लाइव टीवी

CoronaVirus को लेकर आईवीआरआई का दावा, जानवरों के बच्चों में वायरस का खतरा
Bareilly News in Hindi

HARISH SHARMA | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 4, 2020, 11:20 AM IST
CoronaVirus को लेकर आईवीआरआई का दावा, जानवरों के बच्चों में वायरस का खतरा
CoronaVirus को लेकर आईवीआरआई का दावा (file photo)

आईवीआरआई के निदेशक प्रो. राजकुमार सिंह का कहना है कि फिलहाल उनकी टीम ने जानवरों में फैल रहे कोरोना वायरस पर शोध किया था लेकिन चीन से दुनिया भर के इंसानों में फैल रहे इस वायरस ने शोध को कई और विकल्प दे दिए है.

  • Share this:
बरेली. पूरी दुनिया में चीन की रहस्यमय बीमारी के नाम से चर्चित कोरोना वायरस (CoronaVirus) ने अब तेजी से पैर पसारने शुरू कर दिए हैं. ये बीमारी भारत में भी पहुंच चुकी है. खासतौर पर स्तनधारी जानवरों, गाय, भैस के बच्चों में कोरोना वायरस का खतरा होता है. बरेली (Bareilly) स्थित आईवीआरआई (IVRV) संस्थान ने इस बात की जानकारी दी है. संस्थान के निदेशक प्रो. राजकुमार सिंह का कहना हैं कि कुछ समय पहले ही इसके लक्षण जानवरों में मिले थे. तभी से इस अजीबो-गरीब वायरस पर शोध शुरू कर दिया गया था.

कुछ माह पहले ही जानवरों में मिले लक्षण पर शोध करने पर मालूम चला था कि यह कोरोना वायरस है. जानवरों में यह वायरस प्रदूषित पानी पीने से फैलता है. आमतौर पर इस वायरस के शिकार ऊंट, गाय, भैंस, बिल्ली के बच्चे होते हैं. इसके चलते जानवर दस्त का शिकार होता है और सही समय पर इलाज न मिलने पर उसकी जान चली जाती है. इस वायरस के चलते जान जाने के कई मामले सामने आ चुके हैं. प्रो. राजकुमार के मुताबिक इसकी वैक्सीन तैयार की जा चुकी है.

आईवीआरआई के निदेशक प्रो. राजकुमार सिंह का कहना है कि फिलहाल उनकी टीम ने जानवरों में फैल रहे कोरोना वायरस पर शोध किया था लेकिन चीन से दुनिया भर के इंसानों में फैल रहे इस वायरस ने शोध को कई और विकल्प दे दिए है. अब यह भी पता किया जाएगा कि जो इंसानों में वायरस फैल रहा है क्या वहीं वायरस है जो जानवरों में मिलते हैं या कोई और है.

ये भी पढ़ें:

CAA-NRC प्रोटेस्ट: पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी सहित 8 लोगों पर लखनऊ में FIR दर्ज

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बरेली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 11:20 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर