Home /News /uttar-pradesh /

late mahant narendra giri close man aditya narayan mishra died in road accident in bareilly upns

नरेंद्र गिरि के बेहद करीबी की सड़क हादसे में मौत, महंत ने सुसाइड नोट में लिखा था नाम

 20 सितंबर को महंत नरेंद्र गिरी संदिग्ध हालतमें श्री मठ बाघम्बरी गद्दी के गेस्ट हाउस के कमरे में मृत पाए गए थे. (File photo)

20 सितंबर को महंत नरेंद्र गिरी संदिग्ध हालतमें श्री मठ बाघम्बरी गद्दी के गेस्ट हाउस के कमरे में मृत पाए गए थे. (File photo)

गौरतलब है कि 20 सितंबर को महंत नरेंद्र गिरी संदिग्ध हालतमें श्री मठ बाघम्बरी गद्दी के गेस्ट हाउस के कमरे में मृत पाए गए थे. 25 सितंबर से सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है. बता दें कि मठ में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का यह पहला मामला नहीं है. दो साल पहले नवंबर महीने में भी अखाड़े के एक संत की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. संत का शव उनके कमरे में मिला था. उन्हें गोली लगी थी. उनकी हथेली में पिस्टल फंसी थी और पास में ही खोखे बरामद किये गये थे.

अधिक पढ़ें ...

बरेली. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे दिवंगत महंत नरेंद्र गिरि से जुड़ी बड़ी खबर आ रही है. यूपी के बरेली के पास बुधवार देर रात एक दर्दनाक सड़क हादसा हो गया, जिसमें दिवंगत महंत नरेंद्र गिरी के करीबी रहे आदित्य नारायण मिश्रा की मौत हो गई. महंत नरेंद्र गिरी के सुसाइड नोट में भी आदित्य का नाम सामने आया था. नरेंद्र गिरी के मौत मामले में उनसे भी जांच सीबीआई ने पूछताछ की थी. बताया जा रहा है कि उत्तराखंड में शादी समारोह शामिल होकर लौट रहे थे कि तभी सड़क हादसे में मौत हो गई है. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

महंत नरेंद्र गिरी ने सुसाइड नोट में आदित्य नारायण मिश्रा से पैसे लेने की बात का जिक्र किया था. वे दिवंगत महंत के बेहद करीबियों में शामिल रहे हैं. संगम स्थित बड़े हनुमान मंदिर में कई सालों तक प्रसाद की दुकान भी चलाते थे. जानकारी के मुताबिक, आदित्य नारायण मिश्रा प्रयागराज के नैनी इलाके के रहने वाले थे. महंत नरेंद्र गिरि ने सुसाइड नोट पर यह भी जानकारी लिखा था कि वह बड़े हनुमान मंदिर में लड्डू की दुकान लगते थे. दुकान से मिल रहे पैसों का हिसाब नहीं मिला है. दुकान से लगभग 25 लाख रुपए बकाया की जानकारी लिखी गई थी.

लखीमपुर खीरी में जांबाज स्ट्रीट डॉग की मदद से दबोचा गया AC चोर, ऐसे संभाला मोर्चा

गौरतलब है कि 20 सितंबर को महंत नरेंद्र गिरी संदिग्ध हालतमें श्री मठ बाघम्बरी गद्दी के गेस्ट हाउस के कमरे में मृत पाए गए थे. 25 सितंबर से सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है. बता दें कि मठ में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का यह पहला मामला नहीं है. दो साल पहले नवंबर महीने में भी अखाड़े के एक संत की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. संत का शव उनके कमरे में मिला था. उन्हें गोली लगी थी. उनकी हथेली में पिस्टल फंसी थी और पास में ही खोखे बरामद किये गये थे.

Tags: Allahabad news, Bareilly news, Mahant Narendra Giri Death, Prayagraj Police, Road Accidents, UP Police उत्तर प्रदेश

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर