Bareilly news

बरेली

अपना जिला चुनें

UP News: बरेली में रामगंगा के बढ़ते जलस्तर से 300 गांवों में बाढ़ का खतरा, 48 बाढ़ चौकियां बनी, विभाग अलर्ट

UP: बरेली में रामगंगा नदी के बढ़ते जलस्तर से कई गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है.

UP: बरेली में रामगंगा नदी के बढ़ते जलस्तर से कई गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है.

Bareilly Villages At Risk Of Flood: बरेली में सदर, मीरगंज, आंवला, नबाबगंज, फरीदपुर तहसील के रामगंगा किनारे बसे 300 गांव ऐसे हैं, जिन पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. डीएम नीतीश कुमार का कहना है कि सभी संबंधित विभागों को अलर्ट कर दिया गया है.

SHARE THIS:
बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली (Bareilly) में रामगंगा नदी (Ramganga River) के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए 300 गांव में बाढ़ (Flood) का खतरा मंडराने लगा है. हालांकि बरेली में अभी तक बरसात ज्यादा नहीं हुई है लेकिन पहाड़ों पर हो रही लगातार बारिश से रामगंगा का जल स्तर बढ़ रहा है. पहाड़ों पर बने डैम से रुक-रुक कर पानी छोड़ा जा रहा है.

बरेली में सदर, मीरगंज, आंवला, नबाबगंज, फरीदपुर तहसील के रामगंगा किनारे बसे 300 गांव ऐसे हैं, जिन पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. डीएम नीतीश कुमार का कहना है कि 48 बाढ़ चौकियां बना दी गई हैं. इसके अलावा रामगंगा पर बढ़ने वाले जलस्तर पर भी नजर रखी जा रही है. सभी संबंधित विभागों को अलर्ट कर दिया गया है.

डीएम का दावाःबाढ़ से निपटने तैयारी पूरी
डीएम नीतीश कुमार का कहना है कि अभी रामगंगा में भी जलस्तर ज्यादा नहीं बढ़ा है, लेकिन अगर पानी ज्यादा बढ़ता है तो हमारी तैयारी पूरी है. वैसे बाढ़ खंड नियंत्रण कक्ष के आंकड़ों पर नजर डालें तो 1 जून से अब तक 410 .6 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है.

बाढ़ पहले भी मचा चुकी है तबाही
गौरतलब है कि बरेली जिले में 2010 और 2012 में रामगंगा में बढ़े जलस्तर ने तब जमकर तबाही मचाई थी. फरीदपुर, आंवला और मीरगंज तहसील के कई गांवों में स्थिति काफी भयावह हो गई थी. शहर में भी रामगंगा का पानी घुस गया था. वर्तमान हालात को देखते हुए जिला प्रशासन ने बाढ़ प्रभावित 300 गांवों में 48 बाढ़ चौकियों को सक्रिय कर दिया है.

तहसीलों के संवेदनशील गांव चिन्हित
बरेली जिला प्रशासन की मानें तो जिले के सदर तहसील के 73 संवेदनशील और 13 अतिसंवेदनशील, बहेड़ी तहसील के 76 संवेदनशील और 14 अतिसंवेदनशील, आंवला तहसील के आठ संवेदनशील, नवाबगंज तहसील के 46 संवेदनशील और 16 अतिसंवेदनशील, फरीदपुर तहसील के 54 संवेदनशील और 27 अतिसंवेदनशील और मीरगंज तहसील के 115 संवेदनशील और 22 अतिसंवेदनशील स्थान पहले से ही चिन्हित हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

ड्रग माफिया तैमूर खान उर्फ भोला चढ़ा क्राइम ब्रांच के हत्‍थे, 8 साल से फरार शातिर के नाम पर बच्‍चे खेलते हैं गेम


ड्रग माफिया तैमूर खान उर्फ भोला पर 1.5 लाख का इनाम था.

Delhi Crime News : दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की नारकोटिक्स सेल (Narcotics Cell) ने तैमूर खान उर्फ भोला (Taimur Khan alias Bhola) नाम के मोस्टवांटेड ड्रग माफिया को गिरफ्तार किया है. इस तस्‍कर पर दिल्‍ली पुलिस ने एक लाख और यूपी पुलिस ने 50 हजार का इनाम रखा हुआ था. यही नहीं, यह साल 2012 से फरार चल रहा था.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 20, 2021, 09:02 IST
SHARE THIS:

नई दिल्‍ली. दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) की क्राइम ब्रांच की नारकोटिक्स सेल (Narcotics Cell) ने बरेली ड्रग्स माफिया गैंग के फरार चल रहे एक मोस्टवांटेड ड्रग माफिया (Drug Mafia) को गिरफ्तार किया है. इस तस्‍कर पर दिल्ली पुलिस की ओर से एक लाख रुपये और यूपी पुलिस की ओर से 50 हजार रुपये का इनाम रखा हुआ था. जबकि यह 9 मामलों में वांटेड था और 2012 से फरार चल रहा था. हैरानी की बात है कि इस शातिर ड्रग माफिया के नाम पर उसके गांव में बच्‍चे ‘भोला भाग गया’ नाम से गेम खेलते हैं.

इस बारे में डीसीपी क्राइम (नारकोटिक्स) चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि गिरफ्तार किए गए तस्‍कर का नाम तैमूर खान उर्फ भोला है, जो कि 37 साल का है. यह यूपी के बरेली के एक गांव का रहने वाला है. यही नहीं, वह दिल्‍ली पुलिस की स्पेशल सेल के तीन और यूपी बरेली पुलिस के एक मामले में भगौड़ा भी घोषित था. जबकि इसे क्राइम ब्रांच बड़ी कामयाबी के रूप में देख रही है. इससे पहले बरेली ड्रग्स गैंग मामले में नारकोटिक्स सेल ने तीन तस्‍करों को पकड़ा था, जिनमें एक प्रधान था.

इलाके का है रॉबिनहुड
डीसीपी का कहना है कि तैमूर ने अपने गांव के आसपास के इलाके में स्थानीय रॉबिनहुड की एक छवि बनाई थी और वह ड्रग्स से कमाए पैसे को गरीबों की मदद करने के रूप में भी इस्तेमाल करता था. यही वजह है कि जब यूपी या दिल्ली पुलिस उसे पकड़ने जाती थी, तो वह लोकल जानकारी मिलने से बच निकलता था. हाल ही में दिल्‍ली पुलिस को सूचना मिली कि तैमूर आश्रय की तलाश में सीलमपुर जा रहा है, क्योंकि एक और कुख्यात ड्रग तस्कर शाहिद खान की गिरफ्तारी के बाद उसे शक हुआ कि उसने अपने ठिकाने की जानकारी पुलिस को दी होगी. इसके बाद पुलिस टीम तुरंत हरकत में आई और जाल बिछाया और उसको मेट्रो स्टेशन के पास दबोच लिया. हालांकि इस दौरान उसने भागने की कोशिश की थी, लेकिन पुलिस टीम ने उसे काबू कर लिया. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के मुताबिक, शाहिद और तैमूर खान ने बरेली में गन्ने के खेतों के बीच हेरोइन तैयार करने की यूनिट लगाई हुई थी.

शराब लाइसेंस की नीलामी में दिल्‍ली सरकार की बल्‍ले-बल्‍ले, एयरपोर्ट जोन में हुई पैसों की तगड़ी बारिश

भोला भाग गया नाम बच्चे खेल खेलते हैं गेम
डीसीपी चिन्मय बिस्वाल ने बताया कि तैमूर खान उर्फ भोला के गांव के बच्‍चे उसके नाम पर भोला भाग गया नाम से गेम भी खेलते हैं. इस दौरान कुछ बच्चे यूपी पुलिस, तो कुछ दिल्ली पुलिस बन जाते हैं. यही नहीं, शुरुआत में यह बरेली और अन्य इलाकों से ड्रग्स की सप्लाई करता था, लेकिन इसके बाद उसने दिल्‍ली समेत कई राज्‍यों में अपना धंधा शुरू कर दिया. तैमूर ग्रेजएट है और एमबीए में एडमिशन ले रहा था, लेकिन तभी यह ड्रग्स के धंधे में पड़ गया. वह पहली बार वर्ष 2008 में 670 ग्राम स्मैक के साथ गिरफ्तार किया गया था. इस वजह से वह सात महीने तक जेल में रहा था.

क्राइम फाइलः घर में अकेली भाभी को देख हैवान बना देवर, हवस पूरी न हुई तो कर डाला मर्डर, बेटी ने खोला राज

Bareilly: आरोपी देवर बनाना चाहता था भाभी के साथ अवैध संबंध (File photo)

Bareilly Murder case: बरेली के शांति विहार कॉलोनी में पिछले महीने महिला की हत्या का मामला. महिला के परिजनों ने दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाया था, लेकिन पुलिस की पड़ताल में केस अवैध संबंध का निकला. पुलिस ने जांच के बाद फरार आरोपी आकाश को गिरफ्तार किया.

SHARE THIS:

बरेली. जिले के सुभाष नगर थाना क्षेत्र की शांति विहार कॉलोनी में पिछले महीने हुए विनीता हत्याकांड का खुलासा हो गया है. यह मामला पूरी तरह से अवैध संबंधों का निकला, जहां आरोपी शख्स ने देवर-भाभी के रिश्ते को कलंकित करने की कोशिश की. आरोपी ने अपने भाई के न होने का फायदा उठाना चाहा और घर में अकेली भाभी के साथ यौन संबंध बनाने की कोशिश की. महिला ने इनकार किया तो हवस में अंधे हो चुके देवर ने पत्थर से कूच-कूचकर अपनी भाभी की हत्या कर दी. हैरान करने वाली बात यह है कि इस वारदात के समय महिला की 6 साल की बेटी भी वहीं मौजूद थी, लेकिन आरोपी को इसका लिहाज भी न रहा. मासूम बच्ची ने ही पुलिस और अपने रिश्तेदारों को वहशी चाचा की करतूत बताई, जिसके बाद पुलिस की छानबीन में आरोपी पकड़ा गया.

पुलिस गिरफ्त में आने के बाद आरोपी देवर ने जुर्म कबूल किया. उसने पुलिस के सामने कबूल किया कि अवैध संबंध बनाने से मना करने पर अपनी भाभी की पत्थर से कूच-कूच कर हत्या कर दी थी. पुलिस के मुताबिक वारदात के समय मृतक विनीता की 6 साल की मासूम बेटी ने अपने चाचा आकाश के बारे में बताया. बच्ची ने अपनी नानी और पुलिस को बताया कि आकाश ने ही उसकी मां की जान ली है. इसी आधार पर आरोपी को गिरफ्तार किया जा सका है.

घटना के बाद विनीता के परिजनों ने उसके ससुरालवालों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था. हालांकि वारदात के बाद हत्यारोपी आकाश मौके से फरार हो चुका था. पूछताछ के दौरान आरोपी आकाश सक्सेना ने भाभी विनीता की हत्या करने का जुर्म कुबूल किया है.

आरोपी देवर आकाश को पुलिस ने किया गिरफ्तार.

आरोपी का कहना है कि अगस्त महीने में जब उसका भाई नौकरी के सिलसिले में हरियाणा गया हुआ था. तब उसने अपनी भाभी को अकेले पाकर उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाने का प्रयास किया. विनीता ने इसका विरोध किया, तो आकाश को यह बात बुरी लग गई. प्रतिशोध में आकर आरोपी ने भाभी विनीता की पत्थर से कूच -कूचकर हत्या कर दी और भाग निकला.

यह भी पढ़ें- UP: योगी सरकार के साढ़े 4 साल पूरे होने पर मायावती और प्रियंका गांधी ने साधा निशाना, बोलीं- विज्ञापन और दावे अधिकांश हवा-हवाई

मामले में एसपी सिटी रविंद्र कुमार ने बताया कि बीते माह में शांति विहार कॉलोनी में एक महिला की हत्या हो गई थी. जिसके बाद परिजनों ने दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा पंजीकृत कराया था. आज सुभाषनगर थाना पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए महिला के देवर आकाश को गिरफ्तार किया है. एसपी सिटी ने बताया कि आरोपी आकाश को जेल भेजा जा रहा है.

6 माह की बच्ची को बचाने के लिए लगेगा 16 करोड़ का इंजेक्शन, PM और CM से मां की गुहार

UP: बरेली में 6 माह की बच्ची को बचाने के लिए उसकी मां ने सीएम योगी और पीएम मोदी से गुहार लगाई है.

Bareilly News: पीड़ित परिवार सीएम योगी आदित्यनाथ और पीएम नरेंद्र मोदी से गुहार लगा रहा है कि सरकार उसकी मासूम बच्ची की जिंदगी बचाने के लिए अमेरिका से कीमती इंजेक्शन को मंगाए ताकि उनकी बच्ची जिंदा रह सके.

SHARE THIS:

बरेली. वक़्त से पहले हालात से लड़ रही हूं, मैं अपनी उम्र से कई साल बड़ी हूं, ये लाइनें मासूम मन्हा पर एकदम सटीक बैठती हैं. इसकी वजह ये है कि जिस बच्ची की उम्र मात्र 6 माह हो और वो एक ऐसी बीमारी से जूझ रही है, जो उसकी ज़िंदगी को धीरे-धीरे कम कर रही हो. जी हां, हम बात कर रहे हैं बरेली (Bareilly) की मासूम मन्हा की. उसे इस्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी टाइप-1 (Spinal Muscular Atrophy Type-1) जैसी घातक बीमारी हो गयी है. जिसके कारण बच्ची की नसें धीरे धीरे कमज़ोर हो रही हैं.

इस बीमारी में हाथ पैर चलना बंद हो जाते हैं और शरीर बिल्कुल कमज़ोर हो जाता है. इस दुर्लभ बीमारी का सिर्फ एक ही इलाज है, जिसका इंजेक्शन अमेरिका में ही मिलता है. और उसकी कीमत 16 करोड़ रुपये है.

बरेली के किला थाना क्षेत्र के जखीरे की रहने वाली सबा परवीन की 6 माह की बेटी मन्हा इस्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी नाम की इस घातक बीमारी से जूझ रही है. आपको बता दें सबा ने अपनी बच्ची को सबसे पहले बरेली के बड़े डॉक्टरों को दिखाया लेकिन कोई भी इस बीमारी को पकड़ नहीं पाया जिसके बाद मन्हा को दिल्ली के सर गंगाराम हॉस्पिटल में दिखाया. यहां बच्ची में इस बीमारी की पुष्टि की गई.

अब इस बच्ची की जान बचाने के लिये जिस इंजेक्शन की ज़रूरत है उसकी क़ीमत 16 करोड़ है. ऐसी परिस्थति में सबा के पति ने भी उसका साथ छोड़ दिया है लेकिन सबा ने हार नहीं मानी है. वो अपनी बेटी को बचाने के लिये हर सम्भव प्रयास कर रही है. बच्ची की मां ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि वो उसकी मदद करें और बच्ची का इलाज करवाएं. यही नहीं बीजेपी के बरेली और आंवला के दोनों सांसदों ने भी सीएम योगी आदित्यनाथ से लेकर पीएम नरेंद्र तक पत्र लिखकर बच्ची का इलाज कराने का निवेदन किया है.

अब पीड़ित परिवार न्यूज़ 18 के जरिए सीएम योगी और पीएम मोदी से गुहार लगा रहा है कि सरकार उसकी मासूम बच्ची की जिंदगी बचाने के लिए अमेरिका से कीमती इंजेक्शन को मंगाए ताकि उनकी बच्ची जिंदा रह सके.

बरेली: स्मैक तस्कर नन्हें लंगड़ा के 15 करोड़ के बैंक्वेट हॉल पर चला बुलडोजर, देखिए तस्वीरें

UP: बरेली में स्मैक तस्कर नन्हें लंगड़ा की अवैध संपत्ति पर प्रशासन का बुलडोजर चल गया है.

Bareilly News: बरेली में फतेहगंज पश्चिमी में स्थित 1000 वर्ग मीटर में बने नन्हे लंगड़ा के बैंक्वेट हाॅल पर बीडीए ने बुलडोजर चलाकर जमीदोंज कर दिया. इस बैंक्वेट हॉल की कीमत करीब 15 करोड़ बताई जा रही है.

SHARE THIS:

बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली (Bareilly) में पुलिस और बरेली विकास प्राधिकरण (BDA) ने संयुक्त कार्रवाई में स्मैक तस्कर नन्हे लंगड़ा उर्फ रियासत की करोड़ों रुपए की संपत्ति पर बुलडोजर चलाकर जमीदोंज कर दिया. बरेली में फतेहगंज पश्चिमी में स्थित 1000 वर्ग मीटर में बने नन्हे लंगड़ा के बैंक्वेट हाॅल पर बीडीए ने बुलडोजर चलाकर जमीदोंज कर दिया. इस बैंक्वेट हॉल की कीमत करीब 15 करोड़ बताई जा रही है. पुलिस अभी तस्कर की अन्य संपत्तियों की भी जांच कर रही है.

दरअसल, एक सप्ताह पहले स्मैक की बड़ी खेप के साथ तस्कर नन्हे लंगड़ा को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद पुलिस को जानकारी हुई कि तस्कर ने स्मैक की तस्करी से करोड़ों रुपए की प्रॉपर्टी बनाई है. पुलिस की जांच में अभी तक तस्कर के 5 मकान, 40 बीघा खेती और एक बैंकट हॉल की जानकारी हुई है. इसके अलावा पुलिस तस्कर के रिश्तेदारों की भी कुंडली खंगालने में लग गई है.

दरअसल बरेली मादक पदार्थों की तस्करी करने वालों का गढ़ बन गया है और यहां आए दिन तस्करी के मामले सामने आते हैं. पिछले कुछ दिनों में बरेली पुलिस ने तस्करों के खिलाफ अभियान चला रखा है और उन्हें लगातार गिरफ्तार कर जेल भेज रही है.

बैंक्वेट हॉल ध्वस्तीकरण कार्रवाई

bareilly demolition, Bareilly News, Bareilly POlice, BDA,

UP: बरेली में स्मैक तस्कर नन्हें लंगड़ा की अवैध संपत्ति पर प्रशासन का बुलडोजर चल गया है.

एसपी ग्रामीण राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि पुलिस तस्करों की संपत्तियों का विवरण जुटा रही है. नन्हे लंगड़ा को लंबे समय से गिरफ्तार करने का प्रयास किया जा रहा था लेकिन हर बार वह पुलिस को चकमा देकर फरार हो जाता था. पिछले हफ्ते पुलिस ने उसे स्मैक की बड़ी खेप के साथ फतेहगंज पश्चिमी में गिरफ्तार कर लिया. उसकी गिरफ्तारी के बाद उसकी संपत्ति का आंकलन किया गया. इसके अलावा नन्हे के गैंग में जो भी सक्रिय लोग हैं, उनकी लिस्ट तैयार की गई है. जल्द उनके खिलाफ ही कार्रवाई की जाएगी. इस पूरे गैंग को नष्ट करना ही पुलिस की प्राथमिकता है.

bareilly demolition, bareilly demolition, Bareilly News, Bareilly POlice, BDA,

बरेली में अवैध संपत्ति पर चलता प्रशासन का बुलडोजर

इस मामले में बरेली विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष जोगेंद्र सिंह ने बताया कि बरेली विकास क्षेत्र के अन्तर्गत स्मैक तस्कर अभियुक्त नन्हें लंगड़ा उर्फ रियासत पुत्र अमीर अहमद निवासी-मोहल्ला सराय वार्ड नम्बर-13 कस्बा व थाना फतेहगंज पश्चिमी से जुड़ा ये मामला है. अवैध स्मैक की तस्करी व अवैध निर्माण करने में संलिप्त व्यक्ति द्वारा फतेहगंज पश्चिमी पर हाईवे के निकट आशियाना बैंक्ट हॉल नाम से लगभग एक हजार वर्ग मीटर में एक अवैध बैंक्वेट हॉल का निर्माण किया गया था. उक्त अवैध निर्माण के विरूद्ध उत्तर प्रदेश नगर योजना एवं विकास अधिनियम-1973 की सुंसगत धाराओं के अन्तर्गत कार्यवाही करते हुए प्राधिकरण के अधीक्षण अभियन्ता, सहायक अभियन्तागण, अवर अभियन्तागण, प्रवर्तन टीम एवं पुलिस बल तथा पीएसी की मौजूदगी में ध्वस्तीकरण की कार्यवाही की गयी.

बरेली: छात्रा से रेप कर बनाया अश्लील वीडियो, आरोपी ने फिर किया जीना मुश्किल, FIR दर्ज

बरेली में एक छात्रा का युवक ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपहरण कर रेप किया.

Rape Video Viral : बरेली में एक छात्रा का युवक ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपहरण कर रेप किया. उसका अश्लील वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. छात्रा को लगातार छेड़खानी कर परेशान किया जाने लगा, जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों पर मुकदमा दर्ज किया है.

SHARE THIS:

बरेली. बरेली (Bareilly) में एक छात्रा का अपहरण (kidnapping) कर उसे दरिंदगी का शिकार बनाने का मामला सामने आया है. उसका अश्लील वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया. छात्रा का घर से निकलना मुश्किल हो गया है. छात्रा जब भी कॉलेज जाती है तो पड़ोस में रहने वाला शोहदा उसे परेशान करता है. उसके साथ अश्लील हरकतें करता है. छात्रा की तहरीर पर सुभाषनगर थाने में एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

एसएसपी ऑफिस पहुंची एमए की छात्रा का आरोप है कि 6 महीने पहले पड़ोस में रहने वाले अशोक यादव ने उसका अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपहरण किया और फिर उसके साथ दरिंदगी की. इतना ही नहीं उसने उसकी अश्लील वीडियो बना ली और फिर अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया. आरोपी लड़के ने छात्रा का अश्लील वीडियो फेसबुक पर डाल कर उसे बदनाम कर दिया. दो दिन पहले छात्रा अपनी बहन के साथ कहीं जा रही थी तभी आरोपी युवक ने रास्ते मे घेर कर छात्रा और उसकी बहन के साथ मारपीट की और छात्रा का मोबाइल भी छीन लिया.

छात्रा का आरोप है कि अशोक नामक युवक पिछले एक साल से उसे परेशान कर रहा है. वो जब भी कालेज जाती है तो उसका पीछा करता है और उसका हाथ पकड़ लेता है. उसके ऊपर अश्लील फब्तियां कसता है. इतना ही नहीं विरोध करने पर मारपीट करता है. उसने उसे जान से मारने की धमकी दी. पीड़िता ने सोमवार को एसएसपी से शिकायत की जिसके बाद सुभाषनगर थाने में एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

वहीं इस मामले में डीएसपी आशीष प्रताप सिंह का कहना है कि छात्रा ने आरोप लगाया है कि उसके पड़ोस में रहने वाला लड़का एक साल से उसे परेशान कर रहा है और उसके साथ छेड़छाड़ करता है. छात्रा की अश्लील वीडियो बनाकर वॉयरल भी कर दी है. इस मामले में सुभाषनगर थाने में एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

Bareilly News: दोस्त की पत्नी के साथ अवैध संबंध बनाना चाहता था आरोपी, ऐसे रची हत्या की प्लानिंग

Bareilly News: दोस्त की पत्नी के साथ अवैध संबंध बनाना चाहता था आरोपी

UP Crime News: हत्याकांड का खुलासा करते हुए एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि बीते 6 सितंबर की रात में हाईवे के किनारे एक 30 वर्षीय युवक की डेड बॉडी मिली थी. प्रथम दृष्टया घटना सड़क दुर्घटना प्रतीत हो रही थी लेकिन परिजन हत्या का भी आरोप लगा रहे थे.

SHARE THIS:

बरेली. यूपी के बरेली (Bareilly) जिले में दिलदहलाने वाला मामला सामने आया है. जहां एक दोस्त ने दूसरे दोस्त की गला रेतकर मर्डर कर दिया. शीशगढ़ थाना पुलिस ने महफूज हत्याकांड का खुलासा करते हुए आरोपी शमशुल को गिरफ्तार कर लिया है. अवैध संबंधों के चलते हुई हत्या के बाद आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया है. इस हत्याकांड के खुलासे के लिए स्थानीय लोगों ने पुलिस ने खिलाफ सैकड़ों लोगों के साथ हाईवे पर प्रदर्शन किया था. लेकिन पुलिस ने भी समय रहते घटना का खुलासा कर दिया.

आरोपी ने अपना जुर्म कुबूल करते हुए मीडिया को बताया कि उसका दोस्त उसकी पत्नी से अवैध संबंध बनाना चाहता था. यही वजह है कि शमशुल ने अपने ही दोस्त की हत्या कर दी और हत्या के बाद फरार हो गया. लेकिन कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस ने हत्या करने वाले दोस्त शमशुल को गिरफ्तार कर लिया है. हत्याकांड का खुलासा करते हुए एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि बीते 6 सितंबर की रात में हाईवे के किनारे एक 30 वर्षीय युवक की डेड बॉडी मिली थी. प्रथम दृष्टया घटना सड़क दुर्घटना प्रतीत हो रही थी लेकिन परिजन हत्या का भी आरोप लगा रहे थे.

शारीरिक संबंध बनाने का दबाव
परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की तो संज्ञान में आया कि मृतक महफूज आलम के एक महिला से अवैध संबंध है और वह वीडियो और फोटो के जरिए महिला को शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बना रहा है. इस बिंदु पर जांच करते हुए पुलिस ने कॉल डिटेल के आधार पर शीशगढ़ निवासी समसुल को पूछताछ के लिए बुलाया तो हत्याकांड की गुत्थी सुलझ गई. पुलिसिया पूछताछ में आरोपी समसुल ने बताया कि उसकी शादी वर्ष 2017 में हुई थी. शादी से पहले उसकी पत्नी के संबंध महफूज आलम से थे.

ऐसे रची मौत की प्लानिंग
उसी दौरान महफूज ने उसकी पत्नी से अश्लील फोटो खींच लिए थे. शादी के बाद भी वह शमशुल की पत्नी से संबंध बनाने का दबाव बना रहा था लेकिन शादी के बाद शमशुल की पत्नी ने इनकार कर दिया तो महफूज ने अपने दोस्त की जरिये महिला के पति शमशुल से दोस्ती कर ली और घर आना जाना शुरू कर दिया. अब जब समसुल को यह जानकारी हुई उसका ही दोस्त उसके साथ चैटिंग कर रहा है तो उसमें महफूज की हत्या की प्लानिंग कर ली और 6 सितंबर की रात को बहेडी रोड पर हत्या कर दी. हत्या को एक्सीडेंट दिखाने के लिए मृतक की बाइक भी मौके पर ही गिरा दी थी.

Bareilly News: बेसमेंट की खुदाई के दौरान भरभराकर गिरी दो मंजिला इमारत, मलबे में दबकर 2 मजदूरों की मौत

बरेली में भरभराकर गिरी दो मंजिला बिल्डिंग

Bareilly Building Collapse: फ़तेहगंज के किराना व्यापारी कृष्ण अवतार के बराबर में दूसरे कारोबारी दीपक गोयल की जमीन पर बेसमेंट बनाने के लिए निर्माण कार्य किया जा रहा था. दीपक की खाली पड़ी जमीन में केवल नींव भरने का ही काम हो पाया था.

SHARE THIS:

बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली जनपद के फतेहगंज पश्चिमी थाना क्षेत्र में पड़ोस के मकान में काम कर रहे मजदूरों के पर एक दो मंजिला इमारत भरभराकर (Building Collapse) गिर गई. इस हादसे में आधा दर्जन मजदूर दब गए, जिनमें 2 की मौत हो गई. रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर बाकी लोगों को बाहर निकाल कर उनका उपचार किया जा रहा है. घटना की जानकारी मिलते ही एडीजी, आईजी और एसएसपी और एसपी देहात के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए. अफसरों के पहुंचते ही बचाव कार्य के लिए SDRF की टीम भी मौके पर आकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू करके मजदूरों को बाहर निकाल लिया.

दरअसल, फ़तेहगंज के किराना व्यापारी कृष्ण अवतार के बराबर में दूसरे कारोबारी दीपक गोयल की  जमीन पर बेसमेंट बनाने के लिए निर्माण कार्य किया जा रहा था. दीपक की खाली पड़ी जमीन में केवल नींव भरने का ही काम हो पाया था. बारिश की वजह से दो दिन से निर्माण कार्य रुका हुआ था. आज जब बिल्डिंग बनाने का काम शुरू हुआ तो दो मंजिला इमारत भरभरा कर गिर गई, जिसमें काम कर रहे आधा दर्जन मजदूर दब गए. आनन-फानन में स्थानीय लोगों ने पुलिस के साथ मिलकर राहत बचाव कार्य शुरू किया।  हादसे को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने तीन लोगों को मामूली घायल होने की स्थिति में बाहर निकाल लिया, जबकि दो मजदूर जाहिद और धर्मेंद्र की दर्दनाक मौत हो गई. फिलहाल पुलिस और प्रशासन की टीम घटना की जांच में जुटी है. उधर, घायल लोगों का सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा है. घटना के बाद से मृतक लोगों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है.

घटना के बाद एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि निर्माणाधीन बिल्डिंग भरभरा कर नीचे गिर गई थी. इसमें कुछ लोग दबने की सूचना पर पुलिस और एसडीआरएफ की टीम मौके पर गई तो कुछ लोगों को सकुशल बाहर निकाल दिया गया, जिनका इलाज चल रहा है. जबकि इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गई है. दोनों युवकों के पोस्टमार्टम कराने की कार्रवाई कराई जा रही है.

OMG! नकली दरोगा और कांस्टेबल बनकर यू-ट्यूब चैनल के लिए बना रहे थे प्रैंक वीडियो, जब असली पुलिस से हुआ सामना तो...

दोनों युवकों का एक यू-ट्यूब चैनल है.

Bareilly News: यूपी के बरेली में दो युवकों द्वारा पुलिस की वर्दी पहनकर यू-ट्यूब चैनल (Youtube Channel) के लिए प्रैंक वीडियो (Prank Video) बनाने का मामला सामने आया है. हालांकि असली पुलिस ने दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी एवं लोक सेवक की पोशाक पहनने की धाराओं में कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया है.

SHARE THIS:

बरेली. उत्‍तर प्रदेश के बरेली में प्रैंक वीडियो (Prank Video) के शौक ने दो यूट्यूबर (Youtuber) को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया. दरअसल पुलिस की वर्दी पहनकर दोनों युवक चेकिंग करने के दौरान मजाकिया वीडियो बना रहे थे. इसके बाद सूचना मिलने पर जब असली पुलिस (Bareilly Police) मौके पर पहुंची तो दोनों युवकों की सिट्टी पिट्टी गुम हो गई और वो माफी की मांग करते हुए गिड़गिड़ाने लगे. हालांकि पुलिस ने उनको छोड़ा नहीं और अब दोनों जेल की सैर कर रहे हैं.

बता दें कि बरेली के कैंट के मदारी की पुलिया के पास शिवम यादव और उसका दोस्त अशोक कुमार पुलिस की वर्दी पहनकर चेकिंग कर रहे थे. इस दौरान शिवम दरोगा तो उसका दोस्‍त कांस्टेबल बना था. वहीं, प्रैंक वीडियो बनाने के लिए दोनों ने ट्रिपिलिंग सवारी और बगैर मास्क गुजर रहे लोगों को रोक चेकिंग शुरू की. इसी दौरान दोनों पर शक होने पर किसी ने मदारी की पुलिया से महज दो सौ मीटर दूर स्थित थाने को सूचना दे दी. इसके बाद दारोगा विक्रांत आर्य ने अपनी टीम के साथ पहुंचकर दोनों को पकड़ लिया. इस दौरान दोनों युवकों के पास से एसएलआर कैमरा बरामद किया गया. वहीं, पूछताछ में दोनों ने बताया कि वह अपने यू-ट्यूब चैनल काउंटडाउन ब्वायज के लिए प्रैंक वीडियो शूट कर रहे थे. फिलहाल पुलिस ने दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी एवं लोक सेवक की पोशाक पहनने की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की है.

दोनों ने पिछले साल बयाना था यू-ट्यूब चैनल
पुलिस के मुताबिक, शिवम यादव बीए तृतीय वर्ष का छात्र है, तो अशोक कुमार ग्रेजूएशन पूरा कर चुका है. शिवम के पिता एयरफोर्स में कार्यरत हैं, तो उसका दोस्‍त किसान का बेटा है. हालांकि अशोक के मामा पुलिस विभाग में डिप्‍टी एसपी हैं. वैसे दोनों ने पैसे कमाने के लिए पिछले साल अक्टूबर में यू-ट्यूब चैनल शुरू किया था और अब तक सात प्रैंक वीडियोज डाल चुके हैं. पुलिस के मुताबिक, दोनों का कोई आपराधिक इतिहास नहीं है. इस मामले में कैंट थाना इंस्पेक्टर राजीव कुमार सिंह ने कहा कि दोनों आरोपितों को चेकिंग करते हुए पकड़ा गया है. दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया. वहीं, उनकी नकली वर्दी को जब्‍त कर लिया गया है.

इस मामले पर एसपी सिटी रविंद्र कुमार ने ऐसे लोगों को चेतावनी देते हुए कहा कि पुलिस या फिर किसी अन्‍य संस्‍थान की वर्दी पहनकर वीडियो बनाने वालों लोगों को केस दर्ज किया जाएगा. इस दौरान कोई भी बहाना नहीं चलेगा.

Bareilly News: झोलाछाप डॉक्टर की गोली मार कर हत्या, शव के पास पड़ा मिला बाइक और तमंचा

Bareilly News: झोलाछाप डॉक्टर की गोली मार कर हत्या

एसपी देहात (SP Dehat) राजकुमार का कहना है कि बहेड़ी में 35 वर्षीय ओमप्रकाश की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. बदमाशों के बारे में कुछ अहम सुराग पुलिस को मिले हैं.

SHARE THIS:

बरेली. यूपी के बरेली (Bareilly) के बहेड़ी में झोलाछाप डॉक्टर की अज्ञात लोगों ने तमंचे से गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी और फरार हो गए. घटना उस वक्त घटी जब डॉक्टर रात में अपनी क्लीलिक बंद करने के बाद बाइक से वापस घर लौट रहा था. पुलिस को शव के पास एक अन्य बाइक और तमंचा पड़ा मिला है. जिसके आधार पर पुलिस ने अपनी तफ्तीश शुरू कर दी है. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस भी मौके पर आ गयी और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

जानकारी के अनुसार गांव दईया बोझ निवासी ओम प्रकाश शर्मा पुत्र पीतम लाल झाेलाछाप डॉक्टर था. वह पड़ोस के गांव असरिया बोझ में एक दुकान पर चिकित्सीय प्रैक्टिस किया करता था. रोज की तरह ओम प्रकाश अपनी दुकान बंद करके रात करीब आठ बजे बाइक से अपने घर जाने के लिए निकला. जैसे ही वह गांव के बाहर इश्तहाक के बाग के पास पहुंचा तभी उसे किसी ने सीने में गोली मार दी.जिसके बाद वह लहुलुहान होकर वहीं गिर पड़ा. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे परिजन उसे लेकर बहेडी सीएचसी पहुंचे जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. ओमप्रकाश की सालभर पहले ही शादी हुई थी उसके दो माह के बच्चे को लेकर पत्नी का रो -रोकर बुरा हाल है. पुलिस ने घटनास्थल पर पड़ा तमंचा और मोटरसाइकिल कब्जे में लेकर जांच पड़ताल शुरू कर दी है.

कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी का बड़ा बयान, बोले- BJP को फायदा पहुंचाने के लिए असदुद्दीन ओवैसी कर रहे बयानबाजी

उसके अलावा पुलिस ने ओमप्रकाश के परिजनों से भी पूछताछ की है. पुलिस यह पता करने में जुटी है कि ओमप्रकाश की किसी से रंजिश तो नहीं थी या फिर किसी से लेनदेन को लेकर विवाद तो नहीं चल रहा था. पुलिस ने ओमप्रकाश के भाई की तहरीर पर अज्ञात हत्यारों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कर ली है. एसपी देहात राजकुमार का कहना है कि बहेड़ी में 35 वर्षीय ओमप्रकाश की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. बदमाशों के बारे में कुछ अहम सुराग पुलिस को मिले हैं. उन्होंने बताया कि पुलिस की दो टीमें अपराधियों की धरपकड़ में लगाई गई हैं, आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

बरेली पुलिस ने ग्राम प्रधान सहित 2 तस्कारों को 50 लाख की स्मैक के साथ दबोचा

UP: बरेली पुलिस ने 50 लाख की स्मैक के साथ दो लाेगों को गिरफ्तार किया है.

Bareilly News: फतेहगंज पूर्वी पुलिस ने आज सुबह मास्टर माइंड ग्राम प्रधान छोटे उर्फ सईद खां और राजू उर्फ सैफ खां को पढेरा गांव से 20 किलो स्मैक के साथ गिरफ्तार किया. इनके पास से एक सैंट्रो कार भी मिली है.

SHARE THIS:

बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली (Bareilly) की फतेहगंज पूर्वी पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. पुलिस ने पढेरा ग्राम प्रधान समेत 2 तस्करों को 50 लाख की स्मैक के साथ गिरफ्तार किया है. तस्करों के पास से कार में 20 किलो स्मैक बरामद हुई है. पुलिस तस्करी गैंग के अन्य सदस्यों की भी तलाश कर रही है. पता चला है कि गिरफ्तार युवक लंबे समय से स्मैक की तस्करी करते आ रहे हैं. स्मैक की तस्करी से ही इन लोगों ने करोड़ों का साम्राज्य खड़ा कर लिया है. पुलिस भी इन पर हाथ डालने से हमेशा बचती रही है. पहली बार पुलिस ने मास्टर माइंड ग्राम प्रधान छोटे उर्फ सईद खां और राजू उर्फ सैफ खां को गिरफ्तार किया है.

दरअसल फतेहगंज पूर्वी पुलिस ने आज सुबह इन दोनों तस्करों को पढेरा गांव से 20 किलो स्मैक के साथ गिरफ्तार किया. इनके पास से एक सैंट्रो कार भी मिली है. एसएसपी रोहित सिंह सजवाण के आदेश पर फतेहगंज पूर्वी थाने की पुलिस ने ये कार्यवाही की. बरामद स्मैक की कीमत 50 लाख रुपये बताई जा रही है. पुलिस इस तस्करी गैंग के अन्य सदस्यों के बारे में भी जानकारी कर रही है.

गौरतलब है कि बरेली में मादक पदार्थो की तस्करी के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं. बरेली का फरीदपुर और मीरगंज मादक पदार्थों की तस्करी के लिए देश भर में बदनाम है. मादक पदार्थों की तस्करी करते-करते इन लोगों ने करोड़ो की संपत्ति बना ली है.

बरेली में अवैध पान मसाला, बीड़ी-तंबाकू फैक्ट्री का भंडाफोड़, 40 लाख का माल बरामद,

बरेली पुलिस ने छापेमारी कर नकली पान मसाला, बीड़ी की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है.

Bareilly News: एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि छापेमारी में करीब 40 लाख रुपए से अधिक का नकली सामान बरामद हुआ है. इसमें राहुल गुप्ता को गिरफ्तार किया गया है, शाहजहांपुर का मास्टरमाइंड अली हसन अभी भी फरार है.

SHARE THIS:

बरेली. उत्तर प्रदेश के  बरेली (Bareilly) के बारादरी थाना क्षेत्र में पुलिस ने अवैध पान मसाला, बीड़ी और तंबाकू बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है. फैक्ट्री से बरामद नकली पान मसाला, बीड़ी और तंबाकू की कीमत करीब 40 लाख रुपये बताई जा रही है. जबकि करोड़ों रूपये का सामान बाजार में सप्लाई किया जा चुका है. पुलिस ने फैक्ट्री में मौजूद एक आरोपी को गिरफ्तार किया है जबकि मुख्य आरोपी अलीहसन फरार है.

नकली फैक्ट्री पर छापेमारी की यह तस्वीर बारादरी थाना क्षेत्र के ऐजाज नगर गोटियां की है. यहां पुलिस को मुखबिर के जरिए सूचना मिली थी कि यहां पर एक अवैध फैक्ट्री चल रही है, जिसमें नामचीन गुटखा कंपनियों के नकली पान मसाला, बीड़ी और तंबाकू बनाई जा रही थी. पुलिस ने यहां पर छापेमारी की तो वह भी हैरान रह गई. यहां पर करीब 12 कुंतल से अधिक बीड़ी बरामद हुई है. इसके अलावा लाखों रुपए के पान मसाला और तंबाकू भी बरामद हुआ है.

पुलिस ने फैक्ट्री के अलावा 4 गोदामों पर भी छापेमारी की है. एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि करीब 40 लाख रुपए से अधिक का नकली सामान बरामद हुआ है. इसमें राहुल गुप्ता नाम के शख्स को मौके से गिरफ्तार किया गया है जबकि शाहजहांपुर निवासी मास्टरमाइंड अली हसन अभी भी फरार है.

बताया जा रहा है कि करीब ढाई साल से यह अवैध फैक्ट्री चल रही थी. स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिस के ही संरक्षण में लंबे समय से यह अवैध फैक्ट्री धड़ल्ले से चल रही थी. इसकी कई बार शिकायत हुई लेकिन कार्रवाई नहीं हुई. अब पुलिस ने बारादरी थाने में राहुल गुप्ता और शाहजहांपुर निवासी मुख्य आरोपी अली हसन के खिलाफ धोखाधड़ी व कॉपीराइट एक्ट सहित कई गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है.

जब पुलिस ने फैक्ट्री में छापेमारी की तो वहां से नंबर 41 व 27, स्पेशल मयूर घोड़ा, पताका 502, जेठा भाई छोटा भाई, रूपा शेर, मास्टर बीड़ी, राम श्याम बीड़ी, पत्ता बुलबुल और रसिया ब्रांड की बीड़ी बरामद हुई है. वहीं गगन व कमला पसंद पान मसाला भी बड़ी तादाद में बरामद किया गया है. साथ ही झुमका ब्रांड की तंबाकू भी बड़ी संख्या में बरामद की गई है. बड़ी संख्या में तंबाकू में मिलाए जाने वाला चूना व पैकिंग के लिए ब्रांड स्टीकर भी बरामद हुए हैं. फैक्ट्री में बीड़ी, पान मसाला, तंबाकू बनाने की 4 मशीनें भी बरामद हुई है. पूछताछ में राहुल गुप्ता ने पुलिस को बताया कि इस नकली माल को ब्रांडेड पैकेट में पैक कर के स्टीकर लगाकर बदायूं, शाहजहांपुर, तिलहर, उत्तराखण्ड के बनबसा, हल्द्वानी समेत अन्य जिलों में रोडवेज बस के माध्यम से सप्लाई किया जाता था.

Bareilly News: बन्द मकान में मां-बेटी का अर्धनग्न शव मिलने से हड़कंप

UP: बरेली में मां-बेटी का बंद मकान में शव मिलने से हड़कंप मचा है.

Bareilly News: एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि पुलिस को सूचना मिली कि एक मकान में महिला और उसकी बेटी का शव मिला है. फिलहाल स्पष्ट स्थिति जानने के लिए शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

SHARE THIS:

बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली (Bareilly) के फरीदुपर थाना क्षेत्र के परा मोहल्ले में एक बन्द मकान में मां-बेटी का अर्धनग्न शव (Dead Body) संदिग्ध हालात में मिलने से हड़कंप मच गया. मौके पर पहुंची फरीदपुर पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है. पुलिस ने शक के आधार पर महिला के पति को हिरासत में लिया है.

दरअसल, फरीदपुर के मोहल्ला पुरा निवासी मुकेश शर्मा निजी कंपनी में प्लांट इंचार्ज है. आज शाम मुकेश ड्यूटी से जब वापस घर पहुंचे तो देखा कि उनकी पत्नी और बेटी का शव घर में पड़ा था. मुकेश की 18 वर्षीय बेटी अर्द्धनग्न अवस्था में थी, जिसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने देखा कि दोनों शवों के मुंह से झाग निकल रहा था.

महिला पुलिस कर्मियों के जरिए मुकेश की बेटी को कपड़े पहनवाया  और दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. जैसे ही घटना की जानकारी पड़ोसियों को हुई तो पड़ोस के रहने वाले भी घटना के बारे में सुनकर हैरान रह गए. चर्चा है कि मुकेश और उसकी पत्नी कमलेश में अक्सर विवाद रहता था. हर दूसरे दिन दोनों में कहासुनी होती थी.

लोगों का कयास है कि हो सकता है इसी कारण से उसने अपनी बेटी के साथ जहरीला पदार्थ खाकर सुसाइड कर लिया हो. हालांकि पुलिस हत्या और आत्महत्या दोनों पहलुओं पर जांच कर रही है. फिलहाल पुलिस ने मुकेश को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है. अभी पुलिस किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है.

उधर घटना के बाद एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि पुलिस को सूचना मिली कि एक मकान में महिला और उसकी बेटी का शव मिला है. मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा कि पारिवारिक झगड़ों के कारण मां बेटी ने जहरीला पदार्थ खा लिया है, जिससे उनकी मौत हुई है. फिलहाल स्पष्ट स्थिति जानने के लिए शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

Bareilly News: खंगाली जा रही दागी पुलिसकर्मियों की कुंडली, क्राइम ब्रांच और एसओजी में नहीं होगी तैनाती

बरेली रेंज के आईजी रमित शर्मा ने शुरू किया दागी पुलिसकर्मियों की छंटनी का काम

Bareilly Police: न्यूज़ 18 से बातचीत करते हुए आईजी रमित शर्मा ने बताया कि जीरो टॉलरेंस सरकार की प्राथमिकता है. इसीलिए हम लोग पहले फेज में क्राइम ब्रांच और एसओजी की टीम में ईमानदार और साफ-सुथरी छवि के लोगों को तैनाती देंने पर जोर दे रहे हैं.

SHARE THIS:

बरेली. पुलिस (Police) की छवि को बदलने के लिए बरेली के आईजी रमित शर्मा (IG Ramit Sharma) के आदेश पर एसओजी तथा क्राइम ब्रांच में तैनात पुलिसकर्मियों की कुंडली खंगाली जा रही है. बरेली परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक रमित शर्मा ने बरेली , बदायूं, शाहजहांपुर, और पीलीभीत के पुलिस कप्तानों को निर्देश दिये हैं कि एसओजी तथा क्राइम ब्रांच में तैनात पुलिसकर्मियों के बारे में ये पता लगाया जाये कि कहीं कोई दागी चेहरा तो शामिल नहीं है. इन सभी पुलिसकर्मियों के व्यक्तिगत सत्यापन कराए, अगर कोई पुलिसकर्मी पर कोई आरोप लगा है तो उसकी जांच रिपोर्ट के आधार के बाद ही उसकी नवीन तैनाती दी जाए.

दरअसल, सीएम योगी आदित्यनाथ और डीजी मुकुल गोयल पुलिस में फैले भ्रष्टाचार को खत्म करने पर काम कर रहे है. उसी तर्ज पर बरेली रेंज में आईजी रमित शर्मा ने भी जीरो टॉलरेंस की नीति पर खासा जोर देते हुए मण्डल के सभी पुलिस कप्तानों से क्राइम ब्रांच और एसओजी में तैनात पुलिस कर्मियों का व्यक्तिगत सत्यापन कराएं और ये पता लगायें कि इनके खिलाफ दूसरे जिलों में कोई एफआईआर तो दर्ज नहीं है. किसी पुलिसकर्मी की भ्रष्टाचार की कोई जांच तो नहीं चल रही है. ऐसे पुलिसकर्मी जो बाहर से जनपदों में आए हैं और उनको क्राइम ब्रांच और एसओजी में तैनात किया गया है, क्या उन पुलिसकर्मियों का प्रशासनिक आधार पर तो ट्रांसफर नहीं किया गया है. अगर किया गया है तो ऐसे लोग भी चिन्हित किया जाए.

अब तक 15 पुलिसकर्मियों की छुट्टी
मंडल के चारों जिलों में तैनाती अवधि का ब्यौरा भी पुलिस महानिरीक्षक ने तलब किया है. साथ ही कहा गया है कि भ्रष्टाचार करने वाले पुलिस वालों को जरूर चिन्हित किया जाये. हाल ही में परिक्षेत्रीय कार्यालय के अंगद पांव हटाये गये थे. आईपीएस रमित शर्मा ने 25 साल से अपने कार्यालय में तैनात अंगद पांव समेत 15 अन्य पुलिसकर्मियों की छुट्टी कर दी है. इन सभी पुलिसकर्मियों को मूल तैनाती जनपद रवाना कर दिया गया है. आईजी रेंज बरेली रमित शर्मा के इस नये फरमान के बाद बदायूं, पीलीभीत, बरेली, शाहजहांपुर जनपदों में तैनात वर्दी वालों में हड़कंप मचा है. उस समय उन सभी जिलों की पुलिस विभाग में सनसनी फैली गयी है. कब और किसपर गाज गिरेगी इससे सब चिंतित हैं.

ईमानदार पुलिसकर्मियों की होगी तैनाती
न्यूज़ 18 से बातचीत करते हुए आईजी रमित शर्मा ने बताया कि जीरो टॉलरेंस सरकार की प्राथमिकता है.  इसीलिए हम लोग पहले फेज में क्राइम ब्रांच और एसओजी की टीम में ईमानदार और साफ-सुथरी छवि के लोगों को तैनाती देंने पर जोर दे रहे हैं, ताकि अपराध करने वाला अपराधी जल्द गिरफ्तार हो सके और पुलिस टीम सख्ती से उनके खिलाफ कार्रवाई कर सके.  ऐसे में पुलिस ईमानदारी से काम करें इसके लिए ईमानदार और मेहनती पुलिस कर्मियों को क्राइम ब्रांच और एसओजी में जगह दी जाएगी.

UP Army Rally 2021: यूपी के 12 जिलों में होगी सेना भर्ती रैली, जल्द करें आवेदन

UP Army Rally 2021: यूपी के 12 जिलों में सेना भर्ती रैली के लिए अभ्यर्थी 21 अगस्त कर आवेदन कर सकते हैं.

UP Army Rally 2021: भारतीय सेना की ओर से यूपी के 12 जिलों के लिए भर्ती रैली का शेड्यूल जारी किया गया है. रैली में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट के जरिए 21 अगस्त 2021 तक आवेदन कर सकते हैं.

SHARE THIS:

UP Army Rally 2021. यूपी के 12 जिलों में सेना भर्ती रैली होने वाली है. इन जिलों में भर्ती रैली के लिए आवेदन की प्रक्रिया 8 जुलाई 2021 से जारी है. आवेदन की अंतिम तिथि में 11 दिन का समय शेष बचा है. ऐसे में जिन अभ्यर्थियों ने अभी तक भर्ती रैली के लिए आवेदन नहीं किया है. वह अभ्यर्थी भारतीय सेना की आधिकारिक वेबसाइट www.joinindianarmy.nic.in के जरिए आवेदन कर सकते हैं. इस संबंध में इंडियन आर्मी ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर भर्ती रैली का शेड्यूल जारी किया है.

सेना की ओर से प्रस्तावित रैली की तारीख 6 से 30 सितंबर 2021 तक है. 21 माह बाद सेना में भर्ती फिर शुरू होगी. इसके पहले नवंबर-2019 में छावनी के रणबांकुरे मैदान में सेना भर्ती हुई थी. कोरोना महामारी के कारण साल 2020 में प्रक्रिया रोक दी गई थी. रजिस्ट्रेशन भी नहीं हो सका था. अप्रैल 2021 में सेना भर्ती की तैयारी थी, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर ने फिर इस पर ब्रेक लगा दिया था.

UP Army Rally 2021: इन जिलों के लिए होगी भर्तियां
सेना भर्ती कार्यालय वाराणसी के निदेशक कर्नल सिद्धार्थ बसु ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पूर्वांचल के 12 जनपदों के युवाओं के लिए यह अवसर है. वाराणसी, आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर, मिर्जापुर, सोनभद्र ,देवरिया, चंदौली, गोरखपुर, बलिया, भदोही शामिल है.

UPArmy Rally 2021: इन पदों पर होगी भर्तियां
इस भर्ती रैली के जरिए सिपाही नर्सिंग असिस्टेंट, सिपाही क्लर्क, सिपाही ट्रेडमैन, सिपाही सामान्य ड्यूटी, सिपाही टेक्निकल और सिपाही ट्रेडमैन के पदो पर भर्तियां की जाएगी. भर्ती रैली से संबंधित अधिक जानकारी के लिए अभ्यर्थी जारी नोटिफिकेशन को देख सकते हैं.

UP Army Rally 2021: शैक्षणिक योग्यता
सोल्जर ट्रेडमैन के लिए अभ्यर्थी का किसी भी बोर्ड से 8वीं पास होना अनिवार्य है. वहीं सिपाही सामान्य ड्यूटी पद के लिए 10वीं पास अधिकतम शैक्षणिक योग्यता निर्धारित की गई है. सिपाही टेक्निकल पद के लिए अभ्यर्थी को साइंस स्ट्रीम में 12वीं पास होना चाहिए. सिपाही नर्सिंग असिस्टेंट पद के लिए अभ्यर्थियों को भौतिक, रसायन, बायो या बॉटनी जूलॉजी से 12वीं पास होना चाहिए.

यह भी पढ़ें –
Sarkari Naukri 2021: मनरेगा में 1278 पदों पर भर्ती, मैनेजर से लेकर हैं कंप्यूटर ऑपरेटर तक की पोस्ट
BSF Recruitment 2021: बीएसएफ में स्पोर्ट्स कोटे के तहत जीडी कांस्टेबल की भर्तियां, जानें डिटेल

UP Army Rally 2021: यह है भर्ती रैली का शेड्यूल
आवेदन शुरू होने की तिथि – 8 जुलाई 2021
आवेदन की अंतिम तिथि – 21 अगस्त 2021
भर्ती रैली की प्रस्तावित तिथि – 6 से 30 सितंबर 2022
आधिकारिक वेबसाइट – www.joinindianarmy.nic.in

यहां देखें नोटिफिकेशन

Bareilly News: हथियारबंद बदमाशों ने कारोबारी के यहां डाली डकैती, 5 लाख कैश और जेवरात लेकर हुए फरार

Bareilly News: नकाबपोश बदमाशों ने कारोबारी यहां डाली डकैती (File photo)

एसपी ग्रामीण (SP Rural) राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि धनेटा फाटक के पास कबाड़ का काम करने वाले व्यापारी के घर मे 7-8 बदमाश रात में आ गए थे और वो कुछ रुपये लेकर चले गए.

SHARE THIS:

बरेली. यूपी के बरेली (Bareilly) जिले में हथियारबंद बदमाशों ने रविवार देर रात एक कारोबारी (Trader) के घर डकैती (Robbery) की वारदात को अंजाम दिया और फरार हो गए. बदमाशों ने कबाड़ी कारोबारी को तमंचे की दम पर पहले बंधक बनाया फिर उसके साथ जमकर मारपीट की. जिसके बाद बदमाश कारोबारी के घर रखी 5 लाख रुपए कैश सहित सोने- चांदी के जेवरात लेकर फरार हो गए. घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले में अपनी तफ्तीश शुरू कर दी है. डॉग स्क्वायड के साथ मौके पर फील्ड यूनिट की टीम को भी भेजा गया है.

मामला फतेहगंज पश्चिमी क्षेत्र के धनेटा फाटक की है. जहां आधा दर्जन हथियारबंद बदमाशों ने एक व्यापारी को बंधक बनाकर लाखों रुपये लूटकर ले गए. कबाड़ी का काम करने वाले व्यापारी गिरीश का कहना है कि उसके घर में कुछ बदमाश घुस आए और उसके हाथ पैर बांधकर घर में रखे आभूषण और कैश लेकर चले गए.

UP: योगी के मंत्री ने अखिलेश से पूछा- ‘मुल्ला’ मुलायम कहलाने पर नहीं थी कोई नाराजगी?

इस मामले में एसपी ग्रामीण राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि धनेटा फाटक के पास कबाड़ का काम करने वाले व्यापारी के घर मे 7-8 बदमाश रात में आ गए थे और वो कुछ रुपये लेकर चले गए. अभी तक तहरीर नहीं मिली है. हालांकि पुलिस के सीनियर अफसर घटना को संदिग्ध मान रहे हैं. उनका कहना है कि पीड़ित कारोबारी पड़ोसी पर शक जाहिर कर रहे हैं जब तक तहरीर नहीं आ पाएगी तब तक कुछ कहना मुश्किल है.

बरेली: शौहर ने विदेश से फोन कर बीवी को दिया तीन तलाक, पीड़िता ने न्याय की लगाई गुहार

पीड़िता का आरोप है कि सऊदी अरब में रहने वाले उसके शौहर ने वहां एक अन्य महिला से शादी कर ली है

Uttar Pradesh News: शौहर के हाथों धोखा खाई शबाना न्याय की खातिर बीते तीन अगस्त से लगातार सीबीगंज थाने से लेकर एसएसपी और एडीजी के यहां चक्कर लगा रही है. उसका कहना है कि एडीजी अविनाश चंद्र के एफआईआर के आदेश के बावजूद सीबीगंज थाने के इंस्पेक्टर कृष्णवीर सिंह केस दर्ज नहीं कर रहे हैं

SHARE THIS:

बरेली. सरकार के तमाम प्रयासों और कड़े कानून बनने के बावजूद तीन तलाके के मामले रूक नहीं रहे हैं. ताजा मामला उत्तर प्रदेश के बरेली (Bareilly) का है जहां एक महिला को विदेश में रहने वाले उसके शौहर ने फोन पर तीन तलाक (Triple Talaq) दे दिया. महज पांच सेकेंड के इस वॉट्सएप ऑडियो क्लिप (Audio Clip) ने महिला के शादीशुदा जीवन में भूचाल ला दिया. पीड़िता न्याय पाने के लिए अपने तीन बच्चों को लेकर पुलिस के लगातार चक्कर काट रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक शबाना खान की दस साल पहले सीबीगंज थाना क्षेत्र के गोविंदापुर के अब्दुल तस्लीम खान के साथ शादी हुई थी. शादी के बाद सबकुछ ठीक चल रहा था. वक्त गुजरने के साथ दोनों के तीन बच्चे हुए, दो लड़के और एक लड़की. लेकिन चार साल पहले काम की तलाश में अब्दुल सऊदी अरब चला गया. आरोप है कि उसने वहां पर दूसरी शादी कर ली. शबाना का कहना है कि कुछ समय तक तो उसका पति विदेश से रुपये भेजता रहा. लेकिन बाद में भेजना बंद कर दिया. यही नहीं अब्दुल जब भी शबाना को फोन करता है तो उसे और बच्चों को गालियां देता है. मगर अब उसने शबाना के व्हाट्सएप पर एक ऑडियो भेजा जिसे सुनकर उसके होश उड़ गए.

पांच सेकेंड के इस ऑडियो में अब्दुल ने तीन बार तलाक, तलाक, तलाक बोल कर शबाना से हमेशा के लिए रिश्ता खत्म कर दिया. ऐसा करते हुए उसे अपने बच्चों का भी ख्याल नहीं आया. तीनों बच्चे अपने पिता से नफरत करते हैं और उनसे बात नहीं करना चाहते. इसकी वजह है कि उन्होंने कभी भी उनसे प्यार से नहीं बात की. बल्कि जब भी वो उन्हें फोन करता था, भद्दी-भद्दी और गंदी-गंदी गालियां देता था.

पति के हाथों धोखा खाई शबाना न्याय की खातिर बीते तीन अगस्त से लगातार सीबीगंज थाने से लेकर एसएसपी और एडीजी के यहां चक्कर लगा रही है. उसका कहना है कि एडीजी अविनाश चंद्र के एफआईआर के आदेश के बावजूद सीबीगंज थाने के इंस्पेक्टर कृष्णवीर सिंह केस दर्ज नहीं कर रहे हैं. पीड़िता ने अपने पति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सख्त कार्रवाई की मांग की है.

1993 से भगवान राम को लेकर करोड़ों रुपये चंदा इकट्ठा किया, अब फिर पहुंच रहे घर-घर: सतीश चन्द्र मिश्रा

UP: बरेली में बसपा के प्रबुद्ध सम्मेलन के दौरान राष्ट्रीय महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा.

Bareilly News: बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा ने बरेली में कहा कि पिछले साढ़े 4 सालों में दलितों और ब्राह्मणों पर चुन-चुन कर हमले हो रहे हैं. ब्राह्मणों को तो इतना दहशत में ला दिया है कि न जाने कब उसे गोली मार दी जाए.

SHARE THIS:

बरेली. यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Elections 2022) में को लेकर बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने तैयारी शुरू कर दी है. अयोध्या से शुरू हुआ बसपा का ब्राह्मण सम्मेलन (प्रबुद्ध सम्मेलन) आज बरेली (Bareilly) में हुआ. इस दौरान बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा (Satish Chandra Mishra) ने योगी सरकार पर ब्राह्मणों को चुन-चुन कर मारने का आरोप लगाया. हालांकि राम मंदिर बनवाने के सवाल पर कुछ भी नहीं बोले.

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सतीश चन्द्र मिश्रा से जब मीडिया के लोगों ने पूछा कि आपकी सरकार बनती है तो क्या अयोध्या में राम मंदिर बनवाएंगे? इस सवाल पर संतीश चन्द्र मिश्रा ने चुप्पी साध ली और प्रेस कॉन्फ्रेंस छोड़कर चलते बने. सतीश चन्द्र मिश्रा ने कहा कि वो किसी से चुनाव में गठबंधन नही करेंगे. तीसरे मोर्चे पर कहा कि तीसरा-चौथा मोर्चा बनता रहेगा.

शंखनाद, मंत्रोच्चार और परशुराम के जयकारों का ये नजारा बसपा के मंच से शायद आपने पहले कभी नहीं देखा होगा. ये पहली बार है कि बसपा अब हिंदुत्व के मुद्दे पर चुनाव जीतने का प्रयास कर रही है. बसपा के राष्ट्रीय महासचिव आज बरेली के पीलीभीत रोड स्थित फहाम लॉन में पहुचे, जहां पर उन्होंने प्रबुद्ध विचार संगोष्ठी की. इस दौरान सतीश चंद्र मिश्रा ने योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि उत्तर प्रदेष में आपको हर जगह निराशा ही निराशा नजर आ रही है.

मंच से बोलते संतीश चन्द्र मिश्रा कि हमने अयोध्या में जाकर देखा तो असलियत सामने आ गई. पता चला कोई भी विकास अयोध्या में नहीं हुआ. भाजपा ने कहां सोने की भगवान राम की नगरी बनाई? 250 करोड़ लग गए पर पता नहीं कहां लग गए? हम जब अयोध्या गए तो सवाल खड़े कर दिए कि ये क्यों गए. क्या इन्होंने ही श्रीराम का ठेका ले रखा है?

1993 से लेकर भगवान राम को लेकर कितने लाख करोड़ रुपये चंदा इकट्ठा किया. और अगर इकट्ठे कर लिए थे तो फिर अब हर घर में झोला लेकर चंदा लेने के लिए क्यों भेज दिया? 10 हजार करोड़ रुपये फिर कमा लिया. वहां नींव भी नहीं भरी गई. कल एक साल हो जाएगा. इन्होंने ऐसी जगह पूजन किया जो वर्जित है. ये खुद चाहते हैं कि विघ्न पड़े. ये कोई कानून नहीं लाए. रामलला को वो वोट की वस्तु बनाकर रखना चाहते हैं. इनकी ठेकेदारी खत्म करने का समय आ गया है.

उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े 4 सालों में दलितों और ब्राह्मणों पर चुन-चुन कर हमले हो रहे हैं. ब्राह्मणों को तो इतना दहशत में ला दिया है कि न जाने कब उसे गोली मार दी जाए. सरकार बनते ही 5 ब्राह्मणों को रायबरेली में जलाने का काम किया. उनकी झोपड़ी जला दी गई. उनके मंत्री कहते है कि ऐसे अपराधियों के साथ ऐसा ही होगा.

लखनऊ में एप्पल कंपनी में काम करने वाले को उसका नाम पूछते ही जैसे पता चला वो तिवारी है, उसको मार डाला. कानपुर के बिकरु कांड में 100 ब्राह्मणों का नाम लिया गया. अधिकारियो से कहा गया कि ये अच्छा मौका मिला है, इनको अज्ञात में डाल दो. फिर जिसे चाहो उठा लो. फिर सब जगह से मजबूत ब्राह्मणों की लिस्ट बनाकर मुंबई और कोलकाता से उठवाकर उनको मार दिया गया.

ब्राह्मण महिलाओं को भी नहीं छोड़ा, जो घर में काम कर रही थी, उसके साथ उसके 3 साल और 6 साल के बच्चे को भी जेल में भी डाल दिया. 29 तारीख को शादी होती है खुशी दुबे की और फिर उसे भी जेल में डाल देते हैं. सात दिन तक खुशी दुबे को कहां रखा ये तक नहीं बताया.

वहीं कृषि बिल पर निशाना साधते हुए सतीश चन्द्र मिश्रा ने कहा कि ये कानून किसानों के हक में नहीं है. उद्योगपतियों ने पूरे देश को खरीद लिया. ओएनजीसी, बैंक, हवाई अड्डे, बिजली, एलआईसी सब बेच दिया. जिस चीज के लिए अंग्रेजों को भगाया था, आज वही हालात हो गए. अब किसान बेघर हो जाएगा. जब सबका निजीकरण कर दोगे तो सरकारी नौकरियां खत्म हो जाएंगी. तो नौजवान कहां जायेगा? नौजवान के पास नौकरी नहीं है. आपने 2 करोड़ नौकरी देने की जगह हर साल 2 करोड़ नौकरी लेने का काम किया. आपने लोगों को बेघर कर दिया.

मां की हत्या कर शव के पास रातभर बैठा रहा बेटा, बहन की शिकायत पर आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

UP Crime News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बरेली के सुभाष नगर थाना क्षेत्र के करेली गांव में एक बेटे पर अपनी ही बुजुर्ग मां की हत्या (Murder) करने का आरोप लगा है.

SHARE THIS:

बरेली. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बरेली के सुभाष नगर थाना क्षेत्र के करेली गांव में एक बेटे पर अपनी ही बुजुर्ग मां की हत्या (Murder) करने का आरोप लगा है. बताया जा रहा है कि रात में हत्या के बाद आरोपी अपनी मां के शव के पास ही घंटों बैठा रहा. सुबह बहन की शिकायत के बाद आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. दरअसल, सुभाषनगर थाना क्षेत्र के करेली निवासी संजीव फर्नीचर पॉलिस करने का काम करता है. हत्यारोपी संजीव की बहन उर्मिला ने पुलिस को बताया कि उनकी 70 वर्षीय बुजुर्ग मां सुखदेई को कुछ समय पहले पैरालाइसिस का अटैक पड़ा था, तब से उनका आधा शरीर काम नहीं करता था.

उर्मिला के मुताबिक, उसका छोटा भाई राजीव मानसिक रूप से विक्षिप्त है. बीते रविवार की देर शाम संजीव ने राजीव को सब्जी लाने के लिए 200 रुपये दिए थे. इसके बाद वह चला गया. रात में वह 1 बजे के लगभग घर पहुंचा और मां से खाना मांगा. घर में कोई सब्जी न होने के कारण मां ने खाना नहीं बनाया. इस बात को सुनकर संजीव आगबबूला हो गया और उसने अपनी मां का सिर सिलबट्टे से कूचकर हत्या कर दी. हालांकि, संजीव के मानसिक रूप से विक्षिप्त भाई राजीव का यह भी कहना है कि जब वह घर आया तो संजीव ने उसके साथ भी मारपीट की. मां जब राजीव को बचाने का प्रयास किया तो उसने मां की हत्या कर दी.

चाचा को दी हत्या की जानकारी
थोड़ी देर बाद आरोपी संजीव ने पड़ोस में रहने वाले अपने चाचा को मां की हत्या होने की जानकारी दी. मौके पर आकर देखा तो सुखदेई की मौत हो चुकी थी. उसके बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी. वारदात की सूचना पर पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया. आरोपी की बहन उर्मिला की तहरीर पर पुलिस ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर संजीव को गिरफ्तार कर लिया. परिजनों का यह भी कहना है कि पूर्व में भी संजीव शराब पीकर कई बार अपनी मां पर जानलेवा हमला कर चुका था. सुखदेई के देवर ओमप्रकाश का कहना है कि देर रात में आरोपी संजीव घर आकर सब्जी मांग रहा था और बोला की मां बोल नहीं रही है. उसके बाद उसने घर जाकर देखा तो हैरान रह गया. बरेली के एसपी सिटी रविन्द्र कुमार ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई है.

Bareilly News: महिला ने पुलिस से लगाई गुहार, कहा- पति डेढ़ साल के बेटे को पिलाता है सिगरेट

Bareilly: पति डेढ़ साल के बेटे को पिलाता है सिगरेट

महिला की शिकायत के बाद एसएसपी (SSP) रोहित सिंह सजवाण ने प्रेमनगर थाना पुलिस को कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. उनका कहना है कि महिला और उसके बच्चे के साथ ज्यादती बर्दाश्त नहीं होगी.

SHARE THIS:

बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली (Bareilly) जिले में एक अनोखा मामला सामने आया है जहां एक शख्‍स की पत्‍नी ने आरोप लगाया है कि उसका पति उनके डेढ़ साल के मासूम बच्‍चे को सिगरेट और तंबाकू का नशा कराता है. विरोध करने पर वह पत्‍नी को पीटता है. पीड़ित महिला ने इस मामले की शिकायत पुलिस से की है. पुलिस शिकायत दर्ज कर पूरे मामले की जांच कर रही है.

मामला बरेली के प्रेमनगर थाना क्षेत्र के भूड़ मोहल्ले का है. जहां एक पीड़ित महिला शिवानी ने शनिवार को एसएसपी कार्यालय में पहुंचकर अपने पति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई. उसका कहना है कि उनके पति सिगरेट, तम्बाकू और पान-मसाले का सेवन करते हैं. उनका बेटा महज डेढ़ साल का है, लेकिन उनके पति अपने मासूम बेटे को अक्सर सिगरेट पिलाने के लिए उसके मुंह पर रख देते हैं. उसके मुंह में पान-मसाला डालते हैं ताकि वह अभी से नशे का आदी हो जाए. शिवानी के मुताबिक, उसने कई बार अपने पति को बच्चे को सिगरेट पिलाने से रोका तो उन्होंने उसके साथ मारपीट की.

बड़ी खबर: यूपी में मुहर्रम पर जुलूस और तजिया निकालने की इजाजत नहीं, DGP ने जारी किए दिशा-निर्देश

पति अंकुर की इन हरकतों का विरोध करने के बाद अब शिवानी को दहेज के लिए भी प्रताड़ित कर रहा है. शिवानी का आरोप है कि अब पति और ससुरालीजनों ने मिलकर उसके साथ मारपीट की है और अब उसे घर से भी निकाल कर बेघर कर दिया है. वह अपने डेढ़ साल के बच्चे के साथ मायके में रहने को मजबूर हो गयी है.

मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी- एसएसपी
महिला की शिकायत के बाद एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने प्रेमनगर थाना पुलिस को कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. उनका कहना है कि महिला और उसके बच्चे के साथ ज्यादती बर्दाश्त नहीं होगी. मामला पारिवारिक है इसलिए दोनों पक्षों को बुलाकर पहले समझाया जाएगा और फिर मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

बरेली: आला हजरत से जुड़े सलमान मियां की CM योगी से मुलाकात, दरगाह में उभरी कलह

बरेली में आला हजरत दरगाह से जुड़े सलमान मियां के सीएम योगी से मिलने के बाद दरगाह में पारिवारिक कलह शुरू हो गया है.

UP Politics: सीएम योगी से मुलाकात के बाद सलमान मियां और मेहंदी हसन का फोटो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. फोटो वायरल होते ही आला हजरत खानदान के बीच एक बार फिर सार्वजनिक विवाद शुरू हो गया है.

SHARE THIS:

बरेली. यूपी के बरेली की दरगाह आला हजरत से जुड़े सलमान मियां ने कांग्रेस नेता मेहंदी हसन के साथ मिलकर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ से मुलाकात कर राजनीति को नई हवा दी है. सीएम योगी से मुलाकात के बाद सलमान मियां और मेहंदी हसन का फोटो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. सीएम योगी से मुलाकात के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होते ही आला हजरत खानदान के बीच एक बार फिर सार्वजनिक विवाद शुरू हो गया है.

जुमे की नमाज से पहले आला हजरत खानदान के सबसे बड़े बुजुर्ग मौलाना मन्नानी मियां की बताई जा रही ऑडियो वायरल हुई है. कथित तौर पर उस वायरल ऑडियो में मौलाना मन्नानी मियां काजी उल कुजात और उनके दामाद की जमकर मुखालफत कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि आज मेरे भाई ताजुश्शरिया होते तो उन्हें बहुत अफसोस होता. तौकीर मियां ने गलती की तो हमने उनकी भी खिलाफत की थी. जो हक से दूर जाएगा उसको हम हक पर लाने की कोशिश करेंगे. उन्होंने तालीम पर भी सवाल उठाए हैं. आबिद की तरह सलमान को लाल बत्ती दिलाने के लिए यह सब किया जा रहा है. मन्नानी मियां ने कहा कि मैं तेरा चाचा हूं इसलिए नाराज हो रहा हूं.

वायरल ऑडियो में यह भी कहा गया है कि मियां ने कौम को बेच डाला है. ऐसे युवक से मुलाकात की जिसको तुम्हारे वोट की जरूरत नहीं है. सलमान बिना असजद मियां के इजाजत के सीएम योगी से मिले. वायरल ऑडियो में यह बात भी कहीं गई है कि काजी उल हिन्दुस्तान के पद से असजद मियां इस्तीफा दें. जमात रजा मुस्तफा संगठन को भंग करके तमाम दस्तावेज खानदान के लोगों को सौपें.

जबकि जमात रजा-ए-मुस्त्फा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सलमान मियां ने इसे सामान्य मुलाकात बताया है. उन्होंने कहा कि फैजाबाद में एक मदरसा और पैगंबर-ए-इस्लाम की शान में गुस्ताखी करने वाले नरसिंहानंद के मामले को लेकर मुख्यमंत्री से मिलना हुआ है. हमने उनके समक्ष मस्जिद और मदरसों की सुरक्षा, मुस्लिम युवाओं को झूठे मामलों में फंसाए जाने का मामला रखा है.

Load More News

More from Other District