• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Election Strategy: छत्रपाल गंगवार को यूपी मंत्रिमंडल में शामिल कर कुर्मी वोट पर निशाना

Election Strategy: छत्रपाल गंगवार को यूपी मंत्रिमंडल में शामिल कर कुर्मी वोट पर निशाना

मंत्री पद की शपथ लेते छत्रपाल गंगवार.

मंत्री पद की शपथ लेते छत्रपाल गंगवार.

Kurmi Votes : छत्रपाल बहेड़ी क्षेत्र से दूसरी बार विधायक चुने गए हैं. छत्रपाल गंगवार की किसानों पर भी अच्छी पकड़ मानी जाती है. माना जा रहा है कि विधायक छत्रपाल के मंत्री बनने से कुर्मी वोट पर भाजपा की पकड़ और मजबूत होगी और पूर्व केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के विकल्प के रूप में भी वे साबित हो सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

बरेली. बहेड़ी से भाजपा विधायक छत्रपाल गंगवार यूपी मंत्रिमंडल में शामिल हो गए हैं. हाईकमान से संकेत मिलने के बाद लखनऊ के लिए छत्रपाल पहले ही रवाना हो गए थे. माना जा रहा है कि विधायक छत्रपाल के मंत्री बनने से कुर्मी वोट पर भाजपा की पकड़ और मजबूत होगी और पूर्व केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के विकल्प के रूप में भी वे साबित हो सकते हैं.

छत्रपाल बहेड़ी क्षेत्र से दूसरी बार विधायक चुने गए हैं. उन्होंने अपने जीवन की शुरुआत एक शिक्षक के रूप में की थी. बीजेपी विधायक छत्रपाल गंगवार अर्थशास्त्री के साथ-साथ 1979-2009 तक धनीराम इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य रहे हैं. हालांकि वे बचपन से ही आरएसएस से जुड़े रहे. उन्होंने कई वर्षों तक प्रचारक के रूप में संगठन के साथ काम किया है. विधायक छत्रपाल की किसानों पर भी अच्छी पकड़ मानी जाती है. उन्होंने पहली बार 2007 में सपा के अताउर रहमान को हराया था. बाद में 2017 के विधानसभा चुनाव में बसपा उम्मीदवार नसीम अहमद को हराया.

इसे भी पढ़ें : यूपी मंत्रिमंडल विस्तार में दिखी सीएम योगी आदित्यनाथ की सोशल इंजीनियरिंग

बरेली मंडल में बात की जाए तो सबसे ज्यादा बरेली जिले की 5 विधानसभाओं को गंगवार वोट प्रभावित करता है. राजनैतिक जानकारों के मुताबिक, गंगवार वोट सबसे ज्यादा नवाबगंज विधानसभा के साथ बहेड़ी, मीरगंज,  भोजीपुरा में है. यहां के वोटर काफी हद तक जीत तय करने में अहम भूमिका अदा करते हैं. शहर और कैंट विधानसभा में भी अच्छी तादाद में गंगवार मतदाता हैं. ये मतदाता जिले के गंगवार बहुल क्षेत्र से आकर बसे हुए हैं. हालांकि बदायूं में गंगवार मतदाता कम संख्या में हैं, पीलीभीत में गंगवार वोट की अच्छी संख्या है. वहीं रामपुर – शाहजहांपुर में भी गंगवार वोट हैं. कानपुर लखीमपुर बेल्ट और पूर्वांचल में भी गंगवार वोटर हैं, जो अलग सरनेम से जाने जाते हैं.

इसे भी पढ़ें : कांग्रेस से भाजपा में आये जितिन प्रसाद बने कैबिनेट मिनिस्टर

प्रदेश में भाजपा सरकार बनने पर कैंट विधायक राजेश अग्रवाल को वित्त मंत्री और धर्मपाल सिंह को सिंचाई मंत्री बनाया गया था. इसके अलावा केंद्र सरकार में बरेली के सांसद संतोष गंगवार को जगह मिली. इससे केंद्र और राज्य सरकार, दोनों में ही बरेली का दबदबा था. मगर मौजूदा समय में जिले से कोई भी जनप्रतिनिधि केंद्र या राज्य सरकार में मंत्री नहीं था. लोगों का कहना है कि इस फैसले से भाजपा की कुर्मी वोट बैंक पर तो पकड़ मजबूत होगी ही, साथ ही क्षेत्र की उम्मीदें भी पूरी हो सकेंगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज