सरकार ने ढाया प्राइमरी स्कूल, अधर में बच्चों का भविष्य

वर्षो से चल रहे प्राइमरी स्कूल को भी तोड़ दिया गया. हालांकि इस स्कूल में 50 से अधिक बच्चे पढ़ाई कर थे. स्कूल टूट जाने से इन बच्चो का भविष्य खतरे में पड़ गया है. नगर निगम का कहना है कि किसी को भी बक्शा नहीं जाएगा चाहे स्कूल ही क्यों न हो.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 2, 2018, 10:11 PM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 2, 2018, 10:11 PM IST
योगी सरकार के अतिक्रमण के खिलाफ अभियान के चलते बरेली में नगर निगम ने वर्षो पुराने चुंगी के प्राइमरी स्कूल को ढाह दिया. 50 बच्चे वाले इस स्कूल की इमारत गिरने से बच्चों के चेहरे पर मायूसी है और उनके मन में एक ही सवाल है कि अब उनके भविष्य का क्या होगा?

दरअसल प्रदेश में यूपी सरकार के आदेश पर भूमाफिया और अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ अभियान छेड़ा है. इसी अभियान के तहत बरेली में भी नगर निगम ने 1920 से पहले के नक्शे के आधार पर दुकान, मकान, स्कूल और होटलों को जेसीबी मशीन लगा कर ढाह दिया.



नगर निगम प्रशासन ने एक दिन पहले ही अतिक्रमण वाली जगह पर लाल निशान लगाया और लोगों को जगह खाली करने का आदेश दिया. जिसके चलते शुक्रवार को वर्षो से चल रहे प्राइमरी स्कूल को भी तोड़ दिया गया. हालांकि इस स्कूल में 50 से अधिक बच्चे पढ़ाई कर थे. स्कूल टूट जाने से इन बच्चो का भविष्य खतरे में पड़ गया है. नगर निगम का कहना है कि किसी को भी बक्शा नहीं जाएगा चाहे स्कूल ही क्यों न हो.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...