में ही रुकते हैं. ऐसे में लोग यहां तंबू के आवास बनाकर रहते हैं. मेले में कई जिलों से लोग आकर चाट पकौड़ी जलेबी आदि का स्टॉल भी लगा रहें हैं. इस बार नए शासनादेश के मुताबिक, मेले में शामिल होने के लिए ग्रामीण ट्रैक्टर ट्राली से नहीं आ सकेंगे. बीते दिनों कानपुर में हुई दुर्घटना के बाद शासन ने इस तरह की यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है.

    Tags: Bareilly news, Bareilly police

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें