गैंगरेप पीड़ित की मौत, सामने आई पुलिस की लापरवाही

मुरादाबाद के दो युवक महिला को बरेली में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लाए और फिर उसे सुभाषनगर इलाके में एक घर मे कैद करके रखा गया. महिला के साथ दोनों दरिंदो ने गैंगरेप किया और जब महिला ने भागने का प्रयास किया तो उसकी लोहे को सरिया से पिटाई की.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 1, 2018, 10:46 PM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 1, 2018, 10:46 PM IST
बरेली में एक महिला के साथ गैंगरेप और हत्या का मामला सामने आया है. आरोप है कि एक महिला को नौकरी का झांसा देकर मुरादाबाद से बरेली लाया गया और फिर उसे बरेली में बंधक बनाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया. गुरुवार को इलाज के दौरान इस महिला की मृत्यु हो गई.

दरअसल 29 नवंबर को मुरादाबाद के दो युवक महिला को बरेली में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लाए और फिर उसे सुभाषनगर इलाके में एक घर मे कैद करके रखा गया. महिला के साथ दोनों दरिंदो ने गैंगरेप किया और जब महिला ने भागने का प्रयास किया तो उसकी लोहे को सरिया से पिटाई की. जिससे उसके पैर में जख्म हो गया.

महिला की हालत बिगड़ती देख बदमाशों ने उसे दवा दी. जिसके रिएक्शन से उसके पूरे शरीर में सेफ्टिक हो गया. आरोपी, महिला को मरणासन हालत में जिला अस्पताल छोड़कर फरार हो गए. जहां एक महीने तक चले इलाज के बाद उसने दम तोड़ दिया.

महिला का 10 साल का एक बेटा भी है और पति ने उसे छोड़कर दूसरी शादी कर ली थी जिसके कारण महिला प्राइवेट नौकरी करती थी. मृतका की बहन का आरोप है कि अस्पताल ने लापरवाही की और सही से उसकी बहन का इलाज नहीं किया. वहीं पुलिस इस मामले में 3 लोगों को पहले ही जेल भेज चुकी है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...