लाइव टीवी

DIG ने भ्रष्ट पुलिसवालों के खिलाफ सोशल मीडिया के सहारे छेड़ी मुहिम

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 24, 2019, 9:48 PM IST

डीआईजी राजेश कुमार पांडेय ने न्यूज 18 से बातचीत करते हुए बताया कि पिछले कुछ समय से पुलिसकर्मियों पर लगातार भ्रष्टाचार के ऑडियो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई हैं. जिस कारण सम्पूर्ण पुलिसकर्मियों की छवि धूमिल हो रही है.

  • Share this:
बरेली के डीआईजी राजेश कुमार पांडेय ने अब महकमे के भ्रष्ट पुलिस कर्मियों के खिलाफ मुहिम छेड़ दी है. दर्जनों एनकाउंटर कर अपराधियों के खिलाफ अभियान चलाने वाले 2005 बैच आईपीएस अफसर राजेश कुमार पांडेय ने इसके लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया है. इसके तहत उन्होंने रेंज भर के 71 लाख से अधिक मोबाइल फोन यूजर्स से न्यूज 18 के जरिए अपील की है कि बरेली रेंज के चारों जनपदों में अगर कोई भी पुलिसकर्मी किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार में संलिप्त है, तो उस पुलिसकर्मी की वीडियो अथवा ऑडियो को उनके व्हाट्सएप नंबर 945440 8999 पर भेज दें.

इस व्हाट्सएप नम्बर की मानीटरिंग खुद डीआईजी राजेश कुमार पांडेय करेंगे. व्हाट्सएप पर आने वाले सभी ऑडियो और वीडियो के संबंध में विधिवत कार्रवाई की जाएगी. डीआईजी राजेश कुमार पांडेय ने न्यूज 18 से बातचीत करते हुए बताया कि पिछले कुछ समय से पुलिसकर्मियों पर लगातार भ्रष्टाचार के ऑडियो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई हैं. जिस कारण सम्पूर्ण पुलिसकर्मियों की छवि धूमिल हो रही है. ऐसे में भ्रष्ट पुलिस कर्मियों पर नकेल कसने के लिए 9454408999 का ये सीयूजी नम्बर को पब्लिक के लिए जारी किया गया है.



यह वाट्सएप नम्बर 24 घण्टे पब्लिक की शिकायतों के लिए एक्टिव रहेगा. डीआईजी ने बताया कि लगभग सभी मोबाइल यूजर्स एंड्राएड मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं. जिसमें कॉल रिकॉर्डिंग से लेकर वीडियो रिकॉर्डिंग के साथ ही कैमरे की सुविधा है. इसी एंड्राएड मोबाइल फोन से वह सर्विलांस रिकॉर्डिंग यूनिट का कार्य भी कर सकते हैं. जिन पुलिसकर्मियों से संबंधित ऑडियो और वीडियो इस व्हाट्सएप नंबर पर प्राप्त होंगे. ऐसे ऑडियो व वीडियो को सीधे संबंधित जिलों के पुलिस कप्तानों को भेजकर पुलिस कप्तानों के स्तर से ही इस मामले में कार्रवाई सुनिश्चित कराई जाएगी.



डीआईजी ने यह भी दावा किया कि ऑडियो और वीडियो भेजने वाले लोगों के नाम सार्वजनिक नहीं किए जाएंगे, बल्कि गोपनीय रखे जाएंगे अपनी इस मुहिम के पीछे डीआईजी ने बताया कि प्रदेश सरकार की साफ मंशा है कि बरेली रेंज भ्रष्टाचार मुक्त हो. उधर बरेली की जनता भी डीआईजी के इस कदम की तारीफ करती हुई नजर आ रही है. (रिपोर्ट-हरीश शर्मा)

ये भी पढ़ें: निकम्मे और भ्रष्ट पुलिसकर्मियों को करें बाहर, मुठभेड़ में सिपाही शहीद... और अब गया से बैंकाक की सस्ती उड़ान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बरेली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2019, 9:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर